Hindi News »Chhatisgarh »Bacheli» हैलो बस्तर... हमारा कॉल सेंटर तैयार है यहां जॉब करेंगे 1000 युवक-युवतियां

हैलो बस्तर... हमारा कॉल सेंटर तैयार है यहां जॉब करेंगे 1000 युवक-युवतियां

नक्सलियों ने चार गाड़ियां जलाईं, माओवाद के गढ़ में मुठभेड़ दो जवान शहीद और पेड़ काटकर बंद किया रास्ता... आमतौर पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 12, 2018, 02:00 AM IST

हैलो बस्तर... हमारा कॉल सेंटर तैयार है यहां जॉब करेंगे 1000 युवक-युवतियां
नक्सलियों ने चार गाड़ियां जलाईं, माओवाद के गढ़ में मुठभेड़ दो जवान शहीद और पेड़ काटकर बंद किया रास्ता... आमतौर पर ऐसी ही खबरों से सुर्खियों में रहने वाला दंतेवाड़ा सृजन की ओर बढ़ रहा है। यहां के युवाओं को नई दिशा देने के लिए इंटरनेशनल स्टैंडर्ड का बीपीओ कॉल सेंटर शुरू किया जा रहा है। जावंगा के एनएमडीसी पॉलीटेक्निक कॉलेज में 1000 युवाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से वर्क यूनिट्स भी तैयार हो गईं हैं। कॅरियर मुहैया कराने के लिए ये एक ऐसी शुरुआत है जिसकी कल्पना भी कठिन थी।

पहले चरण में इस कॉल सेंटर में 150 लोग काम शुरू करेंगे। इनमें से कुछ लोगों को दो दिन की ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद भेजा गया है। जिला प्रशासन का लक्ष्य है कि 15 फरवरी से यहां काम शुरू कर दिया जाए। यानी दंतेवाड़ा के समेली, महाराकरका, बीजापुर के गंगालूर, नारायणपुर के बेनूर के ऐसे गांव जहां मोबाइल का नेटवर्क तक नहीं है, वहां के युवक देश-दुनिया की नामी कंपनियों के लिए आउटसोर्सिंग करेंगे।

150 युवा जल्द लाइव किए जाएंगे

बीपीओ का काम देख रही सिक्स जेनरेशन टेक्नोलॉजी के सीईओ राजीव यहीं डेरा जमाए हैं। उन्होंने बताया कि 10 कंपनियों ने यहां आउटसोर्सिंग के लिए रुचि दिखाई है, इनमें 2 मल्टीनेशनल हैं। पूरी कोशिश है कि 15 तारीख से 150 युवाओं को लाइव कर दिया जाएगा। जून तक 1000 युवाओं को हम ट्रेन कर देंगे। अभी 380 लोगों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। कलेक्टर सौरभ कुमार ने बताया कि ये मुश्किल जरूर था मगर हमने बता दिया है कि कुछ भी असंभव नहीं। महानगरों जैसा माहौल गांव के युवाओं को भी मिलेगा। ये तय है कि हम बेहतर करेंगे।

तीन मंजिल का होगा सेंटर...बीपीओ के ग्राउंड फ्लोर के 4 हॉल में 350 लोग काम करेंगे। दूसरी व तीसरी मंजिल पर काम चल रहा है, जो दो से तीन महीने में पूरा हो जाएगा।

नामी कंपनियों को जोड़ेंगे...जिला प्रशासन ऐसी कंपनियों के साथ करार कर रहा है, जिनकी क्लाइंट लिस्ट में नामी ब्रांड हैं। जिससे उनके आउटसोर्सिंग के काम भी यहां आएं।

15 फरवरी से काम शुरू करने का लक्ष्य, पहले चरण में 150 युवाओं को लाइव किया जाएगा

दंतेवाड़ा. बीपीओ काॅल सेंटर के लिए वर्क स्टेशन बनकर हुआ तैयार।

ऐसे गांव जहां के लोग हल्बी, गोंडी के अलावा टूटी-फूटी हिंदी ही बोलते हों, ऐसे इलाके के युवा अंग्रेजी में बात करने के लिए तैयार हो रहे हैं। पहले चरण में चुने गए युवाओं की ट्रेनिंग खत्म होने वाली है। जिला प्रशासन इनके ठहरने, खाने-पीने और ट्रेनिंग की पूरी व्यवस्था करवा रहा है। बदलाव किस तरह आ रहा है, ये तीन युवाओं के उदाहरण से समझ सकते हैं :

दस दिन के बाद आने लगा बदलाव

केस 1- बीजापुर के आवापल्ली के रमेश खाखा के पिता पापइया किसान हैं। रमेश 12वीं पास हैं। वे बताते हैं कि गांव में कॅरियर के लिए सोचता था, मगर कुछ करना संभव नहीं था। बीपीओ के बारे में सुना तो भाग्य आजमाने चला आया, चुन भी लिया गया। पहले असंभव लग रहा था, मगर 10 दिन की ट्रेनिंग के बाद अब सब समझ आ रहा है।

तारे तोड़ने जैसा ख्वाब सच हो गया

बीजापुर के भोगामगुड़ा के मनोज भोगाम के पिता नहीं हैं। 4.5 साल के मनोज को मां भी छोड़कर चली गई। परिजनों ने उसे पाला है। मनोज बताते हैं कि कॉल सेंटर की जॉब उनके लिए नई जिंदगी जैसी होगी। गांवों के लड़के या लड़की के लिए ये तारे तोड़ने जैसे सपने का सच होना ही तो है।

पूरा गांव विदा करने आया था

मनीष दंतेवाड़ा के बेहद अंदरूनी गांव समेली के रहने वाले हैं। पिता छन्नाराम खेती करते हैं। नेटवर्क कनेक्टिविटी से दूर इस गांव का युवा जब बीपीओ के लिए निकला तो पूरा गांव उसे विदा करने आया। वह क्या करने जा रहा है ये समझ तो कम लोगों को आया मगर सुनकर खुश सब थे।

इन सुविधाओं से लैस है हमारा कॉल सेंटर

हिंदी बोलने में भी दिक्कत थी, अब इंग्लिश में बात करेंगे

इंटरनेट के लिए तीन सर्विस प्रोवाइडर की लीज लाइन, जिससे बैंडविड्थ बाधित न हो।

निर्बाध बिजली के लिए 120 केवीए के 4 यूपीएस, 20 केवी के दो इनवर्टर भी।

हर वर्क यूनिट में सीसीटीवी, फायर अलार्म सिस्टम व फायर फाइटर सुविधा भी।

बीपीओ को सोलर पावर से संचालित कर ग्रीन बीपीओ बनाया जाएगा।

बीपीओ के लिए एक अलग बिजली ट्रांसफॉर्मर (200 केवी) का लगाया गया है।

कॉल सेंटर के ट्रेनिंग सेशन में हिस्सा लेते युवा।

240 वर्क यूनिट तैयार, बस की सुविधा भी

पॉलीटेक्निक के एक हिस्से में फिलहाल 240 युवाओं के लिए वर्क यूनिट तैयार है। कम्प्यूटर, फर्नीचर, एसी, साउंड प्रूफ सिस्टम, फायर अलार्म के साथ आधार से जुड़ी बायोमेट्रिक एंट्री सिस्टम भी है, जिससे कोई बाहरी यहां न आ सके। यहां किरंदुल, बचेली, बारसूर, दंतेवाड़ा के युवाओं के लिए बस रहेगी, दूर-दराज के युवाओं के लिए हॉस्टल भी है। हॉस्टल में अभी 116 लोग रहते हैं।

India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bacheli News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: हैलो बस्तर... हमारा कॉल सेंटर तैयार है यहां जॉब करेंगे 1000 युवक-युवतियां
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bacheli

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×