जोमैटो के ऑर्डर पर मिला जोरदार रिटर्न:जोमैटो का शेयर 115 पर लिस्ट होकर 138 रुपए पर पहुंचा, एक लाख करोड़ रुपए से ज्यादा हुई मार्केट वैल्यू

मुंबई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जोमैटो के निवेशकों को 76 रुपए की जगह 138 रुपए मिले हैं
  • 138 रुपए का मतलब IPO की तुलना में 82% का फायदा

जोमैटो का शेयर आज स्टॉक एक्सचेंज पर 115 रुपए पर लिस्ट हुआ है। इश्यू प्राइस की तुलना में यह 51% ज्यादा है। यानी निवेशकों को इतना फायदा मिला है। बाद में यह 138 रुपए पर कारोबार कर रहा था। हालांकि, शेयर ने 114 रुपए का निचला स्तर भी बनाया। इसका मार्केट कैप 1.08 लाख करोड़ रुपए के पार हो गया है।

पहले इसे 27 जुलाई को लिस्ट होना था। कंपनी ने इसे एडवांस में लिस्ट करा दिया है। ग्रे मार्केट में इसका प्रीमियम 30-35% बढ़ कर गुरुवार को कारोबार कर रहा था। वैसे बीते एक साल में जो भी शेयर लिस्ट हुए हैं, उन्होंने लिस्टिंग और उसके बाद निवेशकों को अच्छा फायदा दिया है। प्राइमरी और सेकेंडरी दोनों बाजारों का सेंटिमेंट इस समय जबर्दस्त तेजी में है।

जोमैटो के IPO को 38 गुना रिस्पॉन्स
जोमैटो के IPO में निवेश के लिए 72 से 76 रुपए प्रति शेयर प्राइस बैंड तय किया गया था। इसके जरिए कंपनी ने 9,375 करोड़ रुपए बाजार से जुटाए। इसे 38 गुना रिस्पॉन्स मिला था। इसमें क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (QIB) का हिस्सा 54.71 गुना भरा था, जबकि गैर संस्थागत निवेशकों का हिस्सा 34.80 गुना भरा था। रिटेल का हिस्सा केवल 7.87 गुना भरा था।

मार्केट कैप 1.08 लाख करोड़ रुपए
76 रुपए के भाव पर कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन 64,500 करोड़ रुपए होता है। हालांकि, लिस्टिंग 115 रुपए पर हुई है इसलिए इसका मार्केट कैप 1.08 लाख करोड़ रुपए हो गया है। यह भारत में सभी लिस्टेड क्विक सर्विस रेस्टोरेंट चेन की तुलना में ज्यादा है। साथ ही यह देश में लिस्टेड होटलों के मार्केट कैप की तुलना में भी ज्यादा है। देश में 20 लिस्टेड हॉस्पिटैलिटी कंपनियां हैं और इनका कुल मार्केट कैप 45 हजार करोड़ रुपए है।

QSR यानी क्विक सर्विस रेस्टोरेंट कंपनियों में जुबिलेंट फूड्स का मार्केट कैप सबसे ज्यादा 41,496 करोड़ रुपए, जबकि वेस्टलाइफ का 7,990 करोड़ रुपए है। बर्गर किंग का 6,058 करोड़ रुपए है। बार्बीक्यू नेशन का 3,324 करोड़ रुपए है। इसी तरह होटल कंपनियों में इंडियन होटल का 17,446 करोड़ मार्केट कैप है। यह सबसे ज्यादा है। EIH का मार्केट कैप 7,053 करोड़ रुपए, शलेट होटल का 3,893 करोड़, महिंद्रा हॉलिडे का 3,781, इंडिया टूरिज्म का 3,392 करोड़, लेमन ट्री का 3,351 करोड़ रुपए मार्केट कैप है।

2.13 लाख करोड़ रुपए के लिए डिमांड मिली थी
जोमैटो के IPO को कुल 2.13 लाख करोड़ रुपए की डिमांड मिली थी। भारतीय शेयर बाजार में अब तक सबसे ज्यादा डिमांड के मामले में यह तीसरा IPO है। इससे पहले रिलायंस पावर और कोल इंडिया को सबसे ज्यादा डिमांड मिली थी। डिमांड का मतलब कुल कितने पैसों के लिए कंपनी को एप्लीकेशन मिली, उससे जुड़ा है। जोमैटो में कुल 32 लाख रिटेल एप्लीकेशन मिलीं, जबकि रिलायंस पावर में 47 लाख एप्लीकेशन मिली थीं। इसी साल इंडिगो पेंट्स के IPO को 30 लाख एप्लीकेशन मिली थीं। यह 117 गुना भरा था।

जोमैटो का चूंकि IPO साइज बड़ा था, इसलिए उसे 2 लाख करोड़ से ज्यादा की डिमांड मिली। जबकि हाल के सालों में 200 गुना तक सब्सक्राइब होने वाले IPO की डिमांड काफी कम रही है, क्योंकि उनका साइज छोटा रहा है। जोमैटो देश में पहला यूनिकॉर्न स्टार्टअप रहा है जो IPO लाया है। इसलिए निवेशकों का इसमें उत्साह बना हुआ था। हालांकि यह लगातार घाटा देने वाली कंपनी रही है।

रिटेल निवेशकों की दिलचस्पी
सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि जोमैटो के IPO में रिटेल निवेशकों ने बहुत ज्यादा दिलचस्पी नहीं ली है। केवल 7.87 गुना भरा था। जबकि इस साल जो IPO आए हैं उसमें अधिकतर में रिटेल का हिस्सा 10 गुना से ज्यादा भरा है। इजी ट्रिप में तो यह 70 गुना तक भरा है।

525 शहरों में है सेवा
जोमैटो इस समय देश के 525 शहरों में सेवा देती है। इसके पास 3.89 लाख रेस्टोरेंट लिस्टेड हैं। भारत के बाहर 23 देशों में इसकी सेवा है। कंपनी को वित्त वर्ष 2018-2019 में 1,397 करोड़ का रेवेन्यू हुआ था। इस पर 1,010 करोड़ का घाटा था। 2019-20 में 2,742 के रेवेन्यू पर 2,385 करोड़ का घाटा था। 2020-21 में 2,118 करोड़ के रेवेन्यू पर 816 करोड़ रुपए का घाटा था।

हाल के IPO ने दिया है फायदा
पिछले साल लिस्ट हुए जिन IPO के शेयरों ने बेहतरीन फायदा निवेशकों को दिया है, उसमें हैप्पिएस्ट माइंड के शेयर ने करीबन 8 गुना का फायदा दिया है। इसका IPO सितंबर 2020 में 166 रुपए पर आया था। अब यह 1,491 रुपए पर कारोबार कर रहा है। रूट मोबाइल भी सितंबर 2020 में IPO लाया था। यह 350 रुपए पर आया था और अभी 2,060 रुपए पर कारोबार कर रहा है। यानी 4.88 गुना का फायदा मिला है।

एंजल ब्रोकिंग ने 3.15 गुना का फायदा दिया
ब्रोकिंग कंपनी एंजल ब्रोकिंग के IPO ने 3.15 गुना का फायदा दिया है। अक्टूबर 2020 में इसका IPO 306 रुपए पर आया था। अब यह 1,271 रुपए पर कारोबार कर रहा है। रोजारी बायोटेक का इश्यू जुलाई 2020 में आया था। एक साल बाद इसने 1.94 गुना का फायदा दिया है। इसका शेयर अभी 1,251 रुपए पर कारोबार कर रहा है।

बर्गर किंग ने जमकर धमाल मचाया
बर्गर किंग ने जमकर धमाल मचाया था। 60 रुपए पर इसका इश्यू आया था। 4 दिनों में यह 220 रुपए तक पहुंच गया था। हालांकि बाद में यह 130 रुपए तक गया और अब 175 रुपए पर है। यानी इसने 2 गुना के करीब फायदा दिया है। एमटीएआर का इस साल मार्च में इश्यू आया था। 575 रुपए पर आए इस IPO के शेयर का भाव अब 1,495 रुपए है। 1.60 गुना का फायदा दिया है। इजी ट्रिप भी इसी साल मार्च में लिस्ट हुआ था। 187 रुपए का यह इश्यू अभी 411 रुपए पर है। यानी 1.20 गुना का फायदा है। लक्ष्मी ऑर्गेनिक भी मार्च 2021 में इश्यू लाया था। इसने सबसे कम 94% का फायदा दिया है। यह अभी 252 रुपए पर कारोबार कर रहा है।

34 कंपनियों के शेयरों ने दिया लिस्टिंग पर फायदा
पिछले साल कुल 38 कंपनियां स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट हुई थीं। इसमें से 34 कंपनियों के शेयर का भाव उनके IPO के भाव से ज्यादा भाव पर कारोबार कर रहा है। यानी केवल 10% इश्यू ही निवेशकों को घाटा दिए हैं। निवेशकों की नजर कल लिस्ट होने वाले जोमैटो के इश्यू पर है। यह हाल में आए IPO में सबसे कम सब्सक्रिप्शन वाला इश्यू रहा है। यह केवल 38 गुना भरा है।