फैकल्टी में कमी 20 % से नीचे, अन्य कमियां भी दूर करेंगे

Ambikapur News - मेडिकल काॅलेज अंबिकापुर के अगले सत्र (फोर्थ बैच) की मान्यता के संबंध में एमसीआई (मेडिकल कौंसिल आॅफ इंडिया) ने पांच...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 06:25 AM IST
Ambikapur News - chhattisgarh news decrease in faculty below 20 will also remove other shortcomings
मेडिकल काॅलेज अंबिकापुर के अगले सत्र (फोर्थ बैच) की मान्यता के संबंध में एमसीआई (मेडिकल कौंसिल आॅफ इंडिया) ने पांच कमियों पर रिपोर्ट मांगी थी। इस पर काॅलेज प्रबंधन ने शुक्रवार को दिल्ली में एमसीआई की बोर्ड आॅफ गर्वनर की मीटिंग में अपना पक्ष रखा।

एमसीआई ने 8 अप्रैल के निरीक्षण में फैकल्टी सहित मिली पांच कमियों के संबंध में एक महीने बाद की स्थिति पर काॅलेज प्रबंधन से रिपोर्ट मांगी थी। डीएमई डाॅ. एसएल आदिले के साथ काॅलेज के डीन डाॅ. विष्णु दत्त ने अपनी तैयारियों की जानकारी दी और बताया कि एक महीने में ही काफी कमियां दूर कर ली गई हैं। अब फैकल्टी में 26 फीसदी से कमी घटकर 20 फीसदी से नीचे आ गई है। रेसीडेंस, गैलरी टाइप दो लेक्चर हाल, लाइब्रेरी इंटरनोड व नर्सिंग स्टाफ की कमी को भी उन्होंने दो महीने के भीतर दूर कर लेने का आश्वासन दिया है। प्रबंधन अपने प्रजेंटेशन व बोर्ड के सदस्यों के रुख से काॅलेज की अगले साल की मान्यता को लेकर आश्वस्त है, लेकिन अंतिम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। मई के अंतिम हफ्ते तक सभी मेडिकल काॅलेजों की लिस्ट जारी होने की संभावना है, क्योंकि नीट का रिजल्ट आने के बाद एडमिशन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

एमसीआई ने फर्स्ट विजिट में बताई थी 14 कमियां, सेकंड में सिर्फ 5 ही निकली

सत्र 19-20 की मान्यता के लिए काॅलेज का जायजा लेने एमसीआई टीम ने दिसंबर में दौरा किया था। तब टीम ने फैकल्टी, भवन सहित 14 कमियां बताई थी और इसे पूरा करने निर्देश दिए थे। इन्हीं कमियों का पता करने टीम ने 8 अप्रैल को फिर निरीक्षण किया। इस बार फिर पांच कमियां सामने आईं। इसमें फैकल्टी में 26 फीसदी की कमी, गैलरी टाइप दो लेक्चर हाल, लाइब्रेरी इंटरनोड, रेसीडेंस व स्टाफ नर्स की कमी शामिल है।

मान्यता रोकी तो सेकंड स्टेप में केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग के समक्ष होगी बैठक

डीन डाॅ. विष्णु दत्त ने बताया कि बोर्ड आॅफ गर्वनर के साथ करीब 15 मिनट बैठक हुई और 8 अप्रैल के बाद की स्थिति में मांगी गई कमियों पर अपडेट रिपोर्ट दी गई। काॅलेज प्रबंधन बिना किसी अड़ंगे के मान्यता मिलने की उम्मीद कर रहा है। यदि किन्हीं कारणों से मान्यता रोकी गई तो फिर सेकंड स्टेप में केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग के समक्ष इसकी बैठक होगी।

छह नए प्रोफेसर व 2 एसोसिएट प्रोफेसर के आने से फैकल्टी में मिली राहत

अभी हाल ही में मेडिकल काॅलेज के कई विभागों में 6 प्रोफेसर और दो एसोसिएट प्रोफेसर के पदभार ग्रहण करने से फैकल्टी की कमी 20 फीसदी से नीचे हो गई है। एमसीआई की सबसे ज्यादा आपत्ति इसी को लेकर थी। पिछले साल फैकल्टी में 30 फीसदी की कमी के बावजूद काॅलेज को एमसीआई से मान्यता मिली थी। इसके अलावा इंफ्रास्ट्रक्चर सहित अन्य कई कमियां थी।

X
Ambikapur News - chhattisgarh news decrease in faculty below 20 will also remove other shortcomings
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना