थोक महंगाई:खाने-पीने के सामान महंगे होने के बावजूद जुलाई में थोक महंगाई की दर लगातार चौथे महीने शून्य से 0.58 अंक नीचे रही

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
थोक महंगाई लगातार चौथे महीने शून्य से नीचे रही, जून में यह (-) 1.81%, मई में (-) 3.37% और अप्रैल में (-) 1.57% थी - Dainik Bhaskar
थोक महंगाई लगातार चौथे महीने शून्य से नीचे रही, जून में यह (-) 1.81%, मई में (-) 3.37% और अप्रैल में (-) 1.57% थी
  • एक साल पहले जुलाई 2019 में थोक महंगाई दर 1.17% थी
  • खाद्य वस्तुओं की थोक महंगाई दर जुलाई में 4.32% रही

खाने-पीने के सामान महंगे होने के बावजूद जुलाई 2020 में थोक महंगाई की दर (-) 0.58 फीसदी रही। जून में यह दर (-) 1.81 फीसदी और एक साल पहले यानी, जुलाई 2019 में यह 1.17 फीसदी थी। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने शुक्रवार को जारी आंकड़ों में यह बात कही।

खाद्य वस्तुओं की थोक महंगाई जुलाई में 4.32 फीसदी रही। जून में खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर 3.05 फीसदी थी। थोक महंगाई लगातार चौथे महीने शून्य से नीचे रही। जून में थोक महंगाई दर (-) 1.81 फीसदी, मई में (-) 3.37 फीसदी और अप्रैल में (-) 1.57 फीसदी थी।

ईंधन और बिजली सेगमेंट में महंगाई दर शून्य से 9.84 अंक नीचे

ईंधन और बिजली सेगमेंट में महंगाई दर (-) 9.84 फीसदी रही। जून में इस सेगमेंट की महंगाई दर (-) 13.6 फीसदी थी। जबकि मई में यह (-) 23.08 फीसदी थी। मैन्यूफैक्चरिंग उत्पादों की महंगाई दर जुलाई में 0.51 फीसदी रही, जो जून में 0.08 फीसदी थी।

थोक महंगाई शून्य से नीचे तो खुदरा महंगाई करीब 7% पर

थोक महंगाई जहां शून्य से नीचे चल रही है, वहीं देश में खुदरा महंगाई आरबीआई के सुविधाजनक स्तर से भी ऊपर चल रही है। जुलाई में खुदरा महंगाई की दर 6.93 फीसदी रही, जो जून में 6.23 फीसदी थी। सरकार ने आरबीआई को खुदरा महंगाई दर 2-4 फीसदी के दायरे में रखने की जिम्मेदारी दी है।

पिछले एक साल की थोक महंगाई दरें इस प्रकार हैं

जुलाई 2019 : 1.17%

अगस्त 2019 : 1.08%

सितंबर 2019 : 0.33%

अक्टूबर 2019 : 0.16%

नवंबर 2019 : 0.58%

दिसंबर 2019 : 2.59%

जनवरी 2020 : 3.1%

फरवरी 2020 : 2.26%

मार्च 2020 : 1%

अप्रैल 2020 : (-) 1.57%

मई 2020 : (-) 3.37%

जून 2020 : (-) 1.81%

जुलाई 2020 : (-) 0.58%

खुदरा महंगाई:खाने-पीने के सामान महंगे होने से महंगाई दर में बढ़ोतरी, जुलाई में 7% के करीब पहुंची

खबरें और भी हैं...