• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Anchalik
  • Nayapara Rajim News chhattisgarh news first of all in the jagannathpuri mother karma had danced to the lord since then tradition has continued

जगन्नाथपुरी में सबसे पहले मां कर्मा ने प्रभु को खिलाई थी खिचड़ी, तब से परंपरा जारी

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:00 AM IST

Anchalik News - सुहेला/हिरमी| ग्राम हिरमी में कर्मा जयंती में पहुंचे विधायक का कर्मा नृत्य कर स्वागत किया गया। कलश यात्रा में...

Nayapara Rajim News - chhattisgarh news first of all in the jagannathpuri mother karma had danced to the lord since then tradition has continued
सुहेला/हिरमी| ग्राम हिरमी में कर्मा जयंती में पहुंचे विधायक का कर्मा नृत्य कर स्वागत किया गया। कलश यात्रा में निकले समाज के लोगों को व्यापारियों ने श्रीफल भेंटकर स्वल्पाहार बांटा।

शनिवार को स्थानीय साहू समाज ने भक्त माता कर्मा राजिम जयंती का आयोजन किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि विधायक प्रमोद शर्मा ने कहा कि झांसी की पावन धरती पर आज लगभग 1000 वर्ष पहले बहुत ही सम्पन्न तेल के व्यापारी रामशाह के यहां एक सुकन्या ने जन्म लिया। पिता ने उनका नाम कर्माबाई रखा। वृद्धावस्था में माता कर्मा एक बार चलते-चलते थककर छांव में विश्राम करने लग गई, आंख लग गई, खुली तो माता कर्मा ने स्वयं को जगन्नाथपुरी में पाया। पुजारियों द्वारा दर्शन नहीं कराने पर वे दुखी हुईं, तभी आकाशवाणी हुई, कर्मा मैं प्रेम का भूखा हूं। मैं मंदिर से निकल कर आ रहा हूं। भगवान श्रीकृष्ण कर्मा के पास आए और बोले- कर्मा देवी, मुझे खिचड़ी खिलाइए। माता कर्मा भाव विभोर होकर खिचड़ी खिलाने लगी तो भक्त माता से भगवान ने कहा- हम तुम्हारी भक्ति से प्रसन्न हैं, कुछ भी वरदान मांगों। माता ने कहा मुझे कुछ नहीं चाहिए, बस आप मेरी खिचड़ी का भोग लगाया करें। मैं बहुत थक चुकी हूं, मुझे अपने चरणों में जगह दे दीजिए। इस प्रकार भगवान के चरणों में गिरकर परमधाम को प्राप्त हो गईं। तब से भगवान जगन्नाथ को नित्य प्रतिदिन खिचड़ी का भोग आज तक लग रहा है। वहीं खिचड़ी, जो महाप्रसाद कहलाती है, जो साहू समाज के लिए सबसे बड़ी सम्मान की बात है।

इस आयोजन मं उपस्थित सभी अतिथियों ने समाज की एकता और अखंडता की बात पर जोर दिया। समाज ने सभी पदाधिकारियों को श्रीफल तथा गमछा देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में स्थानीय ग्राम प्रमुख महेशिया रवि अनंत, डॉ आयाज अहमद फारूकी, अजित पांडे, लखेस साहू, परेटन साहू, रेवा राम साहू, नारायण साहू, महेंद्र साहू, राजू साहू, सुरेश साहू, प्रताप साहू, ओम प्रकाश साहू, माखन साहू, प्रकाश साहू, लव साहू, राम कुमार साहू, धर्मेंद्र साहू, शिव कुर्रे, बुद्धेश्वर स्वामी, तुलसी राम वर्मा, राम प्रसाद वर्मा सहित साहू समाज तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

हिरमी में आयोजित कर्मा जयंती में कर्मा नृत्य करते हुए कलाकार।

X
Nayapara Rajim News - chhattisgarh news first of all in the jagannathpuri mother karma had danced to the lord since then tradition has continued
COMMENT