• Hindi News
  • Business
  • There May Be A Big Cut In The Import Duty Of Electric Vehicles, The Government Is Considering

देखा जाएगा घरेलू EV इंडस्ट्री का फायदा:इलेक्ट्रिक गाड़ियों को विदेश से मंगाना हो सकता है सस्ता, सरकार कर रही आयात शुल्क में बड़ी कटौती पर विचार

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर इंपोर्ट ड्यूटी कम कर देती है, तो मुमकिन है कि आप टेस्ला जैसी शानदार विदेशी इलेक्ट्रिक कारों को जल्द आसपास फर्राटा भरता देख पाएं। सरकार 40 हजार डॉलर से कम की इलेक्ट्रिक गाड़ियों को विदेश से मंगाने पर लगने वाला टैक्स 60% से घटाकर 40% तक लाने पर विचार कर रही है।

महंगी कारों का आयात शुल्क 100% से 60% किया जा सकता है

सरकारी अधिकारियों ने रॉयटर्स को बताया कि इसी तरह, जिन गाड़ियों की कीमत (लागत, बीमा और भाड़ा सहित) 40 हजार डॉलर से ज्यादा होगी, उन पर लगने वाला आयात शुल्क 100% से घटाकर 60% किया जा सकता है। अभी फैसला नहीं हुआ है, विचार चल रहा है। कुछ दिन पहले ही टेस्ला ने इंपोर्ट ड्यूटी में कटौती करने की अपील की थी।

देश में लग्जरी इलेक्ट्रिक गाड़ियों की बिक्री नाममात्र की होती है

भारत दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा कार बाजार है। हर साल यहां लगभग 30 लाख गाड़ियां बिकती हैं। इनमें से ज्यादातर 20 हजार डॉलर से कम की होती है। इंडस्ट्री के अनुमानों के मुताबिक, देश में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की सेल्स कुल गाड़ियों की बिक्री के मुकाबले कुछ भी नहीं है। यहां लग्जरी इलेक्ट्रिक गाड़ियां तो नाममात्र की बिकती हैं।

आयात शुल्क 40% करने से इलेक्ट्रिक गाड़ियां किफायती हो जाएंगी

जहां तक टेस्ला की बात है, तो उसने हाल ही में कहा था कि इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर आयात शुल्क 40% करने से उनकी गाड़ियां किफायती हो जाएंगी और उनकी बिक्री में इजाफा होगा। लेकिन, घरेलू ऑटोमोबाइल कंपनियों के बीच से यह शोर उठने लगा कि क्या सरकार का ऐसा करना गाड़ियों के घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने की सोच के विपरीत तो नहीं होगा।

वित्त और वाणिज्य मंत्रालय के अलावा नीति आयोग कर रहा प्रस्ताव पर विचार

एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि सिर्फ इलेक्ट्रिक गाड़ियों की इंपोर्ट ड्यूटी घटाने पर विचार हो रहा है। इसलिए पेट्रोल और डीजल वाली गाड़ियां बनानेवाली स्थानीय ऑटोमोबाइल कंपनियों को फिक्रमंद होने की जरूरत नहीं। उन्होंने कहा कि वित्त और वाणिज्य मंत्रालय के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाला थिंक टैंक नीति आयोग प्रस्ताव पर विचार कर रहा है।

घरेलू कंपनियों को फायदा मिलने पर सरकार घटा सकती है इंपोर्ट ड्यूटी

एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि अगर टेस्ला जैसी कंपनियों की गाड़ियों के देश में आने से घरेलू कंपनियों को कुछ फायदा मिलता है, जैसे कि उनको इलेक्ट्रिक गाड़ियों का घरेलू उत्पादन शुरू करने या उसके लिए समय सीमा तय करने में मदद मिलती है, तो सरकार इंपोर्ट ड्यूटी में कटौती कर सकती है।

इंपोर्टेड गाड़ियों से कारोबार चला, तो भारत में फैक्टरी लगा सकती है टेस्ला

टेस्ला के CEO एलन मस्क ने पिछले महीने एक ट्वीट में कहा था कि अगर इंपोर्टेड गाड़ियों से उनका कारोबार चल निकला, तो कंपनी भारत में फैक्टरी लगाने के बारे में सोच सकती है। उन्होंने कहा था कि फिलहाल भारत में इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर लगने वाली इंपोर्ट ड्यूटी बहुत ज्यादा है।

खबरें और भी हैं...