• Hindi News
  • Career
  • IIT Delhi Provides Placement To More Than 1100 Students During The Epidemic, Broke Last Year's Record By The Increase Of 4%

IIT दिल्ली:महामारी के बीच 1100 से ज्यादा स्टूडेंट्स का हुआ प्लेसमेंट, 4% की बढ़ोतरी के साथ टूटा पिछले साल का रिकॉर्ड

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • इंस्टीट्यूट के 85.6% यूजी और पीजी स्टूडेंट्स को मिले जॉब ऑफर
  • महामारी के कारण प्लेसमेंट का दूसरा चरण ऑनलाइन आयोजित किया गया

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी  (IIT) दिल्ली ने इस साल कोरोना महामारी के बीच 1100 से ज्यादा प्लेसमेंट ऑफर हासिल कर नया रिकॉर्ड बनाया है। इसके साथ ही संस्थान ने अपने ही पिछले साल के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए कोरोना संकट के कारण अर्थव्यवस्था में आई मंदी के बीच भी इंस्टीट्यूट के 85.6% यूजी और पीजी स्टूडेंट्स को नौकरी के प्रस्ताव मिले। हालांकि, कई स्टूडेंट्स ने उच्च शिक्षा, रिसर्च, सिविल सेवा परीक्षा, स्टार्ट-अप या अपने खुद के संपर्कों और प्रयासों के जरिए नौकरी हासिल की।

प्लेसमेंट ऑफर में 4% की बढ़ोतरी 

IIT दिल्ली के करिअर सेवा (OCS) के प्रमुख, प्रो एस धर्मराज के मुताबिक, “IIT दिल्ली ने प्लेसमेंट के मामले में पिछले सभी वर्षों के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। इस साल, प्लेसमेंट ऑफर में 4% की बढ़ोतरी हुई। उन्होंने इसका श्रेय टीम वर्क, डाइनेमिक स्ट्रेटेजी, स्टूडेंट्स के स्किल्स आदि को दिया। इस साल 430 से ज्यादा ऑर्गेजाइजेशन ने एकेडमिक ईयर 2019-2020 में 600 से ज्यादा जॉब प्रोफाइल की पेशकश करते हुए प्लेसमेंट सीजन के लिए रजिस्ट्रेशन किया था। महामारी के कारण,  प्लेसमेंट का दूसरा चरण ऑनलाइन आयोजित किया गया। इसमें करीब 100 स्टूडेंट्स को जॉब मिली। 

IIT में मद्रास में सिर्फ 24 प्लेसमेंट

इसके अलावा देश के अन्य आईआईटीज में भी इस तरह के प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन किया गया। हालांकि इसका ज्यादा अच्छा परिणाम देखने को नहीं मिला है। आईआईटी मद्रास में महामारी के कारण करीब 24 जॉब ऑफर किए गए। इस साल संस्थान ने स्टूडेंट्स को 924 जॉब ऑफर किए, जिसमें 241 यूजी स्टूडेंट्स, दो डिग्री वाले 221 और पीजी के 336 स्टूडेंट्स शामिल हैं।