• Hindi News
  • Business
  • Trump urges China to strike trade deal quickly instead of waiting for 2020 US elections

ट्रेड वॉर / ट्रम्प ने कहा, चीन मुगालते में न रहे, 2020 का चुनाव वो ही जीतने जा रहे हैं



डोनाल्ड ट्रम्प डोनाल्ड ट्रम्प
X
डोनाल्ड ट्रम्पडोनाल्ड ट्रम्प

  • अमेरिकी राष्ट्रपति की नसीहत- 2020 चुनाव से पहले विवाद निपटा ले चीन
  • डेमोक्रेट जीते तो चीन को राहत मिल सकती है पर वह जीते तो भुगतना होगा खामियाजाः ट्रम्प
     

Dainik Bhaskar

May 12, 2019, 11:13 AM IST

वॉशिंगटन. अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर खत्म करने को लेकर चल रही बातचीत बगैर किसी नतीजे के खत्म हो गई है। इसी बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन को नसीहत दी है कि उसके लिए अच्छा रहेगा कि वो अमेरिका के 2020 चुनाव से पहले सारे विवाद निपटा ले। ट्रम्प ने ट्वीट करके कहा कि अगर चीन को लगता है कि इस बार कोई डेमोक्रेट अमेरिका का राष्ट्रपति बनने जा रहा है तो यह उसका मुगालता है। इस बार भी वो ही अमेरिका के राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं। तब चीन को खामियाजा भुगतना होगा।

 

ट्रम्प ने चीन से आने वाली सभी चीजों पर शुल्क बढ़ाया
वार्ता की विफलता के बाद ट्रम्प ने अपने शीर्ष अधिकारियों को चीन से आयातित लगभग सभी तरह के माल पर टैरिफ (आयात शुल्क) बढ़ाने की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दे दिए हैं। यह 300 अरब डॉलर के बराबर है और चीन से 200 अरब डॉलर मूल्य के उस आयात से अलग है, जिस पर शुल्क 10 से बढ़ाकर 25 फीसदी किया गया है। वार्ता की विफलता का एक कारण यह भी माना जा रहा है कि ट्रम्प ने चर्चा से ठीक पहले 200 अरब डॉलर पर शुल्क बढ़ाते हुए लंबी आर्थिक लड़ाई जारी रखने की बात कही।

 

वार्ता टूटी नहीं, बीजिंग में जारी रहेगीः चीन
चीन के शीर्ष व्यापार वार्ताकार और उप प्रधानमंत्री लियू हे ने मामले में अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ यह व्यापार वार्ता बीजिंग में जारी रहेगी, लेकिन चेताया कि महत्वपूर्ण सिद्धांतों पर कोई रियायत नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा, वार्ता टूटी नहीं है बल्कि दोनों देशों के बीच बातचीत का यह सिर्फ एक सामान्य मोड़ है। दोनों पक्ष चीन में आगामी वार्ता के लिए सहमत हैं लेकिन फिलहाल तारीख तय नहीं है।

ट्रम्प ने दिए टैरिफ बढ़ाने की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश

  1. अमेरिका और चीन के बीच दो दिनों तक चली व्यापार वार्ता बिना किसी समझौते के खत्म हो गई। वार्ता की विफलता के बाद ट्रम्प ने अपने शीर्ष अधिकारियों को चीन से आयातित लगभग सभी तरह के माल पर टैरिफ (आयात शुल्क) बढ़ाने की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दे दिए थे।
     

  2. यह 300 अरब डॉलर के बराबर है और चीन से 200 अरब डॉलर मूल्य के उस आयात से अलग है, जिस पर शुल्क 10 से बढ़ाकर 25 फीसदी किया गया है। वार्ता की विफलता का एक कारण यह भी माना जा रहा है कि ट्रम्प ने चर्चा से ठीक पहले 200 अरब डॉलर पर शुल्क बढ़ाते हुए लंबी आर्थिक लड़ाई जारी रखने की बात कही।

  3. अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइथनाइजर और चीनी उप प्रधानमंत्री लियू हे के बीच शुक्रवार देर रात तक चली व्यापार वार्ता के बाद राजस्व मंत्रालय ने पुष्टि की कि राष्ट्रपति ने चीन से आयात होने वाली उन सभी चीजों पर कर वसूली बढ़ाने का आदेश दिया है जो अब तक इससे बची हुई थीं।

  4. वार्ता टूटी नहीं, बीजिंग में जारी रहेगीः चीन

    चीन के शीर्ष व्यापार वार्ताकार और उप प्रधानमंत्री लियू हे ने बातचीत के बाद कहा कि अमेरिका के साथ यह व्यापार वार्ता बीजिंग में जारी रहेगी, लेकिन चेताया कि महत्वपूर्ण सिद्धांतों पर कोई रियायत नहीं दी जाएगी।

  5. लियू ने कहा, वार्ता टूटी नहीं है बल्कि दोनों देशों के बीच बातचीत का यह सिर्फ एक सामान्य मोड़ है। दोनों पक्ष चीन में आगामी वार्ता के लिए सहमत हैं लेकिन फिलहाल तारीख तय नहीं है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना