नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप / अंडर-19 के चैंपियन बने साईं विष्णु पुलेला, फाइनल में गिरिश-शंकरप्रसाद की जोड़ी को हराया

बॉयज अंडर-19 डबल्स टाइटल जीतने वाले साईं विष्णु पुलेला मां के साथ। बॉयज अंडर-19 डबल्स टाइटल जीतने वाले साईं विष्णु पुलेला मां के साथ।
X
बॉयज अंडर-19 डबल्स टाइटल जीतने वाले साईं विष्णु पुलेला मां के साथ।बॉयज अंडर-19 डबल्स टाइटल जीतने वाले साईं विष्णु पुलेला मां के साथ।

  • रविकृष्ण के साथ जीता बॉयज अंडर-19 डबल्स टाइटल, पहली बार दोनों चंडीगढ़ नेशनल में खेले 
  • दो सालों से कर रहेे थे सिंगल्स पर फोकस, यहां साईं विष्णु पुलेला दोनों इवेंट में खेलना पड़ा

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2020, 06:19 PM IST

चंडीगढ़ (गौरव मारवाह). ऑल इंडिया जूनियर नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप के बॉयज डबल्स अंडर-19 में नया नेशनल चैंपियन मिला है। नेशनल कोच पुलेला गोपीचंद के बेटे साईं विष्णु पुलेला के बेटे ने पहली बार यहां पर डबल्स में खेला और टाइटल हासिल किया। वे छठी सीड रविकृष्णा पीएस के साथ जोड़ी बनाकर खेल रहे थे और दोनों ने फाइनल में चौथी सीड गिरिश नायडू और शंकरप्रसाद उदयकुमार की जोड़ी को तीन सेट में हराया।

साईं विष्णु और रविकृष्णा की जोड़ी को पहले सेट में 18-21 से हार का सामना करना पड़ा लेकिन अगले दो सेट में उन्होंने कमबैक किया। साईं और रवि ने दूसरा सेट 21-18 से जीता जबकि तीसरे सेट को 21-16 से जीतकर टाइटल पर कब्जा कर लिया। नेशनल कोच गोपीचंद की मां पुलेला सुभरावम्मा हमेशा साईं के साथ रहती हैं।

भास्कर के साथ बात करते हुए उन्होंने कहा कि साईं पिछले दो सालों से सिंगल्स पर ही फोकस कर रहा है। यही उसका इवेंट है, लेकिन यहां उसे दोनों इवेंट में खेलना पड़ा। रवि के पास पार्टनर नहीं था, इसलिए उसने गोपी सर से बात की और साईं पुलेला को उसका पार्टनर बनाने के लिए कहा। हेड कोच के कहने पर ही साईं ने डबल्स में खेला।

चंडीगढ़ हमेशा हमारे लिए लकी रहा है
नेशनल कोच गोपीचंद की मां सुभरावम्मा ने कहा कि चंडीगढ़ नेशनल हमेशा हमारे लिए लकी रहा है। यहीं पर गायत्री ने 14 साल की उम्र में अंडर-19 सिंगल्स टाइटल जीता था। अपनी से बड़ी उम्र की प्लेयर्स को हराना उसके लिए आसान नहीं था। साईं विष्णु ने भी यहां पर अंडर-19 कैटेगरी का पहला डबल्स टाइटल चंडीगढ़ में ही हासिल किया है। मैं कह सकती हूं कि चंडीगढ़ में खेलना हमारे लिए बेहद लकी रहता है। सुभरावम्मा ने कहा कि घर पर परिवार के पूरे सदस्य का फोकस बैडमिंटन पर ही होता है। साईं और गायत्री लगातार नेशनल कोचेज के साथ ट्रेनिंग करते हैं। मैं साईं के साथ ट्रैवल करती हूं और दोनों की मां गायत्री के साथ रहती हैं।

मैं खुश हूं कि मैं रवि के साथ ये टाइटल जीत पाया। हमने पहले एक साथ नहीं खेला था लेकिन इसके बाद भी हमने एक दूसरे पर विश्वास रखा और टाइटल जीता।
साईं विष्णु पुलेला, जूनियर बैडमिंटन स्टार
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना