• Hindi News
  • Business
  • Tremendous Returns From IPOs This Year; Investors Will Now Watch These IPOs Coming In 2021

IPO के लिए शानदार रहा साल 2020:इस साल IPOs से मिला जबरदस्त रिटर्न; निवेशकों की नजर अब 2021 में आने वाली इन आईपीओ पर होगी

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस साल IPOs ने औसतन 42% रिटर्न दिया है।
  • साल 2019 में 20% ही रिटर्न मिला था।

साल-2020 शेयर मार्केट के लिए यादगार सालों में से एक रहेगा। इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) को मिले जबरदस्त रिस्पॉन्स ने निवेशकों को मालामाल कर दिया। इस साल IPOs ने औसतन 42% रिटर्न दिया है।

मिसेस बैक्टर्स का आईपीओ 199 गुना सब्सक्राइब हुआ

साल 2019 की बात की जाय तो आईपीओ में निवेश करने वाले इंवेस्टर्स को औसतन 20 फीसदी ही रिटर्न मिला था, वहीं 2018 में मात्र 6% रिटर्न मिला था। इस साल IPOs औसतन 75 गुना सब्सक्राइब हुए हैं। 2019 में ये केवल 32 गुना सब्सक्राइब हुए थे। इस साल मिसेस बैक्टर्स का आईपीओ सबसे ज्यादा 199 गुना सब्सक्राइब हुआ है।

इन IPO ने दिया जबरदस्त रिस्पाॅन्स

बता दें कि इस साल शेयर बाजार में बर्गर किंग, हैपियेस्ट माइंड्स और रूट मोबाइल समेत 13 IPOs ऐसे हैं, जिन्होंने निवेशकों को जबरदस्त रिटर्न दिया है। इनमें बर्गर किंग 131%, हैपियेस्ट माइंड्स 123% प्रीमियम पर लिस्ट हुआ। 13 कंपनियों ने IPO के जरिये इस साल 26,184 करोड़ रुपये जुटाये हैं, जो कि साल 2018 से अब तक सबसे ज्यादा है।

2021 में दो दर्जन से अधिक IPO आने वाले हैं

साल 2021 में करीब दो दर्जन कंपनियां IPO लाने जा रही है। इनमें कल्याण ज्वैलर्स, रेलटेल, NSE, NCDEX, इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉर्पोरेशन,बारबीक्यू नेशन, ESAF स्मॉल फाइनेंस बैंक, बजाज एनर्जी लिमिटेड, Powerica Limited, HDB Financial Services Ltd, TCIL Ltd, Studds Accessories Limited, जोमैटो, ग्रोफर्स, नर्मदा बायोकेम लिमिटेड Stove Kraft Ltd शामिल हैं।

IPO क्या है ?

जब एक कंपनी अपने समान्य स्टॉक या शेयर को पहली बार जनता के लिए जारी करता है तो उसे आईपीओ, इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (सार्वजनिक प्रस्ताव) कहते हैं। लिमिटेड कंपनियों द्वारा ये आईपीओ इसलिए जारी किया जाता है जिससे वह शेयर बाजार में सूचीबद्ध हो सके। शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद कंपनी के शेयरों की खरीद शेयर बाजार में हो सकेगी।

IPO लाने का कारण ?

जब किसी कंपनी को अतिरिक्त पूंजी की आवश्यकता होती है तो वह आईपीओ जारी करती है। ये आईपीओ कंपनी उस वक्त भी जारी कर सकती है जब उसके पास धन की कमी हो वह बाजार से कर्ज लेने के बजाय आईपीओ से पैसा जुटाना ज्यादा बेहतर समझती है। यह किसी भी कंपनी की विस्तार योजना होती है। शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद कंपनी अपने शेयरों को अन्य योजनाओं में लगा सकती है।

खबरें और भी हैं...