• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Ambikapur
  • पेंट घाट में बह गई थी 49 लाख की सड़क, 50 गांवों के लोग थे परेशान, सीएम ने दी फिर मंजूरी
--Advertisement--

पेंट घाट में बह गई थी 49 लाख की सड़क, 50 गांवों के लोग थे परेशान, सीएम ने दी फिर मंजूरी

भास्कर संवाददाता|मैनपाट/अंबिकापुर तीन दिवसीय मैनपाट महोत्सव का शुक्रवार को शुभारंभ कार्यक्रम क्षेत्र के तराई...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 02:00 AM IST
पेंट घाट में बह गई थी 49 लाख की सड़क, 50 गांवों के लोग थे परेशान, सीएम ने दी फिर मंजूरी
भास्कर संवाददाता|मैनपाट/अंबिकापुर

तीन दिवसीय मैनपाट महोत्सव का शुक्रवार को शुभारंभ कार्यक्रम क्षेत्र के तराई इलाके के दूरस्थ पचास गांवों के लिए आवागमन की समस्या दूर करने की नई उम्मीद जगा गईं। कार्यक्रम में सीएम डा. रमन सिंह ने इन गांवों को ब्लाक मुख्यालय से जोड़ने के लिए पेेंट घाट की कटिंग कर सड़क बनाने की मंजूरी दे दी।

करीब दो साल पूर्व मनरेगा सहित कई योजना से यहां 49 लाख रूपए खर्च कर चार किलोमीटर घाट की कटिंग कर कच्ची सड़क तैयार की गई थी जो पहली ही बारिश में बह गई थी। पानी निकासी के लिए नाली नहीं बनाई गई। बारिश शुरू होते पहाड़ का पानी सड़क आना शुरू हुआ और सड़क बह गई थी । इससे इन गांवों की 40 से 50 किलोमीटर दूरी बढ़ गई है। सड़क बहने के बाद लोगों को सीतापुर काराबेल, बंदना होकर मैनपाट आना-जाना पड़ रहा है। लोगों की इस समस्या को देखते हुए सीएम ने नए सिरे से घाट कटिंग कर सड़क के लिए मंजूरी दे दी। सीएम ने जैसे ही कार्यक्रम में इसकी घोषण की, लोग खुश हो गए। जनपद से लेकर लेकर बैंक, अस्पताल, थाना सभी ब्लाक मुख्यालय में हैं और लोगों को रोज आना जाना पड़ता है। छोटे-मोटे काम के लिए लोगों को सीतापुर घूमकर आना जाना करना पड़ रहा है। घाट कटिंग कर सड़क बनने से लोगों की यह दूरी कम हो जाएगी।

विधायक का तंज: मैनपाट जो आए वो पछताए और जो न आए वो भी पछताए

कार्यक्रम में क्षेत्र के कांग्रेस विधायक अमरजीत भगत ने कहा कि मैनपाट जो आए वो पछताए और और जो न आए वो भी पछताए। पर्यटन स्थल के रूप में मैनपाट की पहचान और यहां की बदहाली पर विधायक ने सीएम का इस पर ध्यान दिलाते हुए कहा कि मैनपाट अभी भी विकास से दूर है। दर्जनों गांव ऐसे हैं जो पहंुचविहीन हैं। इन गांवों में ध्यान दिया जाए ताकि कम से कम एम्बुलेंस पहंुच जाए। श्री भगत ने अपने भाषण में सीएम और उनकी प|ी श्रीमती वीणा सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि ऐसा लग रहा है जैसे शंकर, पार्वती की जोड़ी मैनपाट में पहंुची है।

काॅलेज खोलने और रेस्ट हाउस बनाने की भी घोषणा

कार्यक्रम में सीएम ने मैनपाट के लिए काॅलेज ओर रेस्ट हाउस की दो और बड़ी घोषणाएं करते हुए कहा इस साल के बजट में मैनपाट के काॅलेज के लिए फंड का प्रावधान किया जाएगा। क्षेत्र की यह जरूरत है और कोशिश रहेगी कि जल्द से जल्द काॅलेज शुरू हो जाए। मुख्यमंत्री ने रेस्ट हाउस के लिए भी घोषणा कर दी। पेंट घाट की कटिंग कर नई सड़क बनने से गांवों की दूरी कम हो जाएगी। तराई क्षेत्रों के गांवों के लोगों को ब्लाक मुख्यालय जाने के लिए 10 से 15 किमी जाना पड़ेगा।

X
पेंट घाट में बह गई थी 49 लाख की सड़क, 50 गांवों के लोग थे परेशान, सीएम ने दी फिर मंजूरी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..