Hindi News »Chhatisgarh »Ambikapur» बोलेरो चुराने में बिहार के गिरोह की मदद करने वाला स्थानीय सदस्य आठ दिन बाद गिरफ्तार

बोलेरो चुराने में बिहार के गिरोह की मदद करने वाला स्थानीय सदस्य आठ दिन बाद गिरफ्तार

बौरीपारा रिंग रोड से चोरी गई दो बोलेरो के मामले में आठ दिनों बाद कोतवाली पुलिस एक और आरोपी को गिरफ्तार कर बुधवार को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 02:00 AM IST

बौरीपारा रिंग रोड से चोरी गई दो बोलेरो के मामले में आठ दिनों बाद कोतवाली पुलिस एक और आरोपी को गिरफ्तार कर बुधवार को अंबिकापुर लौट आई। दूसरा आरोपी बौरीपारा का ही रहने वाला है। उसने बोलेरो चुराने में बिहार के वाहन चोर गिरोह के सदस्य की मदद की थी। इससे मामले में पकड़े गए आरोपियों की संख्या अब दो हो गई है। बिहार के वाहन चोरी गिरोह एक सदस्य को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर एक बोलेरो को जब्त कर लिया है। दूसरी बोलेरो को जब्त करने में पुलिस को अभी सफलता नहीं मिल पाई है। आरोपियों ने दूसरी बोलेरो उत्तरप्रदेश के गाजीपुर के एक व्यक्ति को 50 हजार रुपए में बेच दी है। खरीददार भी फरार है। पुलिस ने खरीददार को गिरफ्तार कर दूसरी बोलेरो को जल्द जब्त कर लेने का दावा किया है।

पुलिस ने बताया कि दूसरा आरोपी पुरूषोत्तम पाल उर्फ छाेटू बंगाली बौरीपारा के शिकारी रोड का रहने वाला है। छोटू का मामले में गिरफ्तार किए गए पहले आरोपी बिहार के बक्सर जिला अंतर्गत ग्राम दहिवर निवासी बबलू कुमार वर्मा व चंद्रशेखर प्रसाद से पहचान है। चंद्रशेखर का भाई गांजे की तस्करी के मामले में कुछ महीनों से अंबिकापुर के सेंट्रल जेल में बंद है। चंद्रशेखर अपने भाई से अंबिकापुर मिलने आता था। इसी दौरान उसकी पहचान छोटू बंगाली से हुई थी। दोनों ने मिलकर बौरीपारा से पुलिसकर्मी व पार्षद की बोलेरो 20 फरवरी की रात चुराई थी। बोलेरो क्रमांक सीजी 15 सीएल 9880 को आरोपियों ने यहां से जाने के दौरान ही सासाराम में उत्तरप्रदेश के गाजीपुर जिले रहने वाले मोहसीन खान को 50 हजार रुपए में बेच दी थी। मोहसीन पहले से सासाराम में मौजूद था। पुलिस के पहुंचने से पहले वह बोलेरो लेकर फरार हो गया। चोरी गई दूसरी बोलेरो उसी के पास है। पुलिस उसे तलाश रही है।

पुलिस ने बताया कि छोटू बंगाली के खिलाफ कोतवाली में बैल चोरी का अपराध भी दर्ज है। 2016 में उसने बौरीपारा से बोधन उरांव के दो बैल चोरी कर लिए थे। इसके बाद फर्जी स्टांप पर बिक्री नामा बनवाकर दोनों बैलों को पत्थलगांव के रेरूमा मवेशी बाजार में 8 हजार रुपए में बेच दिया था। उक्त मामले में भी उसकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी।

रास्ते में मोबाइल पर बात कर बोलेरो का किया सौदा

पुलिस ने बताया कि अंबिकापुर से चोरी गई एक बोलेरो को चंद्रशेखर व दूसरी बोलेरो को छोटू ड्राइव करते हुए ले गया। रास्ते में ही चंद्रशेखर ने मोबाइल पर एक बोलेरो का मोहसीन खान से 50 हजार रुपए में सौदा किया। आरोपियों ने उसे बिहार के सासाराम में बुलाया। पैसे लेने के बाद मोहसीन को बोलेरो क्रमांक सीजी 15 सीएल -9880 देकर दोनों आरोपी फरार हो गए। इसके बाद छोटू बंगाली भी चंद्रशेखर को छोड़कर चला गया। इस बीच मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस ने पहले चंद्रशेखर को पकड़ा। इसके बाद छोटू बंगाली को गिरफ्तार किया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ambikapur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: बोलेरो चुराने में बिहार के गिरोह की मदद करने वाला स्थानीय सदस्य आठ दिन बाद गिरफ्तार
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ambikapur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×