पेड़़ पर चढ़ा तेंदुआ, 12 घंटे फंसा रहा, शाम होते ही जंगल में भागा

Anchalik News - गरियाबंद| सोमवार सुबह करीब 8 बजे बिंद्रानवागढ़ परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम दर्रीपारा और खरता के बीच जंगल में सड़क...

Bhaskar News Network

Mar 12, 2019, 02:15 AM IST
Gariyaband News - chhattisgarh news the leopard leopard trapped for 12 hours ran in the forest as soon as possible
गरियाबंद| सोमवार सुबह करीब 8 बजे बिंद्रानवागढ़ परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम दर्रीपारा और खरता के बीच जंगल में सड़क किनारे पेड़ पर चढ़े एक तेंदुआ को देखकर ग्रामीणों में दशहत फैल गई। तेंदुआ कब आया और कब पेड़ पर चढ़ा इसे किसी ने नहीं देखा पर महुआ बीनने गए लोगों की नजर इस पर पड़ी तो उनका वे हक्का बक्का रह गए।

सभी तुरंत गांव की ओर भागे और ग्रामीणों को सतर्क किया। इसके बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन अमले को दी। अमला वहां पहुंचा पर भीड़ हटने का नाम नहीं ले रही थी, अंतत: शाम होते होते जब भीड़ छंटी तो करीब 7 बदे तेंदुआ खुद ब खुद उतरकर जंगल की ओर भाग गया। दर्रीपारा सहित आसपास के ग्रामीण बड़ी संख्या में इसे देखने यहां पहुुंच गए। ग्रामीणों को देखने के बाद भी तेंदुआ टस से मस न हुआ। कुछ देर बाद वहां वन विभाग अमला भी पहुंच गया, जिसने पेड़ को चारों ओर से घेरकर ग्रामीणो को मौके से दूर रहने की समझाइश दी परंतु ग्रामीण नहीं हटे। इसके चलते अमले को दर्रीपारा कैंप से पुलिस की बुलानी पड़ी। पुलिस ने मौके पर पहु‌ंचकर ग्रामीणों को दूर हटाया। दिनभर वन अमले और पुलिस की टीम मौके पर ही मौजूद रही। दोहपर 12 बजे एसडीओ आरसी मेश्राम भी मौके पर पहुंचे। कोई उपाय सूझता न देख उसके खुद से इतरने का इंतजार किया गया। करीब 12 घंटे बाद देर शाम 7 बजे अंधेरा होते और ग्रामीणों की संख्या कम होने के बाद तेंदुआ पेड़ से उतरा और जंगल की ओर भाग गया।

पेड़ पर 12 घंटे तक चढ़ा रहा तेंदुआ।

जंगल में तीन तेंदुए, मवेशियों को बना चुके शिकार

तेंदुआ के गांव के समीप होने की खबर से ग्रामीण दिन भर दहशत में रहे। वहां मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि सुबह सात आठ बजे के बीच इस मार्ग से लोगो को आना जाना शुरू हो जाता है। गनीमत है कि तेंदुआ ने किसी पर हमला नहीं किया। ग्रामीणों ने बताया कि जंगल में 3 तेंदुए हैं और कभी कभी गांव के नजदीक आ जाते हैं। एक दो बार छोटे मवेशियों को अपना शिकार भी बना चुके हैं।

गर्मी में पानी की तलाश में आते हैं: आरसी मेश्राम

एसडीओ आरसी मेश्राम ने बताया कि गर्मी से वन प्राणी अक्सर जंगल से बाहर नदी नालों और तालाब तक पानी के लिए आते हैं। इसलिए यह तेंदुआ गांव के करीब आया होगा। उन्होंने कहा कि अधिक संख्या में ग्रामीणों को देखकर भय से पेड़ पर चढ़ गया होगा। एसडीओ ने वन अमले को निर्देशित किया है कि ग्रामीणों को समझाइश दें कि वनोपज संग्रहण जाने वाले ग्रामीण सतर्क रहें व विभाग को सूचना दें।

X
Gariyaband News - chhattisgarh news the leopard leopard trapped for 12 hours ran in the forest as soon as possible
COMMENT