• Hindi News
  • Business
  • The Share Market May See Fluctuations This Month Ahead Of Elections In America

एसबीआई म्यूचुअल फंड का अनुमान:शेयर बाजार में इस महीने दिख सकता है उतार-चढ़ाव, क्योंकि अमेरिका में होने वाले चुनाव से पहले भारत में विदेशी निवेश की घट सकती है रफ्तार

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एसबीआई म्यूचुअल फंड के सीआईओ नवनीत मुनोत ने एक नया फंड लांच करने के बाद कहा कि विदेशी निवेश के कारण अगस्त में बाजार काफी उछला है, इसलिए भी अब बाजार में कंसॉलिडेशन का समय आ गया है - Dainik Bhaskar
एसबीआई म्यूचुअल फंड के सीआईओ नवनीत मुनोत ने एक नया फंड लांच करने के बाद कहा कि विदेशी निवेश के कारण अगस्त में बाजार काफी उछला है, इसलिए भी अब बाजार में कंसॉलिडेशन का समय आ गया है
  • 23 मार्च के निचले स्तर से अब तक बाजार 40% से ज्यादा का उछल चुका है
  • अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान 3 नवंबर को होने वाला है

शेयर बाजार में इस महीने उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी रह सकती है, क्योंकि अमेरिका में होने वाले चुनाव से पहले भारतीय बाजार में विदेशी निवेश की रफ्तार धीमी हो सकती है। यह बात देश की सबसे बड़ी असेट मैनेजमेंट कंपनी एसबीआई म्यूचुअल फंड ने कही। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान 3 नवंबर को होने वाला है।

एसबीआई म्यूचुअल फंड के चीफ इन्वेस्टमेंट ऑफीसर नवनीत मुनोत ने कहा कि विदेशी संस्थागत निवेश (एफआईआई) के कारण अगस्त में बाजार में काफी उछाल देखा गया। इसलिए भी अब बाजार में कंसॉलिडेशन का समय आ गया है। 31 अगस्त को आए आंकड़े के मुताबिक इस कारोबारी साल की पहली तिमाही में देश की जीडीपी 23.9 फीसदी गिरावट आई है। वहीं, 23 मार्च के निचले स्तर से अब तक शेयर बाजार 40 फीसदी से ज्यादा उछल चुका है।

कंपनी ने एसबीआई मैग्नम चिल्ड्रंस बेनेफिट फंड इन्वेस्टमेंट प्लान लांच किया

कंपनी का एक नया फंड लांच होने के बाद मुनोत ने कहा कि छोटी अवधि में बाजार का पूर्वानुमान लगा पाना कठिन होता है। लेकिन हमें लगता है कि सितंबर में बाजार में उतार-चढ़ाव रहेगा और अमेरिका के आगामी चुनाव के कारण बाजार में गिरावट भी आ सकती है। कंपनी ने सोमवार को एसबीआई मैग्नम चिल्ड्रंस बेनेफिट फंड इन्वेस्टमेंट प्लान लांच किया।

नए फंड में 5 साल का लॉक-इन

बयान के मुताबिक नए फंड में अभी डेट-ओरिएंटेड सेविंग्स प्लान पेश किया गया है। नए एमडी और सीइैओ विनय टोंस ने कहा कि नया फंड एक साल के बच्चे के लिए आईडियल होगा। इसमें 5 साल का लॉक-इन पीरियड होगा।

नया फंड ऑफरिंग मंगलवार को खुलेगा और 22 सितंबर को बंद होगा

नए फंड का कम से कम 65 फीसदी हिस्सा शेयर या शेयर आधारित इंस्ट्रूमेंट जैसे कि ईटीएफ में लगेगा। यह 100 फीसदी तक भी जा सकता है। डेट ईटीएफ और मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट में अधिकतम 35 फीसदी अलोकेशन होगा। फंड का 10 फीसदी तक रीट और इन्विट्स में और 20 फीसदी तक गोल्ड ईटीएफ में निवेश किया जा सकेगा। नया फंड ऑफरिंग मंगलवार को खुलेगा और यह 22 सितंबर को बंद होगा।

अगस्त में शेयर और डेट बाजार में गत 41 महीने का सबसे बड़ा एफपीआई निवेश हुआ

खबरें और भी हैं...