30 जून के पहले स्कूलों में किताबें बांटें: कलेक्टर

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 06:35 AM IST

Anchalik News - बलौदाबाजार| कलेक्टर कार्तिकेय गोयल ने कहा कि नए शैक्षणिक सत्र में बच्चों के उपयोग के लिए पहुंच रही किताबों का...

Balodabazar News - chhattisgarh news share books in the first schools of june 30 collector
बलौदाबाजार| कलेक्टर कार्तिकेय गोयल ने कहा कि नए शैक्षणिक सत्र में बच्चों के उपयोग के लिए पहुंच रही किताबों का वितरण 30 जून के पहले हर हाल में हो जाना चाहिए। इस तिथि के बाद किताबें अवितरित पाई गईं तो जिम्मेदारी तय करके कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने गत दिनों यहां समय-सीमा की बैठक में नए शैक्षणिक सत्र शुरू होने के पहले स्कूल शिक्षा विभाग के काम-काज की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने मरम्मत के लिए स्वीकृत स्कूल भवनों को 20 तारीख तक अनिवार्य रूप से मरम्मत का काम पूरा करने को कहा है।

उन्होंने जिले के सभी एसडीएम, तहसीलदार एवं जिला स्तरीय अधिकारियों को आकस्मिक रूप से इनका निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। डीईओ एके भार्गव ने बताया कि इस साल से बच्चों को दिए गई पुरानी पुस्तकें उनसे वापस ली जाएंगी। ये पुस्तकें बुक बैंक योजना के अंतर्गत स्कूलों में रखी जाएंगी और उनका इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शाला गणवेश जुलाई महीने में आने की संभावना है। बैठक में जिला पंचायत सीईओ एस जयवर्धन, अपर कलेक्टर जोगेंद्र नायक सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

डीईअो एके भार्गव ने बैठक में बताया कि छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम से बच्चों में वितरण के लिए पुस्तकें आना शुरू हो गई हैं। जिले के कुल 117 संकुल केंद्रों में से 100 पर किताबें पहुंच चुकी हैं। कक्षा पहली से दसवीं तक के सभी बच्चों को मुफ्त किताबें बांटी जाती हैं। सरकारी के अलावा निजी स्कूल के बच्चों को भी मुफ्त में पुस्तकें दी जाती है। उन्होंने बताया कि जिले में 3 लाख 7 हजार बच्चों को मुफ्त पुस्तकें दी जाएंगी। इनमें 2 लाख 82 हजार हिंदी माध्यम के स्कूलों में और 25 हजार अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों के लिए हैं। कलेक्टर ने कहा कि स्कूल खुलते ही ये किताबें बच्चों में बांट दी जाए। किसी भी हालत में किताब स्टोर रूम, संकुल अथवा अन्य स्कूल में डम्प हालत में नहीं मिलने चाहिए।

कलेक्टर ने बैठक में बरसात में पहुंचविहीन हो जाने वाले स्कूलों की जानकारी भी मंगाई है। उन्होंने मरम्मत कार्य के लिए पूर्व से स्वीकृत शालाओं को अगले 20 तारीख तक मरम्मत कार्य पूरा कराने को कहा है। ईई आरईएस ने बैठक में बताया कि मरम्मत का कार्य युद्धस्तर पर जारी है। मरम्मत के लिए आने वाले नए प्रस्ताव में स्कूल भवन के निर्माण से लेकर अब तक हुए मरम्मत कार्य का इतिहास भी प्रस्तुत करने को कहा है। तभी नई स्वीकृति दी जा सकेगी। डीईअो ने बैठक में बताया कि मध्याह्न भोजन की तैयारियां भी पूरी कर ली गई हैं। चावल आदि का आवंटन मिल चुका है। कलेक्टर ने सुरक्षा घेरा वाले स्कूलों में हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के अंतर्गत पौधे लगाने के निर्देश भी दिए हैं।

X
Balodabazar News - chhattisgarh news share books in the first schools of june 30 collector
COMMENT