पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Career
  • Meet Constable Thanh Singh Who Started Class For Children Deprived Of Online Education, Giving Free Education To Children Living In Slums For The Past 10 Years

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नेकदिली:ऑनलाइन पढ़ाई से वंचित बच्चों के लिए दिल्ली पुलिस में कॉन्सटेबल थान सिंह ने शुरू की क्लास, बीते 10 साल से झुग्गियों में रहने वाले बच्चों को दे रहे मुफ्त शिक्षा

3 महीने पहले

कोरोना महामारी के कारण बंद पड़े स्कूलों की वजह से बच्चों की पढ़ाई को काफी नुकसान हो रहा है। इससे सबसे ज्यादा झुग्गी बस्ती में रहने वाले बच्चे प्रभावित हो रहे है। कोरोना काल में पढ़ाई ऑनलाइन होने के बाद संसाधनों के अभाव में झुग्गी बस्ती में रहने वाले बच्चे शिक्षा से वंचित हो गए है। ऐसे में दिल्ली पुलिस के एक सिपाही थान सिंह ने ऐसे बच्चों की पढ़ाई का बीड़ा उठाया है।

लॉकडाउन के बाद फिर शुरू की क्लासेस

लाल किले की पार्किंग में स्थित साईं मंदिर में सिपाही ने गरीब और जरूरतमंद बच्चों के लिए दोबारा पाठशाला शुरू कर दी है। राजस्थान के अलवर के रहने वाले थान सिंह वर्तमान में द्वारका में रहते हैं। उत्तरी दिल्ली के कोतवाली थाने में सिपाही पद पर तैनात थान सिंह लॉकडाउन से पहले भी गरीब परिवारों के बच्चों को मुफ्त में शिक्षा देते थे। लेकिन, लॉकडाउन होने के कारण इन बच्चों की शिक्षा अधूरी रह गई थी।

रोजाना 30 से 35 बच्चे आते हैं पढ़ने

अनलॉक होते ही उन्होंने बच्चों की पढ़ाई दोबारा से शुरू तो की गई, लेकिन उसे ऑनलाइन कर दिया गया। ऐसे में ऑनलाइन पढ़ाई से वंचित रह गए बच्चों को देख सिपाही ने कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए ड्यूटी से छुट्टी मिलने के बाद बच्चों को पढ़ाना शुरू कर दिया है। उनकी क्लास में रोजाना 30 से 35 बच्चे पढ़ने आते हैं। थान सिंह बताते है कि वह करीब 10 साल से पढ़ा रहे हैं। उनका मकसद समाज को शिक्षित करना है और बच्चों को संस्कारवान बनाना है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser