Hindi News »Chhatisgarh »Bacheli» दहशत से थमे बसों के पहिये, सुकमा, बीजापुर दंतेवाड़ा के अंदरूनी इलाकों में नहीं चली बसें

दहशत से थमे बसों के पहिये, सुकमा, बीजापुर दंतेवाड़ा के अंदरूनी इलाकों में नहीं चली बसें

भास्कर न्यूज | दंतेवाड़ा/किरंदुल/नारायणपुर/ बीजापुर/दोरनापाल/सुकमा नक्सलियों के दंडकारण्य और तेलंगाना बंद के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 06, 2018, 02:00 AM IST

भास्कर न्यूज | दंतेवाड़ा/किरंदुल/नारायणपुर/ बीजापुर/दोरनापाल/सुकमा

नक्सलियों के दंडकारण्य और तेलंगाना बंद के आव्हान के चलते सोमवार को जिले के अधिकांश रास्तों पर बसों की आवाजाही ठप रही। उत्तर में नारायणपुर से लेकर बीजापुर और सुकमा जिले में यात्री बस सेवा बंद रही। यात्रियों को किसी तरह ट्रक व अन्य मालवाहकों में बैठकर यात्रा करते देखा गया। नारायणपुर आेरछा मार्ग पर वाहन नहीं चले, यहां टेकानार के समीप नाली निर्माण में लगी मिक्सर मशीन को नक्सलियों ने जला दिया। किरंदुल के पंपहाउस में बंधक बनाए गए 8 लोगों को नक्सलियों ने सोमवार की सुबह रिहा कर दिया। इससे पहले रविवार की शाम उनके कैंपर वाहन को भी उन्होंने आग के हवाले कर दिया था। किरंदुल की अाेर जाने वाली एक्सप्रेस अाैर पैसेंजर ट्रेन भी जगदलपुर अाैर किरंदुल के बीच स्थगित रही।

नक्सलियों के दंडकारण्य और तेलंगाना बंद के आव्हान के चलते दंतेवाड़ा, बीजापुर, सुकमा और नारायणपुर जिला मुख्यालय तक ही यात्री बसें चल सकीं। दंतेवाड़ा से कटेकल्याण, पालनार, बारसूर से चित्रकोट की तरफ बस नहीं चलने से मुसाफिर परेशान रहे। सुकमा मार्ग पर भी अंतरराज्यीय बस सेवाएं ठप रहीं। काेंटा की तरफ बसों की आवाजाही नहीं हुई। बंद के एक दिन पहले ही रविवार को नक्सलियों द्वारा बैलाडीला इलाके में मचाए गए उत्पात और बीजापुर जिले में बसों को नुकसान पहुंचाने बस ऑपरेटरों ने जोखिम नहीं लिया। रविवार की देर शाम रायपुर की तरफ से आई यात्री बसों के ड्राइवर बैलाडीला जाने को राजी नहीं थे। पुलिस के आश्वासन के बाद 2 बसें आगे गंतव्य के लिए रवाना हुई, लेकिन कुछ बसें सवारियों समेत यहीं रूक गई, जिन्हें सुबह आगे भेजा गया।

नहीं चली पैसेंजर ट्रेन

रविवार की शाम बचेली व भांसी स्टेशन के बीच पटरी उखाड़कर मालगाड़ी गिराने की वारदात के चलते पैसेंजर और स्पेशल ट्रेन भी दक्षिण बस्तर नहीं आई। इससे विशाखापटनम और जगदलपुर की ओर जाने वाले रेल यात्रियों को अपना सफर स्थगित करना पड़ा।

संबंधित खबर पेज 14 पर

विभिन्न मार्गों पर चलने वाली यात्री बसें सोमवार को दिन भर खड़ी रहीं।

अधिकांश बसें दंतेवाड़ा स्टैंड पर खड़ीं

दहशत के चलते सोमवार को चलते अधिकांश बसें दंतेवाड़ा बस स्टैंड पर खड़ी रहीं। नक्सलियों ने फरसपाल के आगे बीजापुर जिले को जोड़ने वाली सड़क को भी कोडोली के नजदीक पेड़ गिराकर बाधित कर दिया, जिससे लोगों को तुमनार व गीदम होकर बीजापुर जाना पड़ा। सुकमा से कोंटा के लिए सोमवार को एकमात्र बस ही रवाना हुई। आगजनी के दहशत के चलते सोमवार की देर शाम जिला मुख्यालय से रायपुर के लिए रवाना हुई दो बसों को तोंगपाल में ही पुलिस ने रोक लिया। रात आठ बजे के बाद राजधानी रायपुर के लिए रवाना होने वाली महेंद्रा व पायल ट्रैवल्स की बसों को नगर से आगे बढ़ने ही नहीं दिया गया। तेलंगाना और आंध्रप्रदेश एसआरटीसी की बसों का संचालन भी सोमवार को बंद रहा।

इसलिए नक्सलियों ने किया है बंद

जगदलपुर। नक्सलियों के स्पेशल जोनल कमेटी की ने नक्सली उन्मूलन के नाम पर निर्दोषों की हत्या और भू राजस्व संहिता में संशोधन का विरोध करते हुए 5 फरवरी को एक दिवसीय बंद का आव्हान किया था। बंद से एक दिन पहले नक्सलियों ने दंतेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर जिलाें में दो यात्री बसों समेत कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। बीजापुर इलाके में तेलंगाना राज्य कमेटी भाकपा माअाेवादी की अाेर से जारी इन पर्चों में आदिवासियों की जल जंगल जमीन को छीनकर बड़े उद्योगपतियों को देने के खिलाफ आंदोलन की बात कही गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bacheli

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×