• Home
  • Chhattisgarh News
  • Ambikapur News
  • मोहनपुर इलाके से नहीं निकल रहे 57 हाथी, गन्ने की फसल को कर रहे बर्बाद
--Advertisement--

मोहनपुर इलाके से नहीं निकल रहे 57 हाथी, गन्ने की फसल को कर रहे बर्बाद

भास्कर संवाददाता| अंबिकापुर सूरजपुर जिले के मोहनपुर इलाके में भटक रहे हाथी इलाके से बाहर नहीं निकल रहे हैं।...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:00 AM IST
भास्कर संवाददाता| अंबिकापुर

सूरजपुर जिले के मोहनपुर इलाके में भटक रहे हाथी इलाके से बाहर नहीं निकल रहे हैं। अलग-अलग दल के 57 हाथी यहां मिल गए हैं और घरों को तोड़ने के अलावा गन्ने की फसल को नुकसान पहंुचा रहे हैं। हफ्ते भर में हाथियों ने एक दर्जन से अधिक किसानों की कई एकड़ में लगी गन्ने को चौपट कर दिया है।

गांव के आसपास हाथियों के भटकने से लोगों को निकलना मुश्किल हो गया है। खेती किसानी के कामों के लिए ग्रामीण नहीं निकल पा रहे हैं। वन विभाग की टीम हाथियों पर निगरानी में लगाई गई है, लेकिन इसके बाद भी हाथियों को बाहर नहीं निकल पा रही है। टीम के लोगों का कहना है कि एक साथ इतने हाथियों के आने से नियंत्रण में दिक्कत आ रही है। हाथियों को खदेड़ नहीं सकते क्योंकि इससे हाथी आक्रामक हो गए तो परेशानी बढ़ेगी। कोशिश कर रहे हैं कि हाथी जिस रास्ते में जा रहे हैं उस रास्ते से उन्हें गांवों में न घुसने दिया जाए। इस इलाके में उत्पाती हाथियों के व्यवहार का पता लगा रहे वैज्ञानिक भी हाथियों का रुट समझ नहीं पा रहे हैं। हाथी कुछ दूर जाते हैं और वापस फिर लौट आते हैं। पिछले कई महीनों से यह स्थिति बनी हुई।

तैमोर पिंगला और गुरुघासीदास नेशनल पार्क

में ले जाने का अभियान भी फेल

उत्पाती हाथियों को तैमोर पिंगला अभयारण्य और गुरुघासीदास नेशनल पार्क ले जाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है लेकिन हाथी मोहनपुर इलाके से बाहर नहीं जा रहे हैं। यहां से चंदरपुर तक करीब 10 किलोमीटर घने जंगल हैं। बोझा, पाठकपुर, हरिपुर जैसे गांव इसी क्षेत्र में हैं जहां हाथियों ने पिछले दिनों में फसलों को नुकसान पहंुचाया है। चारा और पानी के पर्याप्त इंतजाम होने के कारण हाथी यहां से नहीं निकल रहे हैं। हाथियों के लिए यह इलाका होम रेंज माना जाता है।

मोहनपुर गांव में घुस गए थे हाथी, मची खलबली

इलाके में भटक रहे कई हाथी बुधवार की रात मोहनपुर गांव मंे घुस गए थे। जंगल से लगे घरों को शाम ढलने से पहले ही खाली करा दिया गया था। हाथी गांव में घूमने के बाद गन्ने के खेत में घुस गए और पूरी फसल रौंद दी। ग्रामीणों ने वन विभाग से हाथियों से सुरक्षा के लिए गांव के चारों तरफ सोलर फेसिंग कराए जाने की मांग की है। कुछ साल पूर्व सोलर फेसिंग कराई गई थी लेकिन कहीं जगह खंभें तो कहीं तार टूट गए हैं।