पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Zomato IPO Listing; Stock Of Food Delivery Platform Zomato Listed On Exchange Tomorrow

जोमैटो की लिस्टिंग:कल ही होगी शेयरों की लिस्टिंग, पहले 27 जुलाई को होनी थी, शेयरों का अलॉटमेंट आज ही होगा

मुंबई7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ग्रे मार्केट में यह शेयर करीबन 100 रुपए के आस-पास कारोबार कर रहा है
  • शेयरों का अलॉटमेंट आप लिंक इनटाइम की वेबसाइट पर देख सकते हैं

फूड डिलिवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो का शेयर स्टॉक एक्सचेंज पर कल ही लिस्ट होगा। पहले यह 27 जुलाई को लिस्ट होना था। कंपनी इसे एडवांस में लिस्ट कराएगी। उधर, ग्रे मार्केट में इसका प्रीमियम 30-35% बढ़ गया है।

कई प्रोसेस पूरा करना है कंपनी को

हालांकि अभी भी कंपनी को लिस्टिंग से पहले तमाम प्रोसेस पूरा करना है। इसमें शेयरों का अलॉटमेंट, शेयरों की क्रेडिट और रिफंड जैसे प्रोसेस हैं। शेयरों का अलॉटमेंट आप लिंक इनटाइम की वेबसाइट पर देख सकते हैं। इसमें आपको सारी डिटेल डालनी होगी। जल्द लिस्टिंग की वजह से ग्रे मार्केट में अचानक इसका प्रीमियम बढ़ गया है। यह ग्रे मार्केट में करीबन 100 रुपए के आस-पास कारोबार कर रहा है। यानी इश्यू प्राइस से 30-35% ज्यादा पर कारोबार कर रहा है। इसका मतलब लिस्टिंग के दिन इसमें निवेशकों को अच्छा फायदा मिल सकता है।

लिस्टिंग वाले शेयरों से अच्छा फायदा

वैसे पिछले 1 साल में जो भी शेयर लिस्ट हुए हैं, उन्होंने लिस्टिंग और उसके बाद निवेशकों को अच्छा फायदा दिया है। प्राइमरी और सेकेंडरी दोनों बाजारों का सेंटिमेंट इस समय जबरदस्त तेजी में है। इसलिए अनुमान है कि जोमैटो का शेयर भी प्रीमियम पर लिस्ट हो सकता है। हालांकि इसका शेयर पहले ही ज्यादा महंगे भाव पर आया था और इसको इसी कारण निवेशकों का रिस्पांस भी कम मिला।

लगातार घाटा देने वाली कंपनी रही है

जोमैटो लगातार घाटा देने वाली कंपनी है। कंपनी ने 72 से 76 रुपए के मूल्य पर इश्यू लाया था। इसके जरिए इसने 9,375 करोड़ रुपए बाजार से जुटाया था। इसे 38 गुना रिस्पांस मिला था। इसमें क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (QIB) का हिस्सा 54.71 गुना भरा था जबकि गैर संस्थागत निवेशकों का हिस्सा 34.80 गुना भरा था। रिटेल का हिस्सा केवल 7.87 गुना भरा था।

मार्केट कैप 64,500 करोड़ रुपए हो सकता है

76 रुपए के भाव पर कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन 64,500 करोड़ रुपए होगा। यह भारत में सभी लिस्टेड क्विक सर्विस रेस्टोरेंट चेन की तुलना में ज्यादा है। साथ ही यह देश में लिस्टेड होटलों के मार्केट कैप की तुलना में भी ज्यादा है। देश में 20 लिस्टेड हॉस्पिटालिटी कंपनियां हैं और इनका कुल मार्केट कैप 45 हजार करोड़ रुपए है।

खबरें और भी हैं...