आदेश / परिवार समृद्धि योजना के तहत पात्र परिवारों का डाटा 15 मार्च तक करें अपलोड: सीएम

मुख्यालय स्तर पर योजना की निगरानी के लिए अलग से डैशबोर्ड सृजित किया जाएगा । मुख्यालय स्तर पर योजना की निगरानी के लिए अलग से डैशबोर्ड सृजित किया जाएगा ।
X
मुख्यालय स्तर पर योजना की निगरानी के लिए अलग से डैशबोर्ड सृजित किया जाएगा ।मुख्यालय स्तर पर योजना की निगरानी के लिए अलग से डैशबोर्ड सृजित किया जाएगा ।

  • 2000 रुपए की आखिरी किस्त 31 मार्च से पहले, सभी सीमाओं की होगी मैपिंग
  • 15 जिलों के 5-5 गांवों के राजस्व रिकार्ड के मैनुअल मानचित्रों को डिजिटल किया जाएगा

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2020, 07:21 AM IST

चंडीगढ़. सीएम मनोहर लाल ने सभी डीसी को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत पात्र परिवारों का डाटा 15 मार्च तक अपलोड करवाना सुचिश्चित करें ताकि सरकार की तरफ से दी जाने वाली 6000 रुपए की वार्षिक सहायता की 2000 रुपए की अंतिम किस्त 31 मार्च से पहले लाभपात्रों के बैंक खातों में डाली जा सके।

इस योजना के तहत 2000 रुपए (4000 रुपए) की पहली दो किस्तों के भुगतान की प्रक्रिया इस साल 7 फरवरी से शुरू हो चुकी है। सीएम शुक्रवार को राज्य के सभी मंडल आयुक्तों, उपायुक्तों और नगर आयुक्तों के साथ बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के लिए अब तक 2 लाख 15 हजार परिवारों व परिवार पहचान पत्र के तहत लगभग तीन लाख परिवारों का डाटा पंजीकृत हो चुका है। बैठक में इस बात की भी जानकारी दी गई कि मुख्यालय स्तर पर इनकी निगरानी के लिए अलग से डैशबोर्ड सृजित किया जाएगा और इसका लिंक जिला उपायुक्तों को उपलब्ध करवाया जाएगा।

सीएम ने सभी डीसी को आदेश दिए हैं  कि वे विशेष कैंपों का आयोजन करें और लोगों को इन योजनाओं के लाभ के बारे में जागरूक करें ताकि लोग अपने परिवारों का पंजीकरण करवाने के प्रति प्रेरित हों। गांवों से लाल डोरा खत्म करने की योजना के तहत पहले चरण में 15 जिलों के पांच-पांच गांवों अर्थात 75 गांवों के राजस्व रिकार्ड के मैनुअल मानचित्रों को डिजिटल रूप में तैयार किया जाएगा।

इसके अलावा, करनाल, जींद व सोनीपत शहरों में भी यह कार्य किया जा रहा है। राज्य की समस्त सीमा की मैपिंग की जाएगी और प्रदेश की एक-एक ईंच भूमि की जानकारी डिजिटलाइजेशन रूप से उपलब्ध होनी चाहिए।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना