विज्ञापन

नंद के आंगन में जब गूंजी बधाई तो झूम उठे भक्त

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 02:16 AM IST

Anchalik News - बिलाईगढ़| बासउरकुली में बृजवासी संत चंद्रसागर महाराज श्रीमद्भागवत कथा का वाचन कर रहे हैं। बुधवार काे धूमधाम से...

Bilaigarh News - chhattisgarh news when the ganuji congratulates the devotees in the courtyard of nand
  • comment
बिलाईगढ़| बासउरकुली में बृजवासी संत चंद्रसागर महाराज श्रीमद्भागवत कथा का वाचन कर रहे हैं। बुधवार काे धूमधाम से श्रीकृष्ण के प्राकट्य उत्सव मनाया। भगवान नारायण नर रूप से गोकुल में प्रकट होते हैं। गोपियां बधाई देती हुई गाती हैं’ नद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की’ और बृजवासी गाते हैं’ नंद के आंगन में, बज रही आज बधाई।’सम्पूर्ण कथा पंडाल आनंदोत्सव में खड़े हो कर नित्य कर रहे थे।

महराज ने बताया कि रामकथा का द्वार शिव कथा और कृष्ण कथा का द्वार राम कथा। भागवान कृष्ण की लीला प्रेम और माधुर्य से भरी है, जबकि राम की प्रत्येक लीला में मर्यादा है, जो धर्म की मर्यादा में रहता है। इसी से भागवत में मर्यादा पुरुषोत्तम कि कथा पहले आती है और प्रेम-पुरुषोत्तम कि कथा बाद में आती है। सुखदेवजी सन्यासी महात्माओं के आचार्य हैं पर गोपियों कि प्रशंसा करते हैं। गोपियों का वस्त्र - सन्यास नहीं है, गोपियों का प्रेम- सन्यास है। वस्त्र- संन्यास से प्रेम- संन्यास श्रेष्ठ हैं। गोपियों ने घर नहीं छोड़ा है पर गोपियों के मन में घर नहीं है। गोपियों के मन में श्रीकृष्ण का स्वरूप स्थिर है। गोपियां नाक नहीं पकड़ती, प्राणायाम नहीं करती फिर भी सहज समाधि है।

बासउरकुली में श्रीकृष्ण जन्माेत्सव के दौरान झूमते भक्त लगो।

कलशा यात्रा निकाली

श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ महोत्सव के शुभारंभ पर रविवार को कलश यात्रा निकाली गइ। इसमें गणमान्य नागरिक श्यामसुन्दर पटेल, धनेश यादव, सहदेव दास, रतन पटेल, राम सिंग, कृपाल पटेल, अर्जुन दास, कामता साहू, दिलहरण पटेल, मनी पटेल, शिव पटेल, प्रेम लाल पटेल, बसवार सर, सहन दास, उमेश्वर दास, गोपाल दास आदि उपस्थित रहे।

X
Bilaigarh News - chhattisgarh news when the ganuji congratulates the devotees in the courtyard of nand
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें