गैरेजों में खड़ी खराब हो रहीं संजीवनी व महतारी एक्सप्रेस

Ambikapur News - जिले की जीवनदायनी संजीवनी एक्सप्रेस बीमार, लोग इंतजार करते रहते हैं, लेकिन वहां पर संजीवनी नहीं पहुंच पाती है। वे...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 06:25 AM IST
Ambikapur News - chhattisgarh news sanjivani and mahatari express standing in the garage
जिले की जीवनदायनी संजीवनी एक्सप्रेस बीमार, लोग इंतजार करते रहते हैं, लेकिन वहां पर संजीवनी नहीं पहुंच पाती है। वे मेंटेनेंस के अभाव में 108 संजीवनी एक्सप्रेसगैरज व सड़कों पर खड़ी हैं।

भाजपा सरकार के शासन काल में आपातकालीन स्थिति में मरीजों को चिकित्सालय तक पहुंचाने के लिए महत्वकांक्षी जीवनदायिनी संजीवनी एक्सप्रेस 108 शुुरू की गई थी। जो अब खुद बीमार पड़ी हुई है। छत्तीसगढ़ राज्य में 25 जनवरी 2011 को भाजपा सरकार ने 108 आपातकालीन एंबुलेंस की शुरुआत की थी। इसे संजीवनी एक्सप्रेस का नाम दिया गया। पहली बार 172 वाहन छत्तीसगढ़ में आए और जिले के अनुसार इसे प्रति जिले में भेज दिया गया। कोरिया जिले में आज की स्थिति में 108 संजीवनी एक्सप्रेस की संख्या 8 है। वहीं 102 महतारी एक्सप्रेस संख्या 12 है। पर इनमें से अधिकांश वाहन कंडम होकर गैरेजों में खड़े हैं। और कुछ वाहन तो खराब होकर रास्ते में ही खड़े हुए हैं। वाहनों को सही समय में मेंटेनेंस नहीं होने की वजह से 8 से 9 साल में ही यह वाहन कबाड़ हो गए हैं। यही वजह है कि जहां-तहां वाहन खराब होकर पड़े हैं। लोग यह सोचकर फोन लगाते हैं कि समय पर संजीवनी एक्सप्रेस व महतारी एक्सप्रेस वाहन आ जाएगा। पर घंटों इंतजार करने के बाद भी नहीं पहुंचते हैं। इससे मरीजों की हालत खराब हो जाती है और विवशता से मरीजों को किसी अन्य साधनों से अस्पताल लाया जाता है।

डीएमएफ से भी मिला था एंबुलेंस पर उसका उपयोग नहीं होता मरीजों में: एक साल पहले तात्कालीन कलेक्टर नरेंद्र दुग्गा के द्वारा डीएमएफ की राशि से लगभग 60 लाख की लागत से लगभग 6 एंबुलेंस वाहन मंगाए गए थे, ताकि दूरस्थ अंचलों तक भी एंबुलेंस की सुविधा पहुंचाई जा सके और मरीजों को समय पर चिकित्सकीय सुविधा मिल सके। पर ऐसा नहीं दिख रहा है इन नए वाहन का उपयोग मरीजों के लिए न होकर अधिकारियों के लिए किया जा रहा है। वहीं पुरानी वाहन खराब होकर उपयोग विहीन होते जा रहे हैं। ऐसे में मरीजों को मिलने वाले एंबुलेंस सुविधा दम तोड़ती दिख रही है।

िजले में 108 संजीवनी एक्सप्रेस 8 व 102 महतारी एक्सप्रेस की संख्या 12 है

सरबत प्याऊ के समापन पर लस्सी व आमरस बांटा

लोगों को लस्सी व आमरस बांटते समाजसेवी।

अंबिकापुर| पूरी गर्मी लोगों को ठंडा शरबत पिलाने राम मंदिर रोड स्थित शरबत प्याऊ का गुरुवार को समापन हुआ। इसका संचालन मारवाड़ी युवा मंच द्वारा किया जा रहा था। पिछले ढाई महीने गर्मी में लोगों को राहत देने रोज अलग-अलग फ्लेवर का शरबत पिलाया गया। मंच के अध्यक्ष शुभम अग्रवाल ने बताया कि एकादशी के अवसर व प्याऊ के समापन के मौके पर ठंडी लस्सी व आमरस का वितरण किया गया। बारिश के मौसम काे देखते हुए इसका समापन किया गया। समापन अवसर पर बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।

संजीवनी एक्सप्रेस व महतारी एक्सप्रेस के ड्राइवर भी सुरक्षित नहीं, कंडम वाहनों से हो जाती है दुर्घटना

नाम न बताने की शर्त पर एक ड्राइवर ने बताया कि सारे वाहनों की स्थिति खराब है। जहां जाओ वहीं खराब हो जाते हंै। मरीजों के फोन आने पर कई बार निकलते हैं। पर रास्ते में ही वाहन खराब हो जाने के कारण वहां तक पहुंच भी नहीं पाते। कई बार तो ऐसा भी हुआ कि मरीज के साथ ही वाहन खराब हो गई। दूसरे वाहन से मरीजों को अस्पताल पहुंचाया गया। चलते गाड़ी में कई बार पहिया भी निकल गया। इससे दुर्घटना होते, बाल बाल बचे। वाहन को आपातकालीन स्थिति में तेज चलाने में डर लगता है कहीं कुछ हो न जाएं।

सिर्फ कागजों पर ही हो रहा है वाहनों का मेंटेनेंस

एंबुलेंस के मेंटेनेंस के लिए अधिकारी भी रखे हुए हैं पर अधिकारियों द्वारा इन वाहनों का मेंटेनेंस कागजों पर होना बताया जाता है। पर हकीकत यह है कि जिले की सारी आपातकालीन संजीवनी एक्सप्रेस व महतारी एक्सप्रेस की स्थिति दयनीय है। यह वाहन कहीं भी खराब होकर पड़े रहते हंै। पर अधिकारी बताते हैं कि वाहनों का मेंटेनेंस अच्छे से हो रहा है और बदले में मेंटेनेंस के नाम पर अच्छी रकम भी ली जा रही है पर जमीनी हकीकत तो कुछ और बयां कर रही है।

जिलेभर की सभी ब्लॉकों में यह समस्या है


Ambikapur News - chhattisgarh news sanjivani and mahatari express standing in the garage
X
Ambikapur News - chhattisgarh news sanjivani and mahatari express standing in the garage
Ambikapur News - chhattisgarh news sanjivani and mahatari express standing in the garage
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना