• Hindi News
  • Career
  • Due To The Harsh Comments Of The Supreme Court, The Central Government Changed The Decision, National Eligibility cum Entrance Test Super Specialty Will Be From The Old Pattern

नीट-एसएस 2021:सुप्रीम कोर्ट की तल्ख टिप्पणियों के चलते केंद्र सरकार ने बदला फैसला, राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा-सुपर स्पेशियलिटी पुराने पैटर्न से होगी

20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा-सुपर स्पेशियलिटी (नीट-एसएस)-2021 इस वर्ष पुराने पैटर्न से ही होगीपैटर्न में अंतिम पलों में किए बदलाव पर सुप्रीम कोर्ट की तल्ख टिप्पणियों के चलते केंद्र सरकार ने अपना फैसला बदल लिया है। सरकार ने बुधवार को जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ को यह जानकारी दी। सरकार ने कहा, छात्रों के व्यापक हित में निर्णय बदलते हुए तय किया गया है कि इस बार नीट-एसएस पुराने पैटर्न पर होगा। नया पैटर्न 2022-23 सत्र से लागू होगा।

इसके बाद कोर्ट ने याचिका का निपटारा कर दिया। हालांकि कोर्ट ने स्पष्ट किया कि पैटर्न की वैधता का मुद्दा खुला है, भविष्य में इस पर सवाल उठे तो कोर्ट में सुनवाई होगी। दरअसल, राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड और राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग ने नीट-एसएस परीक्षा के पैटर्न में बदलाव किया था। 41 पोस्ट ग्रेजुएट डाॅक्टरों ने सुप्रीम कोर्ट में इसे चुनौती दी थी। इस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने सरकार पर सवाल उठाया था कि नया पैटर्न लागू करने में इतनी जल्दबाजी क्यों की गई?

ऐसा लगता है कि निजी कॉलेजों की सीटें भरने के लिए यह फैसला हुआ। बुधवार को केंद्र की ओर से एडिशनल सॉलिसिटर जनरल ऐश्वर्या भाटी ने कहा, कोर्ट की टिप्पणियों और छात्रों के हित में सरकार ने परीक्षा पुराने पैटर्न पर कराने का निर्णय लिया है।