• Hindi News
  • Business
  • Zomato Loss Widens To ₹360 Crore In March Quarter, Revenue Up 75% To ₹1212 Crore

जोमैटो का घाटा करीब तीन गुना बढ़ा:कंपनी का मार्च तिमाही में घाटा ₹360 करोड़ पर पहुंचा, रेवेन्यू 75% बढ़कर 1212 करोड़ हुए

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ऑनलाइन फूड एग्रीगेटर जोमैटो लिमिटेड ने सोमवार को मार्च तिमाही के नतीजे घोषित किए। कंपनी का इस तिमाही में घाटा (consolidated loss) बढ़कर 360 करोड़ रुपए हो गया। एक साल पहले की समान अवधि में जोमैटो को 131 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।

यानी घाटा करीब तीन गुना बढ़ गया है। हालांकि कंपनी का रेवेन्यू 75% बढ़कर 1212 करोड़ रुपए हो गए जो पिछले साल 692 करोड़ थे। सोमवार को जोमैटो का शेयर NSE पर 2.15% की गिरावट के साथ 56.80 रुपए पर बंद हुआ।

ग्रॉस ऑर्डर वैल्यू ऑल टाइम हाई पर
जोमैटो की तिमाही के दौरान ग्रॉस ऑर्डर वैल्यू (GOV) तिमाही-दर-तिमाही 6% और सालाना आधार पर 77% बढ़कर 5,850 करोड़ रुपए के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई। एवरेज मंथली ट्रांजैक्टिंग कस्टमर्स इस तिमाही में बढ़कर 1.57 करोड़ हो गए जो कि ऑल टाइम हाई है। पिछली तिमाही में ये 1.53 करोड़ थे। इसी तरह, एवरेज मंथली एक्टिव रेस्टोरेंट पार्टनर और डिलीवरी पार्टनर भी ऑल टाइम हाई पर थे।

300+ नए शहरों में सर्विस लॉन्च
जोमैटो ने कहा, 'हमने Q4FY22 में 300+ नए शहरों में अपनी सर्विस लॉन्च की है। अब जोमैटो पूरे भारत में 1,000+ कस्बों और शहरों में मौजूद हैं।' कंपनी के CEO दीपिंदर गोयल ने कहा, 'हम क्विक कॉमर्स पर बुलिश बने हुए हैं खासकर यह देखते हुए यह हमारे फूड डिलिवरी बिजनेस के लिए कितना जरूरी है।' उन्होंने कहा, 'ब्लिंकिट ने इस स्पेस में जो प्रोग्रेस की है, उससे उत्साहित हैं।

हालांकि अभी बहुत कुछ करना है क्योंकि बिजनेस अपने शुरुआती चरणों में है। पिछले छह महीनों में ब्लिंकिट की ग्रोथ अच्छी रही है, और इसके ऑपरेशनल लॉस में भी काफी कमी आई है। हम उनकी शॉर्ट टर्म कैपिटल जरूरतों को पूरा करने के लिए 150 मिलियन डॉलर का लोन देने के लिए कमिटेड है। इसके अलावा, इस समय शेयर करने के लिए कुछ भी नहीं है।'