• Hindi News
  • Business
  • Wipro Posts Percent Growth In Net Profit To Rs 2,972 Crore For Quarter Ended March 31

विप्रो को मार्च तिमाही में 2972 करोड़ रु. का मुनाफा:वार्षिक आधार पर प्रॉफिट में 27.78% का उछाल, कंपनी का रेवेन्यू 3.4% बढ़ा

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जनवरी-मार्च तिमाही में ऑपरेशनल रेवेन्यू 16,245.4 करोड़ रुपए रहा
  • जून 2021 तिमाही में विप्रो को रेवेन्यू में 2-4% के ग्रोथ की उम्मीद

सॉफ्टवेयर कंपनी विप्रो ने वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही यानी जनवरी-मार्च तिमाही के वित्तीय नतीजे घोषित कर दिए हैं। रेगुलेटरी फाइलिंग के मुताबिक, जनवरी-मार्च 2021 के दौरान विप्रो का शुद्ध मुनाफा 2,972.3 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले शुद्ध मुनाफे में 27.78% की बढ़ोतरी रही है। पिछले साल मार्च तिमाही में कंपनी का शुद्ध मुनाफा 2,326.1 करोड़ रुपए रहा था। हालांकि, तिमाही आधार पर कंपनी के शुद्ध मुनाफे में सिर्फ 0.14% का इजाफा रहा है। दिसंबर 2020 तिमाही में कंपनी को कुल 2,968 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था।

वार्षिक आधार पर 3.4% बढ़ा रेवेन्यू

रेगुलेटरी फाइलिंग के मुताबिक, विप्रो के ऑपरेशनल रेवेन्यू में वार्षिक आधार पर 3.4% की ग्रोथ रही है। मार्च तिमाही में कंपनी का ऑपरेशनल रेवेन्यू 16,245.4 करोड़ रुपए रहा है। मार्च 2020 तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू 15,711 करोड़ रुपए रहा था। इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी सर्विसेज से बीती तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू 15,891.7 करोड़ रुपए रहा है।

20.92% रहा आईटी सर्विसेज का मार्जिन

वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में कंपनी का आईटी सर्विसेज का एबिट 3,417 करोड़ रुपए और मार्जिन 20.91% रहा है। चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर जतिन दलाल ने कहा कि सैलरी में बढ़ोतरी के बावजूद कंपनी के ऑपरेटिंग मार्जिन में वार्षिक आधार पर चौथी तिमाही में 340 बेसिस पॉइंट की बढ़ोतरी हुई है। जबकि पूरे वित्त वर्ष के मार्जिन में 220 बेसिस पॉइंट की बढ़ोतरी रही है। इस अवधि में हमने 1.3 बिलियन डॉलर करीब 9 हजार करोड़ रुपए के शेयर बायबैक कार्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा किया है।

रेवेन्यू में लगातार तीसरी तिमाही में ग्रोथ रही

विप्रो के CEO और MD थैरी डेलापोर्ट ने कहा कि हमने लगातार तीसरी में मजबूत रेवेन्यू ग्रोथ और ऑपरेटिंग मार्जिन हासिल किया है। इसके अलावा कंपनी ने कैप्को (Capco) का अधिग्रहण किया है। यह विप्रो का अब तक का सबसे बड़ा अधिग्रहण है। उन्होंने कहा कि इस अधिग्रहण से कंपनी के ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज सेक्टर को बढ़ावा मिलेगा। कंपनी ने जून 2021 तिमाही में रेवेन्यू में 2 से 4% के ग्रोथ की उम्मीद जताई है।

फाइनल डिविडेंड की घोषणा नहीं

रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा गया है कि कंपनी के बोर्ड ने किसी फाइनल डिविडेंड की घोषणा नहीं की है। कंपनी ने 13 जनवरी को हुई बोर्ड बैठक में 1 रुपए प्रति शेयर का अंतरिम डिविडेंड देने की घोषणा की थी। बोर्ड ने इसी डिविडेंड को वित्त वर्ष 2020-21 का फाइनल डिविडेंड के रूप में मंजूरी दी है। यानी वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनी के शेयर होल्डर्स को 1 रुपए प्रति शेयर का डिविडेंड ही मिलेगा।