Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Gender Investigation Or Determination Racket Busted

ऐसे होती थी लिंग की जांच, एजेंट महिला 20 में करती थी सौदा, डॉ. का तय था कमीशन

ऐसे होती थी लिंग की जांच, एजेंट महिला 20 में करती थी सौदा, डॉ. का तय था कमीशन

vikas sharma | Last Modified - Dec 04, 2017, 10:33 AM IST

फतेहगढ़ साहिब. पंजाब के जिला फतेहगढ़ साहिब में कस्बा खेड़ी नोध सिंह में सेहत विभाग टीम ने नीलम नर्सिंग होम पर छापेमारी कर एजेंट महिला को हिरासत में लिया है। जांच में सामने आया है कि यहां पर 20 हजार रुपए लेकर लिंग परीक्षण किया जाता था और इसमें से 8 हजार रुपए डॉक्टर को भी दिए जाते थे। टीम ने नर्सिंग होम पर छापेमारी कर अल्ट्रा साउंड मशीन को सील कर आगे की जांच शुरू कर दी है।

- जानकारी के मुताबिक, पकड़ी गई एजेंट महिला ने माना की वह नर्सिंग होम में टेस्ट करवाने के लिए मरीज लेकर आती थी। यहां टेस्ट के बदले में उसने मरीज से 20 हजार रुपए लिए थे और उसमें से डॉक्टर को 8 हजार रुपए दिए। वहीं, स्केन सेंटर के डॉ. अवतार सिंह मेहराने इन सभी आरोपों को नकारते हुए कहा कि उनके सेंटर में कोई लिंग टेस्ट नहीं होता, उनके नर्सिंग होम को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।


- बताया जा रहा है कि अंबाला की सेहत विभाग की टीम को शिकायत मिली थी कि यहां पर लिंग जांच की जाती है। इसके बाद विभाग ने एक प्रेग्नेंट महिला को भेजकर कथित तौर पर लिंग टेस्ट किए जाने को लेकर यहां के नीलम नर्सिंग होम पर रेड की और जांच में मामला कथित तौर पर किए लिंग टेस्ट का पाया गया।


- अंबाला टीम के साथ आए एनडीपीसी के नोडल अफसर डॉ. विपन भंडारी ने कहा कि विभाग को गुप्त सूचना थी कि कुछ लोग कथित तौर पर लिंग टेस्ट करवाने का काम करते हैं। कहां करते है यह जानकारी विभाग को नहीं थी, जिसके लिए हमने अपने इन्फॉर्मर को उक्त लोगों से कॉन्टैक्ट करने के लिए कहा। इसके बाद हमने एक प्रेग्नेंट महिला को तैयार कर उनके पास भेजा जिन्होंने उसे 25 हजार लेकर अंबाला में मिलने को कहा, जिसके बाद उसे पटियाला होते हुए जिला फतेहगढ़ साहिब के खेड़ी नोध सिंह नीलम नर्सिंग होम में लाया गया, जहां महिला का लिंग जांच करवाया गया।

एजेंट महिला से 12 हजार रुपए बरामद...


जांच के बाद जैसे ही प्रेग्नेंट महिला और एजेंट महिला बहार निकले तो हमारे साथ आई हरियाणा पुलिस की मदद से उन्हें काबू कर लिया। इस दौरान एजेंट महिला से 12 हजार रुपए भी बरामद किया गए। इसके बाद स्थानीय सेहत विभाग की टीम को बुलाया गया है। सेंटर की जांच चल रही है और जांच में पाया गया है कि प्रेग्नेंट महिला का टेस्ट हुआ है। बिना किसी कागजी कार्रवाई के नर्सिंग होम के किसी भी रिकॉर्ड में मरीज का कोई नाम या रिकॉर्ड नहीं है। नर्सिंग होम पर पीएनडीटी की धाराओं के तहत मामला दर्ज हो सकता है। इसमें आरोप तय होने पर एक लाख तक का जुर्माना और पांच वर्ष की सजा हो सकती है।

डॉक्टर ने सभी आरोपों को नकारा...


उधर, मौके पर पहुंची स्थानीय सेहत विभाग की एसएमओ डॉक्टर रश्मि से जब बात की गई तो उनका कहना था कि हमें सूचना मिली थी हरियाणा की टीम ने छापा मारा है। किसी मरीज का टेस्ट हुआ है, जब हम यहां पहुंचे तो नर्सिंग होम बंद था डॉक्टर भी यहां मौजूद नहीं थे, जिन्हें मेरे फोन से बुलाया गया और डॉक्टर से टेस्ट संबंधी पूछा तो उन्होंने सभी आरोपों को गलत बताया। जब सीसीटीवी चेक किया तो देखा की मरीज यहां आया है और अल्ट्रा साउंड कमरे में गया है, पर मरीज का फॉर्म नहीं भरा गया है।

आगे की स्लाइड्स में देखें तस्वीरें...

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: aise hoti thi linga ki jaanch, mahila dlaal 20 hazaar mein karti thi saudaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×