• Hindi News
  • Career
  • Average Package Of IIT Management Students Is More Than IIM, Only 3 Institutes Including IIM Ahmedabad Are Ahead Of IITs

जॉब प्लेसमेंट:आईआईएम अहमदाबाद सहित 3 इंस्टीट्यूशंस ही IIT से आगे, छात्रों को मिलने वाले औसत पैकेज के मामले में भी आईटी मैनेजमेंट ने मारी बाजी

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में श्रेष्ठ इंजीनियरिंग स्टडीज के लिए पहचाने जाने वाले आईआईटीज अब मैनेजमेंट की पढ़ाई और पैकेज में अधिकांश आईआईएम से आगे निकल रहे हैं। मैनेजमेंट के क्षेत्र में आईआईटी व आईआईएम के पिछले तीन सालों के औसत सैलरी पैकेज के आंकड़े इस तथ्य को प्रमाणित भी करते हैं। मात्र आईआईएम अहमदाबाद, बेंगलुरु और कलकत्ता ही प्रमुख आईआईटी से पैकेज के मामले में आगे हैं। यहां तक कि साल 2018-19 के प्लेसमेंट में आईआईटी बॉम्बे के स्टूडेंट्स को आईआईएम कोझिकोड के छात्रों से अधिक औसत पैकेज ऑफर हुआ।

आईआईटी दिल्ली, बॉम्बे और खड़गपुर प्रबंधन के क्षेत्र में अधिकांश आईआईएम से आगे निकल रहे हैं। दूसरी ओर क्वालिटी रिसर्च पब्लिकेशन में आईआईटी दिल्ली और खड़गपुर ने आईआईएम अहमदाबाद, बेंगलुरु, कलकत्ता और कोझिकोड को भी पीछे छोड़ दिया है।

एमबीए पास आउट छात्रों से कम पैकेज

एमबीए के लिए दोनों ही संस्थानों में प्रवेश लेने वाले छात्र ग्रेजुएट और अधिकांश टेक्निकल बैकग्राउंड से होते हैं। योग्यता लगभग एक जैसी होने के बावजूद कंपनियां आईआईटीज के छात्रों को प्लेसमेंट में प्राथमिकता देने के साथ ही अच्छा पैकेज भी ऑफर कर रही हैं। दूसरी ओर, आईआईटी दिल्ली, बॉम्बे और खड़गपुर के एमटेक पास आउट छात्रों को साल 2016-17 से लेकर 2018-19 तक वहां के ही एमबीए पास आउट छात्रों से कम पैकेज मिला है।

कैट टॉपर्स की पसंद आईआईएम अहमदाबाद, बेंगलुरु और कलकत्ता

आईआईटीज की मैनेजमेंट स्ट्रीम में पहले जीमैट से प्रवेश मिलता था, लेकिन इसके बाद कैट के स्कोर पर दाखिला मिलने लगा। आईआईटीज में भी ग्रुप डिस्कशन, पर्सनल इंटरव्यू और राइटिंग एबिलिटी टेस्ट आयोजित किए जाते हैं। हालांकि कैट टॉपर्स की पहली पसंद आईआईएम अहमदाबाद, बेंगलुरु और कलकत्ता ही हैं। विभिन्न आईआईटीज ने 2022 के लिए अपना एडमिशन शेड्यूल जारी कर दिया है। कैट का आयोजन भी 28 नवंबर को हो चुका है। हालांकि परीक्षा परिणाम की तारीख अब तक घोषित नहीं की गई है।

आईआईटीज में स्टूडेंट्स को टेक्नोलॉजी का भी फायदा

आईआईटी में एमबीए छात्रों को टेक्नोलॉजी का फायदा भी मिलता है। वहां मैनेजमेंट और टेक्नाेलॉजी का फ्यूजन है, जो आईआईएम में नहीं है। आईआईएम में अधिकांश कोर्स पीजी स्तर के हैं। आईआईटी में छात्र 12वीं के बाद चला जाता है। बीटेक पास आउट जब एमबीए के लिए जाता है तो पहले ही कैंपस प्लेसमेंट के इंटरव्यू दे चुका होता है। इसका फायदा उसे एमबीए के इंटरव्यू में मिलता है।