पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • Yes Bank NPA Amount | Yes Bank Is Planning To Sell Its Bad Loans (NPA) Worth Rs 32,344 Crore

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एनपीए से निपटने की योजना:मुश्किल से गुजर रहा यस बैंक बेचेगा 32,344 करोड़ रुपए का NPA, कई ARC के साथ कर रहा है बात

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यस बैंक का ग्रॉस NPA सितंबर तिमाही में दोगुना होकर 16.9 फीसदी हो गया जो एक साल पहले 7.39 फीसदी था। बैंक का शुद्ध NPA बढ़कर 4.70 फीसदी हो गया जो एक साल पहले 4.35 फीसदी था - Dainik Bhaskar
यस बैंक का ग्रॉस NPA सितंबर तिमाही में दोगुना होकर 16.9 फीसदी हो गया जो एक साल पहले 7.39 फीसदी था। बैंक का शुद्ध NPA बढ़कर 4.70 फीसदी हो गया जो एक साल पहले 4.35 फीसदी था
  • यस बैंक ने एनपीए बेचने के लिए ईवाय को एडवाइजर नियुक्त किया है
  • बैंक ने हाल में शेयरों की बिक्री कर 15 हजार करोड़ रुपए जुटाया था

मुश्किलों से गुजर रहे निजी सेक्टर के यस बैंक 32,344 करोड़ रुपए के बुरे फंसे कर्जों (NPA) को बेचने की योजना बना रहा है। बैंक इसके लिए कई असेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनियों (ARC) के साथ बातचीत कर रहा है। इसके लिए बैंक ने अर्नेस्ट एंड यंग (EY) को बिड्स का एडवाइजर नियुक्त किया है।

एनपीए के लिए 76 पर्सेंट प्रोविजन

जानकारी के मुताबिक यस बैंक ने पहले ही अपने ग्रॉस बुरे फंसे कर्जों (NPA) के लिए 76 पर्सेंट प्रोविजन किया है। इसका कुल मूल्य 24,476 करोड़ रुपए रहा है। बैंक इसके साथ ही अब एनपीए को बेचने की कोशिश कर रहा है। हालांकि यस बैंक और ईवाई ने इस मामले में आधिकारिक रूप से कुछ नहीं कहा।

डीएचएफएल का बांड बेचकर जुटाया 500 करोड़

यह मामला ऐसे समय में सामने आया है, जब यस बैंक ने दिवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) के बांड्स को बेच दिया था। इस बांड्स को बेचकर बैंक ने 500 करोड़ रुपए जुटाया था। इससे बैंक ने संकट वाली इस एनबीएफसी में अपना एक्सपोजर कम कर लिया था। बैंक इसके साथ ही इस साल के अंत तक अपनी म्यूचुअल फंड सब्सिडियरी भी बेचने की योजना बना रहा है। इससे बैंक को थोड़ी मदद मिल जाएगी।

यह भी पढ़ें-

खुद की एआरसी सेटअप करने की योजना

इसके अलावा बैंक अपने खुद के एनपीए के लिए एक एआरसी सेटअप करने की योजना बना रहा है। इसके लिए वह स्ट्रेटेजिक निवेशकों के साथ बात कर रहा है। बता दें कि इसी साल मार्च में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने यस बैंक का पूरा बोर्ड ही खत्म कर दिया था। इसके बाद नया बोर्ड बिठाया गया। इसमें एसबीआई के सीएफओ प्रशांत कुमार को एमडी बनाया गया है। नया मैनेजमेंट ने बाजार से क्यूआईपी के जरिए 15 हजार करोड़ रुपए जुटाने में सफलता हासिल की थी।

इसके बाद 5 हजार करोड़ रुपए बैंक ने लांग टर्म रीफाइनेंसिंग बॉरोविंग के जरिए जुटाई थी। बैंक को इस 20 हजार करोड़ रुपए से काफी मदद मिली है।

बैंक का शेयर स्थिर

हालांकि बैंक का शेयर पिछले तीन महीनों से 12 से 14 रुपए के बीच ही चल रहा है। बैंक ने 12 रुपए प्रति शेयर पर 15 हजार करोड़ रुपए जुटाया था। जबकि एसबीआई ने इसमें 10 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से हिस्सेदारी खरीदी थी। हाल में बैंक ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) का रिजल्ट पेश किया था। बैंक को इस दौरान 129 करोड़ रुपए का शुद्ध फायदा हुआ था। एक साल पहले समान तिमाही में बैंक को 600 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।

बैंक की आय 5,952 करोड़ रही

इस साल सितंबर तिमाही में बैंक की कुल आय 5,952 करोड़ रुपए रही जो पिछले साल समान तिमाही में 8,347 करोड़ रुपए थी। बैंक का ग्रॉस NPA इसी दौरान दोगुना होकर 16.9 फीसदी हो गया जो एक साल पहले 7.39 फीसदी था। सितंबर तिमाही में बैंक का शुद्ध NPA बढ़कर 4.70 फीसदी हो गया जो एक साल पहले 4.35 फीसदी था। 30 जून को खत्म पहली तिमाही में बैंक का शुद्ध मुनाफा 45.44 करोड़ रुपए था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser