--Advertisement--

तर्री ई-रिक्शा शो रूम में नौकरी का झांसा ड्रेस के लिए रकम भी ली, फिर हुई फरार

Anchalik News - तर्री ई-रिक्शा शो रूम में नौकरी का झांसा देकर ड्रेस के लिए कुम्हारपारा की सहेली स्वसहायता समूह की सात महिलाएं ठगी...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 02:50 AM IST
Nayapara Rajim News - even in the e rickshaw show room i took the money for dressing up the job then the absconding
तर्री ई-रिक्शा शो रूम में नौकरी का झांसा देकर ड्रेस के लिए कुम्हारपारा की सहेली स्वसहायता समूह की सात महिलाएं ठगी का शिकार हो गईं। साइट दिखाने के बहाने महिलाओं को बस स्टैंड बुलाकर कथित महिला साथी के साथ बाइक से फरार हो गई। अपने को ठगा जानकर महिलाओं ने थाना जाकर शिकायती आवेदन दिया है। इस संबंध में विवेचक अवध बिहारी सिंह ने बताया कि कुछ महिलाएं इस प्रकार की शिकायत लेकर आई थीं। लेकिन इस अब तक मामले में कोई भी जांच शुरू नहीं की गई है। घटना बुधवार की है।

सरकार तो रोजगार के अवसर नहीं दे पाई अलबत्ता ठगों ने बेरोजगारों से ठगी का रोजगार बना लिया। बड़े नगर-शहरों की तर्ज पर बुधवार को स्थानीय कुम्हारपारा की सहेली स्वसहायता समूह की सात महिलाओं को नगर से लगे ग्राम तर्री में ई-रिक्शा के प्रस्तावित शोरूम में कार्य करने तैयार कर लिया गया। प्रत्येक महिला को 6 हजार रुपए प्रतिमाह वेतन का प्रस्ताव, झाड़ू-पोंछा सहित अन्य कार्यों की नौकरी के दौरान रिक्शा चलाना सीखने पर महिलाओं को डिस्काउंट पर एक लाख का ई-रिक्शा 70 हजार रुपए में देने की बात भी की गई। उषा बया, चित्ररेखा विश्वकर्मा, पुष्पा चौहान, संतोषी चक्रधारी, तारिणी, द्रोपती, डिलेश्वरी चक्रधारी के पास उक्त प्रस्ताव लेकर 35 साल की ग्राम पटेवा निवासी महिला मधु सतनामी पहुंची। कथित महिला ने बड़ी ही चतुराई से अपनी बातों में उलझाते हुए सभी महिलाओं को ड्रेस के लिए एक ही तरह की साड़ी दिलवाने के लिए प्रत्येक से 200 रुपए, फोटो और आधार कार्ड की कॉपी लेकर रफूचक्कर हो गई। कथित महिला ने सभी शिकार महिलाओं को शोरूम संचालक का नाम चेतन साहू बताते हुए उससे बात भी करवाई थी।

नवापारा राजिम. ठगी की शिकार महिलाएं।

साइट दिखाने के लिए बस स्टैंड पर बुलाया लेकिन महिलाओं के पहुंचने से पहले ही भागी

प्रत्येक द्वारा 200 रुपए देने के बाद ठगी का शिकार समूह की महिलाओं के कहने पर शोरूम की साइट दिखाने उनमें से दो महिलाओं को मधु बस स्टैंड तक ले गई और वहां से झांसा देकर पहले से बुलाए अपने साथी की बाइक पर बैठ फरार हो गई। घटना के बाद उस दिन शाम को पीड़ित महिलाओं के पास किसी का फोन आया कि साड़ी आज नहीं कल मिलेगी। इस पर महिलाओं को उनकी गतिविधि संदिग्ध लगने पर वे थाने जाने की बात कही तो दूसरी तरफ से फोन काट दिया गया। घटना की तिथि के बाद से उक्त मोबाइल नंबर बंद बता रहा है। शाम को ही महिलाएं स्थानीय थाना पहुंचीं, जहां उन्होंने अपना शिकायती आवेदन देते हुए कार्रवाई की मांग की।

X
Nayapara Rajim News - even in the e rickshaw show room i took the money for dressing up the job then the absconding
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..