• Hindi News
  • Business
  • Gautam Adani Hindenburg Controversy; Rahul Gandhi | Parliament Congress Protest Updates

राहुल ने पूछा- अडाणी और PM का क्या रिश्ता:कहा- अमीरों की लिस्ट में 2 नंबर पर कैसे आए, BJP बोली- माल्या को किसने बढ़ाया

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लोकसभा में संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने पोस्टर भी दिखाया। - Dainik Bhaskar
लोकसभा में संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने पोस्टर भी दिखाया।

लोकसभा में मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गौतम अडाणी और हिंडनबर्ग रिपोर्ट पर सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल पूछे। राहुल ने 45 मिनट की स्पीच की शुरुआत भारत जोड़ो यात्रा के दौरान पूछे गए लोगों के सवालों से की। फिर इन्हीं सवालों का हवाला देते हुए गौतम अडाणी के मुद्दे पर आ गए।

राहुल ने कहा, "2014 में गौतम अडाणी दुनिया के अमीरों की लिस्ट में 609वें नंबर पर थे। कुछ ही साल में न जाने क्या जादू हो गया, अडाणी इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर आ गए।" इस पर कांग्रेस सांसदों ने नारा लगाया ‘मोदी है तो मुमकिन है।’

इस स्पीच के दौरान NDA मेंबर्स ने ऐतराज भी जाहिर किया कि आप प्रधानमंत्री पर बिना आधार के आरोप लगा रहे हैं। आपको इसका सबूत देना चाहिए और अगर नहीं है तो देश से माफी मांगनी चाहिए। हालांकि राहुल की स्पीच इन छोटे-मोटे हंगामों के बीच भी चलती रही और ये अडाणी पर बयानों, सवालों और दावों पर ही फोकस थी।

भाजपा बोली-राहुल खुद जमानत पर हैं
राहुल गांधी के आरोपों पर भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को लोकसभा में पलटवार किया। रविशंकर ने कहा कि राहुल ने पीएम मोदी के खिलाफ बेबुनियाद आरोप लगाए हैं। कांग्रेस नेता उन सभी बड़े घोटालों में शामिल थे, जिन्होंने भारत की छवि को धूमिल किया।

मैं राहुल गांधी को याद दिलाना चाहता हूं कि वे, उनकी मां और उनका बहनोई जमानत पर हैं। बोफोर्स में तो राजीव गांधी पर घोटाले का आरोप है। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि नेशनल हेराल्ड और अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले क्या हैं? वाड्रा DLF घोटाले में क्या हुआ। विजय माल्या को किसने बढ़ाया, उसे लोन पर लोन किसने दिया। नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के इवेंट्स में कौन जाता था, आप जाते थे राहुल गांधी। आपकी भी तस्वीरें सामने आ रही हैं। भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस की सरकारें डील और कमीशन पर चलती थीं। राफेल डील में कांग्रेस का कमीशन तय नहीं हो पाया, इसीलिए डील को देर तक टाला गया।

स्मृति ईरानी ने संसद में राहुल गांधी पर तंज कसा।
स्मृति ईरानी ने संसद में राहुल गांधी पर तंज कसा।

एक परिवार ने मेडिकल कॉलेज की जमीन पर गेस्टहाउस बनाया: स्मृति ईरानी
लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि आज एक सज्जन ने हमारे प्रधान सेवक पर कटाक्ष किया। लेकिन वो बताएं कि 1971 में एक फाउंडेशन ने मेडिकल कॉलेज के लिए 623 रुपए रेंट पर 30 साल के लिए 40 एकड़ जमीन ली थी। लोगों को बार-बार कहा कि यहां कॉलेज खोलेंगे, लेकिन एक परिवार ने उस पर अपने लिए गेस्टहाउस बना दिया। अब वहां मोदी सरकार ने पहला मेडिकल कॉलेज खोला है।

अडाणी मुद्दे पर राहुल के 2 बयान

1. युवा पूछते थे कि अडाणी जी 8 बिलियन डॉलर से 140 बिलियन डॉलर पहुंच गए?
राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा का जिक्र करते हुए कहा, "एक सवाल तमिलनाडु, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, केरल सब जगह सुनने को मिला। वो नाम था अडाणी जी। युवाओं ने मुझसे पूछा अडाणी जी बिजनेस में चले जाते हैं, सफल होते हैं, कभी फेल नहीं होते?

अडाणी जी पहले एक-दो बिजनेस करते थे और अब 8-10 सेक्टर्स में काम करते हैं? 2014 से लेकर 2022 तक 8 बिलियन डॉलर से अब 140 बिलियन डॉलर तक कैसे पहुंच गए? युवाओं ने कहा कि मोदी जी स्टार्टअप की बात करते हैं, हमें भी सक्सेस प्राप्त करनी है? आप बताइए?"

2. 2014 में जादू हुआ, सब जगह अडाणी जी आ गए
राहुल बोले, "दुनिया के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट आती है। 2014 में अडाणी दी 609 नंबर पर थे। सबसे पीछे। जादू हुआ तो दूसरे नंबर पर पहुंच गए। हिमाचल में सेब की बात होती है तो अडाणी, कश्मीर में सेब तो अडाणी, पोर्ट और एयरपोर्ट सब जगह अडाणी जी, सड़क पर चल रहे हैं, तो अडाणी जी। लोगों ने पूछा कि अडाणी जी इतने सफल कैसे हुए?

तस्वीर दिखाते हुए मोदी से सवाल- अडाणी से रिश्ता क्या है?
राहुल ने एक तस्वीर सदन में दिखाई, इसमें मोदी और गौतम अडाणी नजर आ रहे थे। NDA मेंबर्स ने इसका विरोध किया। सभापति ओम बिड़ला ने राहुल को टोका और स्पीच फिर शुरू हुई। राहुल ने कहा, "इनका हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री के साथ क्या रिश्ता है और कैसा रिश्ता है?"

राहुल ने सदन में एक तस्वीर दिखाई। इसमें गौतम अडाणी और नरेंद्र मोदी नजर आ रहे हैं।
राहुल ने सदन में एक तस्वीर दिखाई। इसमें गौतम अडाणी और नरेंद्र मोदी नजर आ रहे हैं।

सवाल का जवाब खुद दिया- रिश्ता कई साल पहले शुरू होता है
राहुल ने कहा, "अडाणी और मोदी जी के रिश्ते के बारे में बता देता हूं। ये रिश्ता कई साल पहले शुरू होता है, जब मोदी जी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। मोदी जी और अडाणी साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहे। मोदी जी को आइडिया दिया गया कि आप बिजनेसमैन के ग्रुप को साथ लाइए और वाइब्रेंट गुजरात बनाइए।

मुझे लगता है कि तब असली जादू शुरू हुआ। प्रधानमंत्री जी दिल्ली आते हैं और 2014 में असली जादू शुरू होता है। 2014 में अडाणी 609 पर थे और कुछ साल में दूसरे नंबर पर कैसे पहुंचे?"

सरकार और अडाणी पर राहुल के 4 दावे

1. अडाणी को एयरपोर्ट देने के लिए सरकार ने नियम बदल दिए
राहुल ने दावा किया, "अब एयरपोर्ट की बात करते हैं। कुछ साल पहले सरकार ने हिंदुस्तान के एयरपोर्ट्स को डेवलप करने के लिए दिया। नियम था कि कोई भी जिसे पहले एक्सपीरियंस ना हो, वो डेवलपमेंट में शामिल नहीं हो सकता है। इस नियम को हिंदुस्तान की सरकार ने बदला। रूल बदला और अडाणी जी को 6 एयरपोर्ट दिए गए। दुनिया का सबसे ज्यादा प्रॉफिटेबल मुंबई एयरपोर्ट को GVK से हाईजैक कर लिया।

CBI और ED का इस्तेमाल करके हिंदुस्तान के उस एयरपोर्ट को अडाणी जी के हवाले कर दिया। रिजल्ट आया कि एयरपोर्ट में आज अडाणी जी की हिस्सेदारी 24% है। हिंदुस्तान की सरकार और प्रधानमंत्री ने ये सुविधा दी।"

हालांकि कांग्लोमेरेट जीवीके के वाइस चेयरमैन वी संजय रेड्‌डी ने बाद में NDTV से कहा कि अडाणी ग्रुप या किसी और का मुंबई एयरपोर्ट बेचने के लिए कोई दबाव नहीं था।

2. जिस देश में प्रधानमंत्री जाते हैं, वहां अडाणी जी को कॉन्ट्रैक्ट मिल जाता है
राहुल गांधी बोले, "अब हम फॉरेन पॉलिसी की बात करते हैं। डिफेंस से शुरू करते हैं। डिफेंस में अडाणी जी का जीरो एक्सपीरियंस था। मैंने प्रधानमंत्री को HAL में देखा। बोल रहे थे कि कॉन्ट्रैक्ट को लेकर गलत आरोप लगाए गए। असलियत है कि 126 हवाई जहाजों का जो HAL का कॉन्ट्रैक्ट था, वो अनिल अंबानी को चला गया। वो बैंकरप्ट हो गए।

प्रधानमंत्री इजराइल जाते हैं और फिर अडाणी जी को ड्रोन को री-फिट करने का कॉन्ट्रैक्ट मिल जाता है। 4 डिफेंस की इनके पास कंपनियां हैं। इजराइल में प्रधानमंत्री जाते हैं, उसके बाद अडाणी को जादू से मेंटेनेंस का कॉन्ट्रैक्ट, इजराइली ड्रोन और छोटे हथियारों का कॉन्ट्रैक्ट मिल जाता है।"

3. श्रीलंका के राष्ट्रपति ने कहा कि मोदी जी ने कॉन्ट्रैक्ट के लिए दबाव डाला था
उन्होंने दावा किया, "आपने देखा कि एयरपोर्ट बिजनेस में 30% मार्केट शेयर, हिंदुस्तान-इजराइल का डिफेंस बिजनेस 90% ले गए। ऑस्ट्रेलिया चलते हैं। प्रधानमंत्री ऑस्ट्रेलिया जाते हैं और जादू से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया वन बिलियन डॉलर लोन अडाणी जी को दे देता है।

उसके बाद बांग्लादेश में गए, काम पर जा रहे हैं। बांग्लादेश गए वहां पर इलेक्ट्रिसिटी बेचने का डिसीजन लिया जाता है। कुछ दिन बाद बांग्लादेश पावर डेवलपमेंट बोर्ड 25 साल का कॉन्ट्रैक्ट अडाणी जी के साथ साइन करता है।

श्रीलंका चलते हैं। जून 2022 में इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड के चेयरमैन ने संसद में बताया कि राष्ट्रपति राजपक्षा ने उनसे कहा था कि मोदी जी ने उन पर दबाव डाला था कि अडाणी को विंड पावर प्रोजेक्ट दे दिया जाए।"

4. पब्लिक सेक्टर बैंकों का पैसा अडाणी जी को दिया जाता है, सरकार मदद करती है
राहुल गांधी ने कहा, "ये हिंदुस्तान की फॉरेन पॉलिसी नहीं, ये अडाणी जी की फॉरेन पॉलिसी है। यात्रा में लोगों ने पूछा कि एलआईसी कंपनी का पैसा अडाणी जी की मदद करने के लिए क्यों डाला जाता है। पूछा कि अडाणी जी के शेयर्स में एलआईसी का पैसा क्यों डाला जा रहा है।

मेरा कहना है कि अडाणी जी की मदद प्रधानमंत्री जी और हिंदुस्तान की सरकार करती है। हजारों करोड़ रुपए हिंदुस्तान के पब्लिक सेक्टर बैंक्स से अडाणी जी को मिलता है। एसबीआई 27 हजार, पीएनबी 7 हजार... लंबी लिस्ट है। एलआईसी का एक्सपोजर 36 हजार करोड़ है। इनका पैसा मिस्टर अडाणी को जाता है।"

प्रधानमंत्री से 7 सवाल पूछे
1.
हिंडनबर्ग रिपोर्ट में लिखा गया कि देश के बाहर अडाणी जी की शेल कंपनिया हैं, सरकार बताए ये कंपनियां किसकी हैं?
2. शेल कंपनियों से आ रहा पैसा किसका?
3. अडाणी जी हिंदुस्तान के पोर्ट्स-एयरपोर्ट, डिफेंस को डॉमिनेट करते हैं। शेल कंपनीज के बारे में हिंदुस्तान की सरकार ने कोई सवाल नहीं उठाया? ये राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा है।
4. प्रधानमंत्री जी आपकी फॉरेन ट्रिप्स पर अडाणी जी कितनी बार साथ गए?
5. कितनी बार आपकी विदेश यात्राओं में अडाणी जी ने आपसे मुलाकात की?
6. प्रधानमंत्री जी के विदेश दौरों के बाद उस देश में अडाणी जी कितनी बार गए?
7. अडाणी जी ने कितने पैसे भाजपा को दिए हैं? इलेक्टोरल बॉन्ड में अडाणी जी ने कितने पैसे दिए हैं?

लोकसभा में बुधवार को राहुल गांधी की स्पीच के दौरान NDA मेंबर्स ने कई बार हंगामा किया।
लोकसभा में बुधवार को राहुल गांधी की स्पीच के दौरान NDA मेंबर्स ने कई बार हंगामा किया।

एक और बड़ा आरोप- अग्निवीर योजना अजित डोभाल ने थोपी
राहुल ने स्पीच की शुरुआत में कहा, "भारत जोड़ो के दौरान बहुत सारी चीजें सुनने को मिलीं। बेरोजगारी, महंगाई और किसान मुख्य मुद्दा थे। अग्निवीर की भी बात की लोगों ने। हिंदुस्तान का युवा ने कहा कि पहले 15 साल की सर्विस और पेंशन मिलती है। अब 4 साल के बाद निकाल दिया जाएगा। आर्मी के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि अग्निवीर योजना आर्मी के भीतर से नहीं संघ से और गृह मंत्रालय से आई है। थोपी गई है।

रिटायर्ड जनरलों ने कहा कि ये आर्मी को कमजोर करेगी। बोले कि हजारों लोगों को हथियार की ट्रेनिंग दे रहे हैं और फिर समाज में डाल रहे हैं। उनके मन में था कि ये जो अग्निवीर योजना है, वो आर्मी के भीतर से नहीं आई है। मुझे लगता है कि अजित डोभाल जी ने ये योजना थोपी है।'

सदन की कार्यवाही से पहले विपक्ष ने फैसला लिया- चर्चा करेंगे

राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के कार्यालय में आज एक जैसी विचारधारा वाली विपक्षी पार्टी के फ्लोर नेताओं की बैठक हुई। कांग्रेस के जयराम रमेश ने ट्वीट किया- ज्यादातर विपक्षी दलों ने आज से संसदीय कार्यवाही में भाग लेने का फैसला किया। हम PM से जुड़े अडाणी महाघोटाले के लिए JPC की अपनी मांग जारी रखेंगे।

AAP और BRS ने संसदीय चर्चा में हिस्सा लेने से इनकार किया। नेताओं का कहना है कि जब तक JPC नहीं बनाई जाती, तब तक कार्यवाही में हिस्सा नहीं लेंगे।

अडाणी ग्रुप को लेकर संसद हंगामा हुआ। कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित कर दी गई थी। 12 बजे के बाद लोकसभा की कार्यवाही चली, लेकिन राज्यसभा में स्थगित कर दी गई।

सदन की कार्यवाही से पहले कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मंगलवार को फिर विपक्षी नेताओं के साथ बैठक की।
सदन की कार्यवाही से पहले कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मंगलवार को फिर विपक्षी नेताओं के साथ बैठक की।

विपक्ष और कांग्रेस JPC की मांग पर अड़े
विपक्षी दलों की मांग है कि अडाणी ग्रुप के वित्तीय लेनदेन की जांच संसदीय पैनल (JPC) या सुप्रीम कोर्ट की कमेटी से करवाई जाए। इसके लिए सोमवार को कांग्रेस ने देशभर में LIC और SBI के ऑफिस के बाहर अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन भी किया।

महाराष्ट्र में कांग्रेस ने LIC और SBI दफ्तरों के सामने प्रदर्शन किया।
महाराष्ट्र में कांग्रेस ने LIC और SBI दफ्तरों के सामने प्रदर्शन किया।

अडाणी एंटरप्राइजेज के शेयर 15% चढ़े
बाजार की गिरावट के बीच अडाणी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में जबरदस्त तेजी देखने को मिली। ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी अडाणी एंटरप्राइजेज का शेयर 15% की तेजी के साथ 1,813 रुपए पर बंद हुआ। इससे पहले यह शेयर 13 दिन में करीब 55% तक टूटा था। वहीं अडाणी विल्मर 5% चढ़ा।

तेजी की वजह जानते हैं: अडाणी ग्रुप के प्रमोटर्स ने सोमवार को 1.1 बिलियन डॉलर यानी करीब 9 हजार करोड़ रुपए के लोन का पेमेंट समय से 19 महीने पहले दिया था। इसका असर आज ग्रुप के स्टॉक्स पर भी देखने को मिला। बाजार के सेंटीमेंट भी अब अडाणी ग्रुप के शेयरों को लेकर इतने ज्यादा निगेटिव नहीं है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

अडाणी मामले से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

अडाणी मामले को लेकर कांग्रेस ने देशभर में प्रदर्शन किया, राहुल बोले- संसद में अडाणी पर चर्चा से सरकार डरी

अडाणी ग्रुप पर हिंडनबर्ग की रिपोर्ट को लेकर संसद के दोनों सदनों में सोमवार को भी जमकर हंगामा हुआ। एक तरफ विपक्ष इस पर चर्चा कराने की मांग पर अड़ा रहा, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी ने देशभर में LIC और SBI के ऑफिस के बाहर अडाणी ग्रुप के वित्तीय लेनदेन की जांच संसदीय पैनल (JPC) या सुप्रीम कोर्ट की कमेटी से करवाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। पढ़ें पूरी खबर...

RBI ने बैंकों से पूछा-अडाणी ग्रुप को कितना कर्ज दिया, अडाणी खुद सामने आए

अडाणी ग्रुप पर हिंडनबर्ग की रिपोर्ट को लेकर गुरुवार को संसद में जमकर हंगामा हुआ। पूरे विपक्ष ने अडाणी ग्रुप के वित्तीय लेनदेन की जांच संसदीय पैनल (JPC) या सुप्रीम कोर्ट की कमेटी से कराने की मांग की। इस मुद्दे पर हंगामे के चलते लोकसभा और राज्यसभा को कार्यवाही शुरू होते ही पहले दोपहर 2 बजे तक और फिर अगले दिन तक के लिए स्थगित करना पड़ा। पढ़े़ पूरी खबर...

जब अडाणी जैसी सिचुएशन में फंसे थे धीरूभाई अंबानी:रिलायंस को बचाने और पलटवार का 40 साल पुराना रोचक किस्सा

अडाणी मुसीबत में हैं। हिंडनबर्ग की रिपोर्ट पब्लिश होने के बाद उनकी कंपनियों के शेयर्स औंधे मुंह गिरे हैं। दुनिया के अमीरों की लिस्ट में वो तीसरे नंबर से 17वें नंबर पर खिसक गए हैं। लोगों के मन में एक ही सवाल है- अडाणी बाउंस बैक कैसे करेंगे। भास्कर एक्सप्लेनर में जानेंगे कि क्या है धीरूभाई अंबानी से जुड़ा 1982 का किस्सा पढ़ें पूरी खबर...

राहुल बोले- योगी आदित्यनाथ ठग हैं:यूपी CM ने कहा था- राहुल जैसे विपक्षी नेता भाजपा का काम आसान कर रहे

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ठग कह दिया। राहुल ने सोमवार को दिल्ली सामाजिक संगठनों से बातचीत के दौरान यह बात कही। कॉन्सिट्यूशन क्लब में हो रही इस मीटिंग में स्वराज इंडिया के चीफ योगेंद्र यादव भी मौजूद थे। पढ़ें पूरी खबर...