--Advertisement--

मरीज को नहीं मिला ब्लड तो कलेक्टर ने किया रक्तदान

दंतेवाड़ा | अनजान, लेकिन जरूरतमंद मरीजों के लिए रक्तदान कर जीवन बचाने का सकारात्मक माहौल दक्षिण बस्तर में बनने लगा...

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 02:00 AM IST
मरीज को नहीं मिला ब्लड तो कलेक्टर ने किया रक्तदान
दंतेवाड़ा | अनजान, लेकिन जरूरतमंद मरीजों के लिए रक्तदान कर जीवन बचाने का सकारात्मक माहौल दक्षिण बस्तर में बनने लगा है। रक्त की जरूरत पड़ते ही स्वयं पहुंचकर रक्तदान करने वालों में जिला कलेक्टर सौरभ कुमार भी शामिल हैं, जिन्होंने रविवार को जिला हाॅस्पिटल में रक्तदान कर एनीमिया से पीड़ित गरीब महिला मरीज की जान बचाई।

दरअसल जिला हास्पिटल में भर्ती गरीब महिला मरीज मंगली को एनीमिया के चलते तत्काल खून चढ़ाने की जरूरत थी, लेकिन जान-पहचान सीमित होने और पुरुष अटेंडर साथ नहीं होने की वजह से ओ-पॉजीटिव रक्त की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी। ब्लड बैंक के स्टॉक में इस ग्रुप का रक्त उपलब्ध भी नहीं था। एक यूजर ने सोशल मीडिया पर रक्तदान की अपील की, तो इसकी जानकारी मिलते ही कलेक्टर सौरभ कुमार स्वयं हास्पिटल पहुंच रक्तदान किया। स्थानीय पत्रकार विनोद सिंह ने भी अपने जन्मदिन को यादगार बनाते हुए महिला के लिए रक्तदान किया। कुल दो यूनिट की व्यवस्था होने से सीवियर एनीमिया से ग्रस्त महिला को नई जिंदगी मिल गई।

रक्तदान के लिए युवाओं की टीम सक्रिय : स्वस्फूर्त भाव से रक्तदान करने वाले दंतेवाड़ा में युवाओं की टीम सक्रिय है। जरूरतमंद मरीज के बारे में पता चलते ही युवा अपने साथियों और अन्य संपर्कों के जरिए रक्त की व्यवस्था कर देते हैं। गीदम, बचेली, किरंदुल, बारसूर तक से युवा अपने खर्चे पर आकर रक्तदान करते हैं। रक्तदान में सक्रिय साई सेवा समिति के रविश सुराना के मुताबिक पिछले कुछ समय से रक्तदान को लेकर जागरूकता बढ़ी है, लोग रक्तदान करने आगे आने लगे हैं, यह खुशी की बात है। जरूरतमंदों को समय पर रक्त मिल पा रहा है, लेकिन अभी भी लोगों को प्रेरित करने की जरूरत है।

X
मरीज को नहीं मिला ब्लड तो कलेक्टर ने किया रक्तदान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..