• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Bacheli News
  • नक्सलियों ने रोकी बारातियों की बस, मिन्नतों पर भी नहीं पसीजे, गाड़ी जलाई, जेवर व कपड़े नष्ट
--Advertisement--

नक्सलियों ने रोकी बारातियों की बस, मिन्नतों पर भी नहीं पसीजे, गाड़ी जलाई, जेवर व कपड़े नष्ट

माओवादियों ने एक बार फिर घटिया करतूत को अंजाम देते हुए शादी की खुशियों को मातम जैसे माहौल में बदल दिया। यहां से 40...

Dainik Bhaskar

Feb 05, 2018, 02:10 AM IST
नक्सलियों ने रोकी बारातियों की बस, मिन्नतों पर 
 भी नहीं पसीजे, गाड़ी जलाई, जेवर व कपड़े नष्ट
माओवादियों ने एक बार फिर घटिया करतूत को अंजाम देते हुए शादी की खुशियों को मातम जैसे माहौल में बदल दिया। यहां से 40 किमी दूर गोरना नाले के पास नक्सलियों ने शनिवार की रात 7.30 बजे बारातियों को बस से उतारकर आग लगा दी। घटना से बस में रखे बारातियों के जेवर और कीमती कपड़े व सामान जलकर नष्ट हो गए। सामानों में सिर्फ एक आरती की थाली बच गई क्योंकि परिवार की एक महिला उसे लेकर उतर गई थी। परिजन हाथ जोड़े खड़े रहे लेकिन नक्सली नहीं पसीजे। घटना के बाद दूल्हे की मां की तबीयत बिगड़ गई, सभी मेहमान वापस लौट गए। जबकि दूल्हा गणेश लंबाड़ी रविवार की सुबह गिनती के लोगों के साथ बोलेरो से शादी के लिए धमतरी के कुरुद गया।

भोपालपट्नम के गोल्लागुड़ा में रहने वाले लंबाड़ी परिवार का बेटा गणेश बेंगलुरू में कंप्यूटर इंजीनियर है। उसका विवाह धमतरी के कुरुद में तय हुआ था। रविवार को उसकी शादी थी। कांकेर रोडवेज की बस से शनिवार की शाम 7 बजे दूल्हे की मां दयावती लंबाड़ी, भाई जनार्दन समेत 55 बाराती धमतरी के लिए निकले। दूल्हा पीछे कार से आ रहा था। गोरना नाले के पास नक्सलियों ने बस को रोक लिया और बारातियों को तुरंत उतरने कहा। एक बाराती सावित्री लंबाड़ी बस में रखी आरती की थाली लेकर उतरने लगी और एक नक्सली को धक्का देकर किसी तरह सीढ़ी से नीचे आई। इस तरह मात्र आरती की थाली बच सकी।


बीजापुर. बारातियों की बस जिसे शनिवार की देर शाम नक्सलियों ने आग लगा दी थी।

शादी का बैनर टंगा था तब भी रोक दी बस

बैलाडीला के पंप हाउस में तोड़फोड़, डीजल लूटा और प्लांट की गाड़ी भी फूंकी

किरंदुल | बंद के दौरान बैलाडीला के विभिन्न क्षेत्र में रविवार को नक्सलियों ने उत्पात मचाया। बचेली खदान क्षेत्र में पानी की आपूर्ति करने वाले एनएमडीसी के पंप हाउस में सुबह 9 बजे सशस्त्र नक्सलियों ने तोड़फोड़ कर आगजनी की कोशिश की। पंप हाउस में रखा डीजल भी वे लूटकर ले गए। दोपहर को नक्सलियों ने किरंदुल के डिपॉजिट क्रमांक 13 में बिजली के हाई वोल्टेज टावर बना रही पीजी पावर सिस्टम लिमिटेड की जीप भी जला दी। उपनिरीक्षक हरीश कुमार साहू ने बताया कि रविवार की सुबह 40 से 50 सशस्त्र नक्सलियों ने डिपॉजिट 13 में काम कर रहे 12 मजदूरों को धमकी देते हुए भाग जाने के लिए कहा। ड्राइवर के वेंकट राव के अनुसार वे जीप को धकेलते हुए साइट से 400 मीटर दूर जंगल के पास ले गए और डीजल छिड़ककर उसमें आग लगा दी। जनवरी 2017 में नक्सलियों ने इसी जगह दो इंजीनियर व कर्मचारियों को अगवा कर उन्हें बेरहमी से पीटा था।

नक्सलियों ने शादी का बैनर भी देखा लेकिन बस को आग के हवाले कर दिया। परिजनों ने बताया कि आगजनी में परिवार की बहू कल्याणी लंबाड़ी का सोने का तीन तोले का नेकलेस समेत अन्य कई जेवर जल गए। आग से बारातियों के सूटकेस में रखे महंगे कपड़े, उनके जेवर, एक बोरा नमकीन, एक ड्रम पुलाव, दो किलो उड़द दाल, नारियल समेत अन्य सभी सामान नष्ट हो गया।


बीजापुर में नक्सलियों की हिंसक वारदात देखते हुए सभी बसों के पहिये थमे

बीजापुर/भोपालपटनम | तेलंगाना और दंडकारण्य बंद के आह्वान के साथ हिंसक वारदातों को देखते हुए बस संचालकों ने रविवार को गाड़ियों का संचालन सिर्फ जिला मुख्यालय तक ही जारी रखा। अंदरूनी इलाकों में संचालन पूरी तरह बंद कर दिया गया है। कुटरू, बेदरे, फरसेगढ़, गंगालूर व बासागुड़ा रूट पर भी बसों का संचालन दो दिनों के लिए स्थगित कर दिया गया है। भोपालपट्नम मार्ग पर भी इक्का-दुक्का टैक्सियां ही चलीं। इससे लोग 10 से 15 किमी तक पैदल चलकर आए। नक्सलियों के दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी, तेलंगाना राज्य कमेटी भाकपा (माओवादी) की ओर से 5 फरवरी को दंडकारण्य व तेलंगाना बंद की घोषणा की है। नक्सलियों ने कुछ पर्चों में भू-राजस्व संहिता संशोधन विधेयक के विरोध और माओवादी कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध की बात लिखी है।

बीजापुर. बस में रखी आरती की थाली को महिला बाराती ने उतारा।

कुछ दूर पैदल फिर ट्रैक्टर से लौटे बाराती

वारदात के बाद बाराती कुछ दूर पैदल चले उन्होंने अपने घर फोन कर घटना की जानकारी दी। तब गोल्लागुड़ा से दो ट्रैक्टर उन्हें लेने आए। जब बस में आग लगा दी गई थी, तब कार से दूल्हा पहुंचा और उसने नक्सलियों से आग बुझाने का आग्रह किया लेकिन वे नहीं माने। इस घटना से दूल्हे की मां घर जाकर बेहोश हो गई। उन्हें ब्लड प्रेशर की शिकायत है। वे दूसरे दिन बारात में शामिल नहीं हुईं।


X
नक्सलियों ने रोकी बारातियों की बस, मिन्नतों पर 
 भी नहीं पसीजे, गाड़ी जलाई, जेवर व कपड़े नष्ट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..