• Hindi News
  • Business
  • There Was A Boom In The Residential Property Market, Faster Than The Metro In Tier 2 Cities

रंग में रियल्टी:रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी मार्केट में दिखा उछाल, मेट्रो की तुलना में टियर-2 शहरों में ज्यादा तेजी

नई दिल्ली19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रियल एस्टेट सेक्टर में लंबे समय बाद रुझान पलटा है। खासकर टियर-2 शहरों में बीते एक साल में प्लॉट और मकान की कीमतों में 10% से लेकर 25% तक का उछाल देखने को मिला है। जानकारों का कहना है कि आगामी 6 महीनों में दाम 15% तक और बढ़ने की संभावना है। खास बात ये है कि टियर-2 शहरों ने तेजी के मामले में मेट्रो शहरों को पीछे छोड़ दिया है।

प्रॉपर्टी 2020 के मुकाबले 10-25% तक महंगी हुई
टियर-2 शहरों में रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी 2020 के मुकाबले 10-25% तक महंगी हुई है। मध्य प्रदेश की वाणिज्यिक राजधानी इंदौर में सबसे अधिक 20 से 25% तक की बढ़त दर्ज की गई है। इसके अलावा, चंडीगढ़, रायपुर, जयपुर और बेंगलुरू में भी प्लॉट की कीमतों में 10% से अधिक का इजाफा दर्ज हुआ है।

3 से 6 महीनों में प्रॉपर्टी के दाम 5-15% तक बढ़ सकते हैं
जानकारों का कहना है कि दाम बढ़ने का सिलसिला आगे भी जारी रह सकता है। नेशनल रियल एस्टेट डेवलपमेंट काउंसिल (नारेडको) के वाइस चेयरमैन डॉ. निरंजन हीरानंदानी ने कहा, ‘देश भर में रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी की खरीद बढ़ रही है। मांग बढ़ने के बीच कंस्ट्रक्शन कॉस्ट में भी इजाफा हो रहा है। इसकी वजह से अगले 3 से 6 महीनों में प्रॉपर्टी के दाम 5-15% तक बढ़ सकते हैं। एनारॉक प्रॉपर्टी कंसल्टेंट्स के डायरेक्टर एवं रिसर्च हेड प्रशांत ठाकुर के मुताबिक, देश के बड़े शहरों में पिछली तिमाही में ही प्रॉपर्टी के दाम 1-3% तक बढ़े हैं। अब अधिक डिमांड और कम सप्लाई वाली प्रॉपर्टी के दाम और बढ़ने की संभावना है।
5 से 15% दाम बढ़ने की उम्मीद

अगले 3-6 महीनों के दौरान देश में रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी के दाम 5 से 15% तक बढ़ने की उम्मीद है। हुनरमंद श्रमिकों की कमी, श्रम लागत में बढ़ोतरी और कच्चे माल के दाम बढ़ना इसकी प्रमुख वजहें होंगी। - डॉ. निरंजन हीरानंदानी, वाइस चेयरमैन, नारेडको

टियर-2 शहर में डेढ़ गुनी तक महंगी प्रॉपर्टी
बड़े शहरों के मुकाबले टियर-2 शहरों में रिहायशी प्रॉपर्टी ज्यादा महंगी हुई है। क्रेडाई (इंदौर) के चेयरमैन लीलाधर माहेश्वरी ने कहा, साल भर में अलग-अलग सेगमेंट में प्रॉपर्टी के दाम 20 से 25% बढ़े हैं। अगले कुछ महीनों में प्रॉपर्टी की कीमतें 10 से 15% और बढ़ सकती हैं।

इन 3 वजहों से आ रही प्रॉपर्टी की कीमतों में तेजी

  • बीते एक साल में सीमेंट के अलावा कंस्ट्रक्शन में लगने वाली ज्यादातर वस्तुएं महंगी हुई हैं।
  • महामारी ने लोगों को अपने घर की अहमियत समझा दी है। लोग मकान और जमीन खरीद रहे हैं।
  • कोरोनाकाल में खर्च कम हुआ है और बचत बढ़ी है। यह बचत प्रॉपर्टी बाजार में आ रही है।