पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • There Are Just Four Black CEOs Of Fortune 500 Companies. Here's How Three Are Addressing The Death Of George Floyd

आखिर कब तक नस्लीय भेदभाव:अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद सहमे अफ्रीकी अमेरिकी मूल के सीईओ, कहा- 'मैं हो सकता हूं जार्ज', अश्वेत सीईओ की कमान में अमेरिका की कई बड़ी कंपनियां

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका में लगातार धरने-प्रदर्शन हो रहे हैं, यह प्रदर्शन अब हिंसक हो गया है
  • अफ्रीकी-अमेरिकी समुदाय को मिला गूगल, फेसबुक और माइक्रोसाफ्ट का समर्थन
  • अमेरिका की 500 सबसे बड़ी कंपनियों में अश्वेत सीईओ है

एक तरफ पूरी दुनिया में कोरोनावायरस का कहर है तो वहीं अमेरिका कोरोना से लड़ने के साथ-साथ ही हिंसक प्रदर्शनों के दौर से जूझ रहा है। एक अश्वेत (ब्लैक) नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका में लगातार धरने-प्रदर्शन हो रहे हैं, यह प्रदर्शन अब हिंसक हो गया है। कई शहरों में कर्फ्यू जैसे हालात हैं। बता दें कि अमेरिका के कई इलाकों में अफ्रीकी अमेरिकी लोगों को अपने घुंघराले बालों और रंग के चलते भेदभाव का सामना करना पड़ता रहा है। भेदभाव का यह डर अब अफ्रीकी अमेरिकी सीईओ पर भी साफ झलक रहा है जिनका अमेरिका में तूती बोलती है। अमेरिका की 500 सबसे बड़ी कंपनियों में चार सीईओ अश्वेत हैं। 

ये चार सीईओ हैं- लोवेस (एलओडब्ल्यू) की मार्विन एलिसन, मर्क के केनेथ फ्रैजियर (एमआरके), टीआईएए के रोजर फर्ग्यूसन, और टेपेस्ट्री (टीपीआर) के जीड जेइटलिन। इन चारों सीईओ ने नस्लीय असमानता पर अपनी राय रखी है और रोष प्रकट किया है। 

लग्जरी गुड्स ब्रांड टेपेस्ट्री के सीईओ Jide Zeitlin जो कि Kate Spade, कोच और स्टुअर्ट वीट्ज़मैन के मालिक हैं। उन्होंने घटना के बाद लिंक्डइन पर अपने कर्मचारियों के लिए एक मार्मिक पोस्ट लिखा। पोस्ट में वे लिखते हैं- 'मैं घटना से इस हद तक स्तब्ध हूं कि कई बार लिखने बैठा, लेकिन लिख नहीं पाया। मेरी आंखें आसूंओं से भर जाती हैं। यह पर्सनल है।' वे लिखते हैं, 'न्यूयॉर्क से लेकर सैन फ्रांसिस्को तक स्टोर्स डैमेज हो गए हैं। फिर भी यह विनाश हमारे लिए प्राथमिकता नहीं है, अगर प्राथमिकता है तो वो है मुद्दा। हम अपनी खिड़किया, हैंडबैग सबकुछ बदल सकते हैं लेकिन हम जॉर्ज फ्लॉयड, अहमद एर्बी, ब्रायो टेलर, एरिक गार्नर, ट्रेवॉन मार्टिन, एम्मेट टिल जैसे बहुत से अन्य लोगों को वापस नहीं ला सकते। इनके लिए ब्लैक लाइफ मायने रखती हैं।' वे अपने पोस्ट में कहते हैं, 'हम सरकार के साथ सहयोग करना चाहते हैं, लेकिन जार्ज की घटना ने हमें झकझोर दिया है और यह साफ कर दिया है कि हम अब और इंतजार नहीं कर सकते।'

Jide Zeitlin का जन्म नाइजीरिया में एक अमेरिकी परिवार में हुआ था। Tapestry में आने से पहले उन्होंने गोल्डमैन सैक्स (जीएस) में 20 साल बिताए हैं।

लोव के सीईओ मार्विन एलिसन ने शनिवार को अपनी टीम को एक लेटर पोस्ट किया है। लेटर में एलिसन ने लिखा है, 'मैं अलग साउथ में पला-बढ़ा हूं और अपने माता-पिता से जिम क्रो साउथ में रहने की कहानियों को सुन कर बड़ा हुआ हूं। ऐसे में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत मुझे डराती है। हताश करती हैं। मैं व्यक्तिगत तौर पर उनके दर्द को महसूस करके परेशान हो रहा हूं।'  एलिसन ने नस्लवाद और सुरक्षा के माहौल को बढ़ावा देने की अपनी प्रतिबद्धता के लिए कंपनी की जीरो टॉलरेंस को दोहराया। लेटर में कहा गया है कि कंपनी भेदभाव से ऊपर उठकर सभी कर्मचारी और समुदायों को बेहतर सपोर्ट करती हैं। कंपनी के लिए सब बराबर है। एलिसन ने कहा, 'लोवेस में हम लोगों को अपने घरों को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारी दीवारें और हमारे पड़ोस, समुदायों और देश से ऊपर हैं।'

सोमवार को सीएनबीसी से बातचीत करते हुए मर्क के सीईओ केन फ्रैजियर ने बताया कि समाज में जिस प्रकार नस्लीय भेदभाव बढ़ रहा है उसे देखकर लगता है अगला जॉर्ज फ्लॉयड मैं हो सकता हूं। फ्रेज़ियर ने कहा, 'अफ्रीकी अमेरिकी समुदाय उस घटना की वीडियो में जो कुछ भी देखता है, वह बहुत डराती है। यह वीडियो यह बता रही है कि अफ्रीकी अमेरिकी को इंसान से कम समझा जाता है।' 

फ्रैजियर 1960 के दशक में फिलाडेल्फिया के शहर में बड़े हुए हैं। उस वक्त मार्टिन लूथर किंग, जूनियर विरोध प्रदर्शनों का नेतृत्व कर रहे थे। फ्रैजियर ने कहा कि रंगभेदभाव के कारण उन्होंने बचपन से काफी कुछ झेला है। कठोर शिक्षा प्राप्त किया है। वे अपने शहर में चुने गए उन बच्चों में से थे जिन्हें 90 मिनट तक श्वेत स्कूली छात्रों के बीच रखा गया था। हालांकि वे भाग्यशाली थे कि उन्हें अलग जीवन मिला। लेकिन रंगभेदभाव के चलते उन्हें काफी विकल्प भी खोना पड़ा है। 

  • माइक्रोसॉफ्ट के भारतीय मूल के सीईओ सत्य नडेला ने भी अफ्रीकी-अमेरिकी समुदाय को अपना समर्थन दिया है। नडेला ने कहा कि घृणा और नस्ली भेदभाव के लिए देश में कोई जगह नहीं होनी चाहिए और इसके लिए समाज को बहुत कुछ करने की जरूरत है। उन्होंने ट्वीट किया, 'समाज में में घृणा और नस्ली भेदभाव के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए। सहानुभूति रखना और एक साझा समझ बस शुरुआत है लेकिन हमको बहुत कुछ करने की जरूरत है। मैं अश्वेत और अफ्रीकी अमेरिकी समाज के साथ खड़ा हूं। हम अपनी कंपनी और समुदाय में इस पर काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।'
  • फेसबुक सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने नस्ली न्याय के लिए 10 मिलियन डॉलर की पेशकश की है। उन्होंने कहा कि 'हम अश्वेत समुदाय के साथ हैं।' गूगल के सुंदर पिचाई ने भी अफ्रीकी अमेरिकियों का समर्थन किया है। उन्होंने ट्वीट किया, 'आज हमने अमेरिकी गूगल और यूट्यूब होमपेज पर नस्ली समानता और अश्वेत समुदाय के प्रति समर्थन जाहिर किया।'
  • गूगल के भारतीय मूल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सुंदर पिचई ने कहा है कि उनकी कंपनी नस्लीय समानता का समर्थन करती है। उन्होंने कहा है कि गूगल उन सभी लोगों के साथ खड़ी है, जो इसके लिए प्रयासरत हैं। सुंदर पिचई ने रविवार को कहा कि कंपनी ने काले लोगों और जार्ज फ्लायड की याद में एकजुटता दिखाते हुए अमेरिका में गूगल और यू ट्यूब के होम पेज पर नस्लीय समानता के लिए अपने समर्थन को साझा करने का फैसला किया है।
  • नेटफिलिक्स, इंटरनेशनल बिजनेस मशीन (आईबीएम) और नाइक भी इस आंदोलन का समर्थन कर चुकी हैं। इन कंपनियों का ने जॉर्ज फ्लॉयड की मौत की घटना को अफ्रीकन-अमेरिकी के खिलाफ भेदभाव वाली घटना बताया है।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 46 साल के अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड अफ्रीकी अमेरिकी समुदाय के थे। उत्तरी कैरोलीना में पैदा हुआ जॉर्ज फ्लॉयड ह्यूस्टन में रहता था, लेकिन काम के सिलसिले में वह मिनियापोलिस आ गया। जॉर्ज मिनियापोलिस के एक रेस्त्रां में सिक्योरिटी गार्ड का काम करता था और उसी रेस्त्रां के मालिक के घर पर किराया देकर पांच साल से रहता था। वह छह साल की बेटी के पिता थे, जो ह्यूस्टन में अपनी मां रॉक्सी वाशिंगटन के साथ रहती है। फ्लॉयड एक प्रतिभाशाली एथलीट थे, जो विशेष रूप से स्कूल में फुटबॉल और बास्केटबॉल में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते थे। फ्लॉयड के पूर्व सहपाठियों में से एक, डोननेल कूपर ने कहा कि उनका शांत व्यक्तित्व था।

अश्वेत फ्लॉयड को एक दुकान में नकली बिल का इस्तेमाल करने के संदेह में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें पुलिस अधिकारी को घुटने से आठ मिनट तक जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन दबाते हुए देखा गया। वीडियो में जॉर्ज कहते हैं- मैं सांस नहीं ले सकता (आई कांट ब्रीद)। बाद में फ्लॉयड की चोटों के कारण मौत हो गई। फ्लॉयड की मौत की खबर जंगल की आग की तरह फैल गई और मिनीपोलिस में इस सप्ताह प्रदर्शन शुरू हो गए। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें