• Hindi News
  • Career
  • NTA Has Released NEET UG 2021 Result, Candidates Can Check It By Visiting Neet.nta.nic.in

NEET UG Result 2021 released:एनटीए ने जारी किया नीट यूजी 2021 रिजल्ट, कैंडिडेट्स इसे रजिस्टर्ड ई मेल आईडी पर चेक करें

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने आज नीट यूजी 2021 का रिजल्ट जारी कर दिया है। एनटीए ने नीट यूजी के रिजल्ट के साथ एग्जाम की फाइनल आंसर-की भी जारी की है। मेडिकल के अंडर ग्रेजुएट कोर्स में एडमिशन के लिए होने वाली नीट यूजी 2021 एग्जाम में करीब 16 लाख उम्मीदवार शामिल हुए थे। नीट यूजी 2021 में शामिल उम्मीदवार अपना रिजल्ट एनटीए की वेबसाइट neet.nta.nic.in पर विजिट करके चेक कर सकते हैं।

तीन स्टूडेंट्स को मिले फुल मार्क्स

नीट यूजी 2021 एग्जाम में तेलंगाना की मृणाल कुट्टेरी, दिल्ली के तन्मय गुप्ता और महाराष्ट्र की कारिका जी. नायर ने टॉप रैंक हासिल की है। इन सभी को फुल मार्क्स मिले हैं। NTA का कहना है कि इन तीनों कैंडिडेट्स के लिए काउंसिलिंग स्टेज में टाई-ब्रेकिंग फॉर्मूला लागू किया जाएगा। परीक्षा में गलत तरीके इस्तेमाल करने की वजह से 15 स्टूडेंट‌्स का रिजल्ट रद्द कर दिया गया है।

स्कोर कार्ड स्टूडेंट्स के रजिस्टर्ड ईमेल आईडी पर भेजे जाएंगे

नीट यूजी 2021 एग्जाम का आयोजन 12 सितंबर 2021 को देश भर में किया गया था। हालांकि पिछले कुछ सालों में नीट यूजी के रिजल्ट एग्जाम के एक महीने के अंदर ही जारी कर दिए जाते हैं। लेकिन इस बार मामला कोर्ट में जाने की वजह देरी हुई। एनटीए के अनुसार, नीट यूजी 2021 का स्कोर कार्ड स्टूडेंट्स के रजिस्टर्ड ईमेल आईडी पर भेजे जाएंगे। स्कोर कार्ड रिजल्ट जारी होने के साथ ईमेल पर पहुंचने भी लगे हैं। स्टूडेंट्स अपने रिजल्ट neetresults.nic.in, nta.ac.in, and neet.nta.nic.in पर चेक कर सकते हैं। एनटीए जल्द ही टॉपर्स की लिस्ट भी जारी करेगा।

ऐसे चेक करें रिजल्ट

  • सबसे पहले एनटीए के पोर्टल neet.nta.nic.in पर जाएं।
  • अब होम पेज पर नीट यूजी 2021 के रिजल्ट का लिंक मिलेगा।
  • इस पर क्लिक करने पर नया पेज ओपन होगा।
  • यहां अपना लॉग इन क्रेडेंशियल दर्ज करके सबमिट करें।
  • अब रिजल्ट ओपन हो जाएगा। इसे डाउनलोड कर सकते हैं।

जानिए रिजल्ट आने में क्यों हुई देरी

बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिकाकर्ता वैष्णवी भोपाली और अभिषेक शिवाजी ने आरोप लगाया था कि उन्हें अंडरग्रेजुएट मेडिकल एंट्रेंस एग्‍जाम में अलग-अलग सीरियल्‍स वाले प्रश्न पत्र और आंसरशीट सौंपी गईं थी। जिस पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि याचिकाकर्ताओं को रेस्‍पॉन्‍डेंट की गलती की वजह से नुकसान नहीं उठाना चाहिए।

उनके लिए एग्जाम नए सिरे से आयोजित की जानी चाहिए और उन्हें परीक्षा की तारीख और केंद्र के बारे में 48 घंटे के अंदर सूचना दी जानी चाहिए। वहीं इस पर एनटीए की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने चीफ जस्टिस एनवी रमना की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच को बताया था कि हाईकोर्ट के आदेश के चलते नतीजे रोके जा रहे हैं, जिससे लाखों कैंडिडेट्स प्रभावित हो रहे हैं।