• Hindi News
  • Business
  • Inactive Bank Accounts | All You Need To Know About Dormant Bank Account Rules

काम की बात:उपयोग न करने पर बंद करा दें बैंक अकाउंट, नहीं कराने पर उठाने पड़ते हैं कई तरह के नुकसान

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कई बार न चाहते हुए भी सैलरी अकाउंट या अन्य कारणों लोगों को एक से ज्यादा बैंक अकाउंट खोलना पड़ते हैं। इनमें से कुछ खातों का समय के साथ इस्तेमाल कम हो जाता है, लेकिन हम फिर भी उन्हें बंद नहीं कराते हैं, इसके कारण आपको कई तरह के नुकसान उठाने पड़ते हैं। हम आपको ऐसे कारणों के बारे में बता रहे हैं जो आपको समझने में मदद करेंगे कि आपको क्यों इस्तेमाल में न आने वाले बैंक अकाउंट बंद कर देने चाहिए।

मिनिमम बैलेंस करना होगा मेंटेन
बैंक खातों में एक मंथली एवरेज बैलेंस रखना होता है, 500 रुपए से लेकर 15 हजार रुपये तक होता है। मंथली एवरेज बैलेंस ना रखने पर बैंक अपनी पॉलिसी के हिसाब से आपके खाते से पैसे काट सकता है।

जीरो बैलेंस वाला आपका सैलरी अकाउंट भी लगातार 3 महीनों तक सैलरी ना आने पर सेविंग अकाउंट में तब्दील हो जाता है। जिसमें आपको आम सेविंग अकाउंट की तरह ही मंथली एवरेज बैलेंस रखना जरूरी होता है।

डेबिट कार्ड और SMS के लिए चुकानी होती है फीस
बैंक अपने डेबिट कार्ड पर कुछ फीस लेते हैं। ये फीस सालाना 100 रुपए से 1000 रुपये तक होती है। अगर आप अपने अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तब भी आपको डेबिट कार्ड की फीस भरनी पडे़गी। वहीं बैंक आपके फोन पर SMS भेजने का चार्ज भी वसूलते हैं जो 30 रुपए प्रति तिमाही हो सकता है।

ट्रांजेक्शन नहीं करने पर डिएक्टिवेट हो सकता है अकाउंट
अगर आप लगातार 12 महीने तक अपने बैंक अकाउंट में कोई ट्रांजेक्शन नहीं करते हैं तो बैंक आपके खाते को इनएक्टिव अकाउंट मान लेगा। इनएक्टिव अकाउंट में ट्रांजेक्शन करने के लिए बैंक मना नहीं करते, लेकिन किसी डॉर्मेंट अकाउंट से आप नेट बैकिंग, ATM ट्रांजेक्शन या मोबाइल बैंकिग नहीं कर सकते।

टैक्स जमा करते समय हो सकती है परेशानी
ज्यादा बैंकों में अकाउंट होने से टैक्स जमा करते समय काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय आपको अपने सभी बैंक अकाउंट्स की जानाकारी देनी होती है। ऐसे में अक्‍सर उनके स्टेटमेंट का रिकॉर्ड जुटाना काफी पेचीदा काम हो जाता है।

इन्वेस्टमेंट पर पड़ेगा असर
इस समय कई प्राइवेट सेक्टर बैंक 10 हजार से लेकर 20 हजार रुपये तक मिनिमम बैलेंस रखने को कहते हैं. अगर आपके पास ऐसे चार सेविंग अकाउंट हैं, तो आपके 40 हजार से लेकर 80 हजार रुपये मिनिमम बैलेंस बनाए रखने में ही ब्लॉक हो जाएंगे और कहीं ना कहीं यह आपके इन्वेस्टमेंट को भी प्रभावित करेगा.

फ्रॉड का खतरा रहता है
कई बैंकों में अकाउंट होना सुरक्षा के लिहाज से भी सही नहीं होता है। आज देश में बड़ी संख्या में लोग नेट बैंकिंग का भी इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में सभी का पासवर्ड याद रखना बहुत ही मुश्किल काम होता है। निष्क्रिय अकाउंट का इस्‍तेमाल नहीं करने से इसके साथ फ्रॉड या धोखाधड़ी होने का चांस बहुत अधिक होता है, क्‍योंकि आप लंबे समय तक इसका पासवर्ड नहीं बदलते हैं। इससे बचने के लिए अकांउट या नेट बैंकिंग को बंद करा देना चाहिए।