Hindi News »Chhatisgarh »Ambikapur» मेडिकल काॅलेज अस्पताल में तीन नए विभाग आज जुड़ेंगे

मेडिकल काॅलेज अस्पताल में तीन नए विभाग आज जुड़ेंगे

आईसीयू, ट्रामा यूनिट व सेंट्रल पैथालाजी विभाग का गृह मंत्री करेंगे लोकार्पण, पैथालाजी में सभी जांच एक ही भवन में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:00 AM IST

आईसीयू, ट्रामा यूनिट व सेंट्रल पैथालाजी विभाग का गृह मंत्री करेंगे लोकार्पण, पैथालाजी में सभी जांच एक ही भवन में

अंबिकापुर| मेडिकल कालेज अस्पताल में बहुप्रतीक्षित आईसीयू के साथ नवनिर्मित ट्रामा यूनिट व सेंट्रल पैथालाजी विभाग रविवार से शुरू हो जाएंगे। गृह मंत्री रामसेवक पैकरा चारों विभागों का लोर्कापण करेंगे।

आईसीयू व ट्रामा यूनिट के शुरू होने से अब गंभीर मरीजों का यहीं पर बेहतर इलाज हो सकेगा। बारह-बारह बेड वाले दोनों विभागों में मरीजों को सभी अत्याधुनिक सुविधाएं मिलेगी। ट्रामा यूनिट में चौबीस घंटे डाक्टर व स्टाफ तैनात रहेंगे। इससे एक्सीडेंट में घायल मरीजों काे तुरंत इलाज मिले सकेगा। मेडिकल काॅलेज अस्पताल में पैथालाजी को छोड़कर अभी तक दोनों विभाग नहीं थे। इसके लिए अलग से कोई सेटअप नहीं था। कालेज के सेटअप के अनुसार इसके लिए पिछले तीन साल से तैयारियां चल रही थी। सबसे ज्यादा दिक्कत आईसीयू व ट्रामा यूनिट के नहीं रहने से हो रही थी। इससे रविवार से अस्पताल में गंभीर मरीजों के लिए आईसीयू की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।

किस विभाग में क्या मिलेगी सुविधा

आईसीयू में मेडिसीन व सर्जरी के छह-छह बेड

अस्पताल के आईसीयू की क्षमता 12 बेड की है। इसमें छह बेड मेडिसीन व छह बेड सर्जरी विभाग के लिए बनाए गए हैं। आईसीयू के लिए चौबीस घंटे एक डाक्टर व तीन स्टाफ नर्स की ड्यूटी रहेगी। अब तक अाईसीयू नहीं होने से गंभीर मरीजों को डाक्टर पहले रायपुर रिफर कर देते थे। अब हार्ट सहित दूसरी बीमारियों के गंभीर मरीजों काे डाक्टर आईसीयू में रखकर इलाज कर सकते हैं।

ट्राॅमा यूनिट में घायलों को मिलेगा इलाज

ट्राॅमा यूनिट में भी चौबीसों घंटे एक डाक्टर व दो नर्सिंग स्टाफ की ड्यूटी रहेगी। 12 बेड की क्षमता वाले ट्रामा यूनिट में माइनर ओटी, पोर्टेबल एक्स रे मशीन, ईसीजी सहित अन्य इमरजेंसी जांच की सुविधाएं रहेगी। इससे एक्सीडेंट सहित दूसरे हादसों में घायलों को तुरंत प्राथमिक इलाज मिलेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ambikapur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×