--Advertisement--

पूजा-अर्चना के बाद जगह-जगह होलिका का दहन

अंबिकापुर| होली पूर्व संध्या पर गुरुवार को शहर सहित जिले में लोगों ने पारंपरिक रूप से देर रात को होलिका का दहन...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:00 AM IST
अंबिकापुर| होली पूर्व संध्या पर गुरुवार को शहर सहित जिले में लोगों ने पारंपरिक रूप से देर रात को होलिका का दहन किया। दिन में श्रद्धालुओं ने होलिका की पूजा कर मंगलमय जीवन की कामना की। शहर में ही 50 जगहों पर सामूहिक रूप से हाेलिका का दहन हुआ। इस दौरान फाग और नगाड़े की थाप पर लोग झूमते भी रहे। होलिका दहन के लिए एक सप्ताह से ही तैयारियां चल रही थी। शहर में पैलेस के पास, दर्रीपारा, मायापुर, बौरीपारा सहित अन्य स्थानों पर सामूहिक रूप से होलिका दहन की तैयारियां लोगों द्वारा की गई थी। पैलेस के सामने जलने वाली सबसे प्राचीन होलिका की पूजार्चना करने गुरुवार की सुबह से ही लोगों की भीड़ रही। महिलाओं ने इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। पूजार्चना का दौर दिन भर चलता रहा। होलिका दहन को लेकर युवाओंं की टोली में खासा उत्साह रहा। होलिका के दौरान लोग नगाड़े की थाप पर फाग गीतों पर झूमते-गाते नजर आए। लोगों ने गुलाल-अबीर लगाकर एक-दूसरे को पर्व की बधाई दी।

सुरक्षा के लिए होलिका दहन स्थल पर तैनात रहे पुलिसकर्मी

पुलिस द्वारा सामूहिक होलिका दहन कार्यक्रम वाले जगह पर सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम किए गए हैं। गुरुवार की शाम को सभी होलिका दहन स्थल पर पुलिस बल तैनात रहे। इसको लेकर फायर ब्रिगेड विभाग को भी एलर्ट पर रखा गया था।