• Hindi News
  • Career
  • These 5 Options Are The Choice Of Youth Who Choose Different Careers, Earn Money And Respect By Becoming A Biochemist To Aeronautical Engineering

युवा दिवस:डिफरेंट कॅरिअर चुनने वाले युवाओं की पसंद ये 5 ऑप्शंस, बायोकेमिस्ट से लेकर एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग बनकर कमाएं पैसा और सम्मान

13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

वो जमाने गए जब डॉक्टर या इंजीनियर बनना हर युवा की चाहत होती थी। अब समय के साथ करिअर के डिफरेंट और नए ऑप्शंस युवाओं की पहली पसंद साबित हो रहे है। इन ऑप्शंस के माध्यम से एक ओर जहां हमारे देश में नौकरी के कई अवसर उपलब्ध हैं, वहीं विदेशों में भी हाई पैकेज वाली जॉब मिलने लगी है। युवा दिवस पर युवाओं के लिए ऐसे ही पांच करिअर विकल्प पर एक नजर :

फूड टेक्नोलॉजी में करियर स्कोप

  • ऑर्गनिक केमिस्ट्स के तौर पर, फूड टेक्नोलॉजिस्ट्स ऐसे मेथड्स के बारे में जानकारी और सलाह देते हैं, जिन मेथड्स से रॉ फूड आइटम्स को प्रोसेस्ड फूड में बदला जाता है।
  • बायोकेमिस्ट्स के तौर पर, ये लोग फूड आइटम्स के फ्लेवर, टेक्सचर, स्टोरेज और क्वालिटी में सुधार लाने के तरीके सजेस्ट करते हैं।
  • होम इकोनोमिस्ट्स के तौर पर, ये डायटेटिक्स और न्यूट्रीशन में एक्सपर्ट होते हैं और कंटेनर्स पर दिए गये निर्देशों के अनुसार फूड और उनकी रेसिपीज को टेस्ट करते हैं।
  • इंजीनियर्स के तौर पर, ये लोग प्रोसेसिंग सिस्टम्स की प्लानिंग, डिजाइनिंग, इम्प्रूविंग और मेनटेनिंग से जुड़े कार्य करते हैं।
  • रिसर्च साइंटिस्ट्स बनकर पैकेज्ड फूड के प्रोडक्ट्स, फ्लेवर, न्यूट्रीटिव वैल्यू और सामान्य एक्सेप्टेबिलिटी में सुधार लाने के लिए विभिन्न एक्सपेरिमेंट्स करते हैं।
  • मैनेजर्स और अकाउंटेंट्स के तौर पर, ये पेशेवर प्रोसेसिंग से जुड़े कामों को सुपरवाइज करने के अलावा एडमिनिस्ट्रेशन और फायनेंस को मैनेज करने के कार्य करते हैं।

बायोटेक्नोलॉजी

बायोटेक्नोलॉजी की फील्ड का विकास बड़ी तेज रफ्तार से हो रहा है और बायोटेक्नोलॉजी में डिप्लोमा/ बीटेक/ एमटेक या डॉक्टोरल डिग्री करने वाले छात्रों के लिए अवसरों की कोई कमी नहीं है। चाहे वह कोई प्राइवेट सेक्टर हो या गवर्नमेंट जॉब, बायोटेक कैंडिडेट्स को विभिन्न कंपनियों में बेहतरीन जॉब प्रोफाइल्स मिल सकते हैं।

बायोटेक्नोलॉजी में करियर स्कोप

1. क्लिनिकल लैबोरेटरी टेक्निशियन

2. बायोलॉजिकल सप्लाइज मैन्युफैक्चरर

3. एनवायर्नमेंटल टेक्निशियन

4. फूड सेफ्टी टेक्निशियन

5. फार्मास्युटिकल रिसर्च टेक्निशियन

मार्केटिंग मैनेजमेंट कोर्सेस

मार्केटिंग मैनेजमेंट के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाले छात्रों को कुछ स्किल्स डेवलप करना होती है जिन्हें छात्र थोड़ी सी मेहनत से हासिल कर सकते हैं। मार्केटर्स अच्छे कम्युनिकेशन स्किल वाले कैंडिडेट्स को ज्यादा महत्व देते हैं ताकि वह आसानी से अपनी बातों से कस्टमर्स को प्रभावित कर सके।

मार्केटिंग मैनेजमेंट कोर्सेस का करियर स्कोप

मार्केटिंग प्रोफेशनल्स के पास बड़े ब्रांड वाली कम्पनियों जैसे भारती एयरटेल, हिंदुस्तान यूनिलीवर, सोनी इंडिया और पेप्सिको आदि में काम करने का मौका हमेशा रहता है। जैसे-जैसे उनका अनुभव बढ़ता जाता है, बड़े ब्रांड में काम करने का अवसर उतना ही ज्यादा उपलब्ध होता है। भारत में कुछ ऐसी कम्पनियां हैं जो अनुभवी तथा प्रोफेशनली स्मार्ट मार्केटिंग मैनेजर्स को बिना किसी शर्त जॉब देती हैं।

एयरोनॉटिकल इंजीनियर्स

एयरोनॉटिकल इंजीनियर्स एयरक्राफ्ट, एयरोस्पेस इक्विपमेंट, स्पेसक्राफ्ट, सैटेलाइट्स और मिसाइल्स के डिजाइन, रिसर्च और प्रोडक्शन से संबद्ध कार्य करते हैं। इन इंजीनियर्स के कार्यों में एयरक्राफ्ट और मिसाइल्स के रिसर्च और विकास कार्य, टेस्टिंग, पार्ट्स असेंबली से संबद्ध कार्य और मेंटेनेंस कार्य शामिल हैं।

कुछ एयरोनॉटिक इंजीनियर्स एनवायरनमेंट पर एयरक्राफ्ट के प्रभाव, नई एयरक्राफ्ट टेक्नोलॉजिस के संभावित जोखिम और फ्यूल एफिशिएंसी संबंधी विषयों की स्टडी में महारत हासिल करते हैं। एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग के तहत ही कोई व्यक्ति एयरक्राफ्ट सिस्टम्स को डिजाइन करने पर भी फोकस कर सकता है और इस काम को एवियोनिक्स के नाम से भी जाना जाता है।

एयरोनॉटिकल इंजीनियर्स की जॉब प्रोफाइल

एयरोनॉटिकल इंजीनियर्स सुपरसोनिक जेट्स, हेलीकॉप्टर्स, स्पेस शटल्स, सैटेलाइट्स और रॉकेट सर्च एवं सिलेक्शन से संबद्ध एक्स्ट्राऑर्डिनरी टेक्नोलॉजिस के विकास और डिजाइन से संबद्ध कार्य भी करते हैं।

इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं रियल-एस्टेट

अगर आपमें ज्यादा पैसा कमाने की इच्छा और लगन है और आप 24 घंटे, सातों दिन कठिन परिश्रम करते हुए बिल्डर्स, कंसल्टेंट्स, मजदूर एवं साईट मैनेजर की टीम को मार्गदर्शन दे सकते हैं तो इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं रियल-एस्टेट का क्षेत्र आपके लिए है।

एक बिल्डर के तौर पर आपको सीमेंट, चूना मसाला, ईंट एवं अन्य कच्चा सामान खरीदकर मजदूरों और आर्किटेक्ट को तय करना होता है। बिल्डर का कार्य पुरानी, गिरवी रखी हुई और वाद-विवाद वाली जमीन, प्लॉट या घर को कानूनी तौर पर सही बनाकर उसे बेचने योग्य बनाना भी होता है। इस काम को आसान बनाने के लिए भारत में इंडिया प्रॉपर्टी डॉट कॉम, 99 एकड़ डॉट कॉम और इंडिया हाउसिंग डॉट कॉम जैसी वेबसाइट सारे देश में प्रॉपर्टी खरीदने और बेचने की सुविधा प्रदान कर रही हैं।

भारत की टॉप-टेन रियल-एस्टेट कम्पनियों में अम्बुजा रियल्टी ग्रुप, डीएलएफ बिल्डिंग, सन सिटी प्रोजेक्ट्स, मर्लिन ग्रुप्स और मैजिक ब्रिक्स शामिल हैं।