• Hindi News
  • Business
  • You Can Also Earn Profit By Investing In FMCG, This Is The Fourth Largest Sector In Terms Of Indian Economy

पर्सनल फाइनेंस:FMCG में निवेश करके आप भी कमा सकते हैं फायदा, भारतीय अर्थव्यवस्था के लिहाज से ये चौथा सबसे बड़ा सेक्टर

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स (FMCG) में वो वस्तुएं आती हैं जिनका हमारे जीवन से गहरा सम्बन्ध है। ये वस्तुएं कम लागत वाली होती हैं लेकिन बार-बार खरीदी जाती हैं। हमारे रोजाना की वस्तुएं जिनका हम सुबह से शाम तक उपयोग करते हैं जैसे कि चाय पत्ती से लेकर चीनी तक और टूथपेस्ट से लेकर साबुन तक। सब FMCG की श्रेणी में आती हैं। यहां तक कि दवाइयां भी FMCG सेक्टर का ही हिस्सा हैं।

FMCG सेक्टर का महत्व
ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के फाउंडर और सीईओ पंकज मठपाल कहते हैं कि भारतीय अर्थव्यवस्था के लिहाज से FMCG चौथा सबसे बड़ा सेक्टर है। इस क्षेत्र को मोटे तौर पर 3 प्रमुख भागों में बांटा जा सकता है। पहला खाद्य और पेय पदार्थ हैं, जिनकी हिस्सेदारी 19% है। दूसरा स्वास्थ्य सेवाएं हैं, जिनका योगदान 31% है। इसमें सबसे ज्यादा 50% हिस्सेदारी प्रसाधन इत्यादि की वस्तुओं की है।

FMCG उत्पाद की 55% मांग शहरी इलाकों में
यदि हम शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के हिसाब से समझें तो FMCG उत्पाद की कुल मांग का 55% हिस्सा शहरों से आता है जबकि बाकी 45% ग्रामीण क्षेत्रों से। उम्मीद की जा सकती है कि ग्रामीण क्षेत्र में FMCG बाजार का आकार अगले 4 सालों में 14% सालाना की दर से बढ़ सकता है।

ऐसे समय में भी जब कोरोना महामारी ने पूरे उद्योग जगत को तबाह कर दिया था, FMCG सेक्टर में ग्रामीण क्षेत्र का मजबूत सहयोग रहा। इसके अलावा देखा गया कि जैसे-जैसे लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील दी गई है, FMCG कंपनियों ने मजबूत बिक्री दर्ज की है।

क्यों बढ़ रही मांग?
FMCG उत्पादों के बारे में जनता के बीच बढ़ती जागरूकता के कारण FMCG उद्योग तेजी से बढ़ रहा है। इसके अलावा इस उद्योग में तेजी के 2 प्रमुख कारण हैं। ई-कॉमर्स की बढ़ती मांग और इंटरनेट का ज्यादा इस्तेमाल। ऑनलाइन शॉपिंग FMCG कंपनियों के लिए बेहद मददगार साबित हुई है।

आज लगभग सभी FMCG ब्रांड अपनी वेबसाइट और मोबाइल ऐप के जरिए सामान बेचते हैं। इसके अलावा ज्यादातर कंपनियों ने प्रमुख ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म जैसे कि फ्लिपकार्ट और अमेजन इत्यादि के साथ भागीदारी की हुई है। इस प्रकार वे अपने उत्पादों को घर-घर आसानी से उपलब्ध करा रहे हैं।

इसमें कैसे कर सकते हैं निवेश?
FMCG सेक्टर में ग्रोथ का फायदा उठाने के इच्छुक निवेशकों के लिए कई ऑप्शन उपलब्ध हैं। पिछले प्रदर्शन की बात करें तो 2010 से लेकर 2020 तक निफ्टी FMCG टीआरआई इंडेक्स ने 11 में से 8 बार निफ्टी 50 इंडेक्स से बेहतर प्रदर्शन किया है। निवेशकों के पास FMCG सेक्टर पर आधारित म्यूचुअल फंड का ऑप्शन तो है ही साथ ही FMCG इंडेक्स पर आधारित एक्सचेंज ट्रेडेड फण्ड यानी कि ETF में भी निवेश किया जा सकता है।

एक्सचेंज ट्रेडेड फण्ड क्या है?
एक्सचेंज ट्रेडेड फण्ड म्यूचुअल फंड की तरह ही काम करते हैं लेकिन ये शेयरों की तरह स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट होते हैं। ETF में निवेश के लिए डीमैट अकाउंट की आवश्यकता होती है। ऐसे निवेशक जो औसत से अधिक जोखिम सहने की क्षमता रखते हैं वे FMCG सेक्टर में होने वाली वृद्धि का लाभ लेने के लिए इसमें निवेश कर सकते हैं।