Hindi News »Chhattisgarh News »Ambikapur News» संस्कार व व्यक्तित्व विकास का केंद्र है सरस्वती शिशु मंदिर: कुलपति

संस्कार व व्यक्तित्व विकास का केंद्र है सरस्वती शिशु मंदिर: कुलपति

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:00 AM IST

देवीगंज रोड स्थित सरस्वती शिशु मंदिर हायर सेकेंडरी स्कूल के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में वार्षिक...
देवीगंज रोड स्थित सरस्वती शिशु मंदिर हायर सेकेंडरी स्कूल के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में वार्षिक सांस्कृतिक संध्या समारोह का आयोजन किया गया। इस मौके पर छात्र छात्राआें द्वारा प्रस्तुत मनमोहक कार्यक्रम ने उपस्थित लोगों का मन मोह लिया। लघुनाटिका सत्यवादी हरिशचन्द्र की प्रस्तुति ने दर्शकों की आंखें नम कर दी।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सरगुजा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रोहिणी प्रसाद थे। अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष पीआर कश्यप ने की। विशिष्ट अतिथियों में कपिलदेव नारायण पाण्डेय, बसंत कुमार, करता राम गुप्ता उपस्थित थे। अतिथियों का स्वागत विद्यालय प्राचार्य राम प्रसाद गुप्ता द्वारा किया गया। समिति के सचिव करताराम गुप्ता ने वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत कर संस्था की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। इससे पूर्व एनएसएस, स्काउट एवं गाइड के कैडेटों द्वारा मार्चपास्ट निकाला गया। मुख्य अतिथि डॉ. प्रसाद ने अपने उदबोधन में कहा सरस्वती शिशु मंदिर समाज में सुशिक्षा, संस्कार एवं व्यक्तित्व विकास के केन्द्र के रूप में प्रतिष्ठित है। यहां शिक्षा के साथ विद्या भी प्रदान की जाती है। भारतीय संस्कृति के अनुरूप आचरणयुक्त शिक्षा प्राप्त कर इस संस्था के विद्यार्थी आज विभिन्न क्षेत्रों में काम करते हुए राष्ट्र सेवा में संलग्न हैं। कार्यक्रम में अनिल सिंह मेजर, ललितेश्वर श्रीवास्तव, महेन्द्र सिंह टुटेजा, हनुमान प्रसाद अग्रवाल उपस्थित थे। संस्था के अध्यक्ष पीआर कश्यप ने आभार प्रदर्शन किया । कार्यक्रम का संचालन आयुष कुमार, रितेश तिवारी एवं मृणालिनी सिंह द्वारा किया गया।

सत्यवादी हरिशचंद्र पर आधारित नाटक का मंचन देख लोगों की आखें हुई नम

कार्यक्रम के दौरान मंच पर उपस्थित अतिथिगण।

नृत्य और नाटकों की दी शानदार प्रस्तुति

नाटछात्र छात्राआें ने सरस्वती वंदना त्रिदेवी नृत्य के साथ क्षेत्रीय लाेक नृत्य, लघुनाटिका, प्रहसन की प्रस्तृति दी। छोटे बच्चों के द्वारा राजस्थानी नृत्य, कत्थक एवं सामूहिक नृत्य से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। सत्यवादी हरीशचन्द्र, बालक ध्रुव, रक्तदान, शिवताण्डव, गंगावतरण आदि नाटक लोगों को वेहद भाए। इस मौके पर दसवीं एवं बारहवीं में प्रथम स्थान हासिल करने पर खुशबू यादव एवं कमलेश गुप्ता को पं. रेवतीरमण स्मृति पुरस्कार से उनके पुत्र अरूण कुमार मिश्र द्वारा सम्मानित कर उत्साहवर्धन किया गया।

भास्कर संवाददाता|अंबिकापुर

देवीगंज रोड स्थित सरस्वती शिशु मंदिर हायर सेकेंडरी स्कूल के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में वार्षिक सांस्कृतिक संध्या समारोह का आयोजन किया गया। इस मौके पर छात्र छात्राआें द्वारा प्रस्तुत मनमोहक कार्यक्रम ने उपस्थित लोगों का मन मोह लिया। लघुनाटिका सत्यवादी हरिशचन्द्र की प्रस्तुति ने दर्शकों की आंखें नम कर दी।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सरगुजा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रोहिणी प्रसाद थे। अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष पीआर कश्यप ने की। विशिष्ट अतिथियों में कपिलदेव नारायण पाण्डेय, बसंत कुमार, करता राम गुप्ता उपस्थित थे। अतिथियों का स्वागत विद्यालय प्राचार्य राम प्रसाद गुप्ता द्वारा किया गया। समिति के सचिव करताराम गुप्ता ने वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत कर संस्था की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। इससे पूर्व एनएसएस, स्काउट एवं गाइड के कैडेटों द्वारा मार्चपास्ट निकाला गया। मुख्य अतिथि डॉ. प्रसाद ने अपने उदबोधन में कहा सरस्वती शिशु मंदिर समाज में सुशिक्षा, संस्कार एवं व्यक्तित्व विकास के केन्द्र के रूप में प्रतिष्ठित है। यहां शिक्षा के साथ विद्या भी प्रदान की जाती है। भारतीय संस्कृति के अनुरूप आचरणयुक्त शिक्षा प्राप्त कर इस संस्था के विद्यार्थी आज विभिन्न क्षेत्रों में काम करते हुए राष्ट्र सेवा में संलग्न हैं। कार्यक्रम में अनिल सिंह मेजर, ललितेश्वर श्रीवास्तव, महेन्द्र सिंह टुटेजा, हनुमान प्रसाद अग्रवाल उपस्थित थे। संस्था के अध्यक्ष पीआर कश्यप ने आभार प्रदर्शन किया । कार्यक्रम का संचालन आयुष कुमार, रितेश तिवारी एवं मृणालिनी सिंह द्वारा किया गया।

समूह गायन में साई बाबा स्कूल रहा दूसरा

अंबिकापुर| पुलिस विभाग द्वारा आयोजित एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम पीजी कालेज में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में ‘एकल‘ एवं ‘समूह गायन‘ की प्रस्तुति हुई। इसमें श्री साई बाबा सीनियर सेकेण्डरी स्कूल को ‘समूह गायन‘ में दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। प्रतियोगिता में स्कूल के विद्यार्थी प्रांजल धुर्वे, आर्या नितिन खर्डेनवीस, जया मिश्रा, सुजाता सिंह, प्रसन्नता रवि, आर्या सिंह, हुमैरा रिजवी, अंशुप्रिया सिंह और आयुष्मान पाण्डेय शामिल थे। गायन प्रस्तुति का निर्देशन भानुशंकर झा के द्वारा किया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ambikapur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: संस्कार व व्यक्तित्व विकास का केंद्र है सरस्वती शिशु मंदिर: कुलपति
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Ambikapur

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×