• Hindi News
  • Business
  • US Bond Yield And Domestic Data Will Decide The Movement Of The Stock Market, Know What Is The Advice Of Market Experts

निवेशकों के लिए अहम यह हफ्ता:अमेरिकी बॉन्ड यील्ड और घरेलू आंकड़े तय करेंगे शेयर बाजार की चाल, जानिए मार्केट एक्सपर्ट की क्या है सलाह

मुंबई9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बढ़ते बॉन्ड यील्ड, कच्चे तेल की कीमत और आने वाले घरेलू आंकड़े इस हफ्ते शेयर बाजार के लिए काफी अहम होंगे। मार्केट एक्सपर्ट्स निवेशकों नई पोजिशन के लिए सतर्क कर रहे हैं। क्योंकि बीता हफ्ता रिटर्न के लिहाज से बुरा रहा।

बीते हफ्ते गिरावट का 10 महीना पुराना रिकॉर्ड टूटा

शेयर बाजार के प्रमुख इंडेक्स BSE सेंसेक्स 3% नीचे फिसल गया, केवल शुक्रवार को ही इंडेक्स 1,940 अंक गिरा। एक दिन में इतनी बड़ी गिरावट पिछले साल मई में देखने को मिली थी। 26 फरवरी को घरेलू मार्केट के साथ-साथ दुनियाभर के लगभग सभी शेयर बाजार लाल निशान में बंद हुए थे। सेंसेक्स 49,099.99 और निफ्टी 14,529.15 पर बंद हुआ था। इस दौरान BSE का मार्केट कैप करीब 6 लाख करोड़ रुपए घटकर 200.81 लाख करोड़ रुपए हो गया।

अमेरिकी बॉन्ड यील्ड बढ़ने से जारी रह सकती है गिरावट
ग्लोबल मार्केट के लिए अमेरिकी बॉन्ड यील्ड की चाल काफी अहम होगा, क्योंकि यील्ड बढ़ने से विदेशी संस्थागत निवेशक (FII) विकसित बाजारों से निकासी शुरु कर देंगे। इसमें भारतीय शेयर बाजार से लेकर यूरोपियन मार्केट शामिल हैं। इसके अलावा उभरते बाजार में करेंसी भी कमजोर हो सकता है। कमोडोटीज प्राइसेस के बढ़ने से महंगाई भी बढ़ेगी, जिससे बाजार में गिरावट की संभावना भी बढ़ेगी।

ऑटो बिक्री के आंकडे, फोकस में रहेंगे शेयर
फरवरी ऑटो बिक्री के आंकड़े सोमवार को जारी होंगे। इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स को पैसेंजर व्हीकल और ट्रैक्टर सेगमेंट में मजबूत बिक्री कीउम्मीद है, जबकि टू व्हीलर सेल के आंकड़े कमजोर आ सकते हैं। ऐसे में ऑटो शेयर फोकस में रहेंगे। इसमें टाटा मोटर्स, मारुति सुजुकी, आयशर मोटर्स, बजाज ऑटो, अशोक लेलैंड, महिंद्रा एंड महिंद्रा, हीरो मोटोकॉर्प, TVS मोटर कंपनी और एस्कॉर्ट शामिल हैं।

घरेलू आंकड़े होंगे जारी
हफ्ते के शुरुआत में फरवरी माह के आर्थिक आंकड़े आएंगे। सोमवार को IHS मार्किट मैन्युफैक्चरिंग और बुधवार को सर्विस पर्चेजिंग मैनेजर इंडेक्स (PMI) डेटा जारी होगा। उम्मीद के मुताबिक फरवरी के आंकड़े मजबूत आ सकते हैं। क्योंकि बिक्री और नए एक्सपोर्ट ऑर्डर बढ़े हैं। जनवरी में भी मैन्युफैक्चरिंग PMI 57.7 और सर्विस PMI 52.8 रहा था।

महीने का पहला IPO 3 मार्च से खुलेगा
इस हफ्ते MTAR टेक्नोलॉजीज का IPO खुलेगा। यह 3 मार्च से 5 मार्च तक ओपन रहेगा। कंपनी का उद्देश्य 597 करोड़ रुपए जुटाने का है। इसके लिए 574-575 रुपए प्रति शेयर प्राइस बैंड तय किया गया है। पब्लिक इश्यू के लिए कंपनी करीब 124 करोड़ रुपए के शेयर जारी करेगी और ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिए 473 करोड़ रुपए के शेयर जारी होंगे। OFS में प्रमोटर और इन्वेस्टर अपनी हिस्सेदारी बेचेंगे।

मार्केट एक्सपर्ट की राय
मोतीलाल ओसवाल
के रिटेल रिसर्च हेड सिद्धार्थ खेमका के मुताबिक निवेशक बॉन्ड यील्ड, US-ईरान के बीच तनाव और घरेलू आंकड़ों को करीब से ट्रैक कर रहे हैं। ज्यादा उम्मीद है कि कमजोर विदेशी संकेतों के चलते बाजार में गिरावट का सिलसिला जारी रहे। देश में कई राज्यों में कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़ने लगे हैं, क्योंकि इससे निवेशक नर्वस हैं।

कोटक सिक्योरिटीज के फंडामेंटल रिसर्च हेड रस्मिक ओझा ने कहा कि भारतीय शेयर बाजार को महंगाई और बढ़ते बांड यील्ड के बीच स्थिर करेंसी, मजबूत इकोनॉमी ग्रोथ और इनकम में तेज बढ़ोतरी का फायदा मिल सकता है।

एंजल ब्रोकिंग के चीफ एनालिस्ट (टेक्निकल एंड डेरिवेटिव) समित चवण के मुताबिक बाजार लंबे वक्त से बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है, इसलिए मध्यम अवधि के लिए प्रॉफिट बुकिंग हो सकती है। हालांकि यह लंबी अवधि के लिए अच्छी बात है। निवेशकों को आक्रामक निवेश से बचना चाहिए।