Hindi News »Chhatisgarh »Ambikapur» मोबाइल पर बात करते बस चला रहा था ड्राइवर, पुल से 15 फीट नीचे गिरी

मोबाइल पर बात करते बस चला रहा था ड्राइवर, पुल से 15 फीट नीचे गिरी

रविवार की सुबह एनएच में काराबेल के संकरे पुल पर यात्रियों से खचाखच भरी राजधानी बस अनियंत्रित होकर रेलिंग तोड़ते...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:00 AM IST

मोबाइल पर बात करते बस चला रहा था ड्राइवर, पुल से 15 फीट नीचे गिरी
रविवार की सुबह एनएच में काराबेल के संकरे पुल पर यात्रियों से खचाखच भरी राजधानी बस अनियंत्रित होकर रेलिंग तोड़ते हुए 15 फीट नीचे नदी में गिरने के बाद पलट गई।

हादसे में एक महिला यात्री की मौत हो गई, जबकि अन्य 16 सवार घायल हो गए। घायलों का सीतापुर सामुदायिक केंद्र व मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में इलाज चल रहा है। पांच घायलों की स्थिति गंभीर है। ड्राइविंग के दौरान चालक मोबाइल पर बात कर रहा था। इसी दौरान गड्‌ढे में बस के उछलने के बाद वह नियंत्रण खो बैठा। बस रेलिंग को तोड़कर नीचे गिर गई। हादसे के बाद ड्राइवर फरार हो गया। राजधानी बस क्रमांक सीजी 15 एबी-2755 का ड्राइवर सुबह जशपुर जिले के कासाबेल के यात्रियों को लेकर अंबिकापुर जाने के लिए निकला। यात्रियों ने बताया कि सीतापुर के आगे काराबेल के पास पहुंचा था कि उसके मोबाइल पर किसी का फोन आया। वह फोन पर बात करते हुए बस ड्राइव कर रहा था। बस की रफ्तार भी काफी ज्यादा थी। इसी दौरान काराबेल के संकरे पुल पर गड्‌ढे के कारण बस के उछलने से ड्राइवर नियंत्रण खो बैठा और बस रेलिंग को तोड़ते हुए नीचे नदी में गिर गई। घायल यात्री चीखने-चिल्लाने लगे। इधर ड्राइवर बस से कूदकर फरार हो गया। घायलों में कुद को सीतापुर और कुछ को मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर लाया गया। अंबिकापुर के ग्राम लोसगी निवासी धनेश्वरी बाई की इलाज के दौरान मौत हो गई। महिला का पति गंभीर रूप से घायल है।

हादसे में अन्य घायलों को सीतापुर में चल रहा इलाज

मनमति निवासी हरीमार, जयदेव निवासी गोबरीघाट बिलासपुर, शिवप्रसाद निवासी कुनमेरा, शिवकुमारी निवासी कुनमेरा, उमाशंकर निवासी केरजू, शिवबरन निवासी खड़ाधोवा बतौली चमरसाय निवासी पत्थलगांव, कमरहीन निवासी ग्राम कोट जद्दू निवासी खड़ादोरना, बसंती बाई निवासी धौरपुर, सुखदेव निवासी बनेशा शामिल हैं।

भास्कर संवाददाता|सीतापुर

रविवार की सुबह एनएच में काराबेल के संकरे पुल पर यात्रियों से खचाखच भरी राजधानी बस अनियंत्रित होकर रेलिंग तोड़ते हुए 15 फीट नीचे नदी में गिरने के बाद पलट गई।

हादसे में एक महिला यात्री की मौत हो गई, जबकि अन्य 16 सवार घायल हो गए। घायलों का सीतापुर सामुदायिक केंद्र व मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में इलाज चल रहा है। पांच घायलों की स्थिति गंभीर है। ड्राइविंग के दौरान चालक मोबाइल पर बात कर रहा था। इसी दौरान गड्‌ढे में बस के उछलने के बाद वह नियंत्रण खो बैठा। बस रेलिंग को तोड़कर नीचे गिर गई। हादसे के बाद ड्राइवर फरार हो गया। राजधानी बस क्रमांक सीजी 15 एबी-2755 का ड्राइवर सुबह जशपुर जिले के कासाबेल के यात्रियों को लेकर अंबिकापुर जाने के लिए निकला। यात्रियों ने बताया कि सीतापुर के आगे काराबेल के पास पहुंचा था कि उसके मोबाइल पर किसी का फोन आया। वह फोन पर बात करते हुए बस ड्राइव कर रहा था। बस की रफ्तार भी काफी ज्यादा थी। इसी दौरान काराबेल के संकरे पुल पर गड्‌ढे के कारण बस के उछलने से ड्राइवर नियंत्रण खो बैठा और बस रेलिंग को तोड़ते हुए नीचे नदी में गिर गई। घायल यात्री चीखने-चिल्लाने लगे। इधर ड्राइवर बस से कूदकर फरार हो गया। घायलों में कुद को सीतापुर और कुछ को मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर लाया गया। अंबिकापुर के ग्राम लोसगी निवासी धनेश्वरी बाई की इलाज के दौरान मौत हो गई। महिला का पति गंभीर रूप से घायल है।

नदी में नीचे रेत होने से बड़ा हादसा टला

बस पुल से करीब 15 फीट नीचे नदी में गिरी। गिरने के बाद एक बार पलटी भी। बस जहां गिरी वहां रेत थी। इससे बस को तेल झटका नहीं लगा और यात्रियों को ज्यादा चोट नहीं आई। इससे बड़ा हादसा टल गया। बताया जा रहा है कि पानी या फिर पथरीली जमीन पर गिरने के बाद नुकसान ज्यादा होता।

यात्री बोले- तेज थी बस की रफ्तार

घटना के दौरान बस रेलिंग को तोड़ते हुए पुल से नीचे गिरकर पलट गई, अच्छा हुआ कि नीचे रेत थी, पानी या चट्‌टान होती तो बड़ा हादसा हो सकता था।

लोगों की मदद से घायलों को पुलिस ने पहुंचाया अस्पताल

चीखें सुनकर आसपास के लोग पहुंचे। कुछ यात्री किसी तरह बाहर निकले। पुलिस भी पहुंच गई। बस के अंदर फंसे घायलों को पुलिस ने लोगों की मदद से बाहर निकालकर सीतापुर अस्पताल में भर्ती कराया। इस बीच एसडीएम पुष्पेंेद्र शर्मा व अन्य अधिकारी भी पहुंच गए। डॉक्टरों ने गंभीर रूप से घायल पांच यात्रियों सुखमति निवासी बनेया, उर्मिला निवासी कछार पत्थलगांव, इंदर साय निवासी लोसगी, धनेश्वरी निवासी लोसगी, लाली निवासी ग्राम बनेया व चेतन निवासी जामढ़ोढी की अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज रैफर कर दिया। इनमें धनेश्वरी की अंबिकापुर में मौत हो गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ambikapur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×