बचेली

  • Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Bacheli News
  • द्वादश ज्योतिर्लिंग की झांकी सजाई, आकाश में छोड़ा गया भगवान शिव के संदेश का गुब्बारा
--Advertisement--

द्वादश ज्योतिर्लिंग की झांकी सजाई, आकाश में छोड़ा गया भगवान शिव के संदेश का गुब्बारा

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के तत्वावधान में महाशिवरात्रि पर बुधवार को संस्था के भवन पावन...

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 04:10 AM IST
द्वादश ज्योतिर्लिंग की झांकी सजाई, आकाश 
 में छोड़ा गया भगवान शिव के संदेश का गुब्बारा
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के तत्वावधान में महाशिवरात्रि पर बुधवार को संस्था के भवन पावन धाम में 14 से 18 फरवरी तक बारह शिव ज्योतिर्लिंग की झांकी का आयोजन किया गया है। सुबह 8 बजे दीप प्रज्ज्वलित कर झांकी का शुभारंभ किया गया। इसमें भारत के विभिन्न स्थानों पर स्थित श्री महाकालेश्वर, ओमकारेश्वर, सोमनाथ, रामेश्वर, केदारनाथ इत्यादि द्वादश शिव ज्योतिर्लिंग की झांकी को आकर्षक रूप से सजाया गया। इस अवसर पर शिव झंडा लहराया गया एवं शिव संदेश का गुब्बारा आकाश में छोड़ा गया। सभी ने शिव ध्वज के नीचे विश्व की सुख शांति, एकता एवं जीवन में पवित्रता, ईमानदारी इत्यादि को अपनाने की प्रतिज्ञा की।

कार्यक्रम में संस्था के बस्तर संभाग की प्रभारी ब्रह्माकुमारी मंजूषा बहन ने महाशिवरात्रि के आध्यात्मिक रहस्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भारत में समय-समय पर अनेक तीज त्यौहार मनाए जाते हैं। हर त्यौहार से कुछ न कुछ विशेष प्रेरणाएं मिलती रहती हैं, जो हमारे जीवन को समर्थ बनाती है। उन सभी त्यौहारों में महाशिवरात्रि पर्व का विशेष महत्व है। इस अवसर पर संस्था से जुड़े बस्तर अंचल के भाई बहन बड़ी संख्या में शामिल हुए। द्वादश शिव ज्योतिर्लिंग की झांकी 14 से 18 फरवरी 2018 तक प्रतिदिन सुबह 8 से 11 बजे तथा शाम 5 से 8 बजे के मध्य लोगों के अवलोकनार्थ खुली रहेगी।

दूसरे दिन बुधवार को भी मनाया महाशिवरात्रि पर्व

महाशिवरात्रि पर्व पर घोषित छुट्‌टी के चलते बुधवार को दूसरे दिन भी मंदिरों और शिवालयों में भक्तों की भीड़ उमड़ी रही। मंगलवार को जहां महाशिवरात्रि होने के बाद बुधवार को अवकाश घोषित किया गया था। ऐसे में आज सरकारी मुलाजिम व अन्य ने अपने परिवार के साथ मंदिरों में पहुंचकर यहां भगवान का अभिषेक किया। बुधवार को दूसरे दिन भी महाशिवरात्रि की धूम रही। मंदिरों और शिवालयों में भक्तों की भीड़ उमड़ी रही। शिवालयों में बाबा भोलेनाथ के भजन और जयकारे गूंजते रहे।

परिवार की खुशहाली की कामना की श्रद्धालुओं ने

किरंदुल |
महाशिवरात्रि पर किरंदुल नगर में समुद्र तट से 4500 फीट की ऊचांई पर स्थित रामाबूटी में शिवलिंग की विशेष पूजा की गई|नगर में स्थित सभी शिवालयों में बड़े ही धूम-धाम व हर्षोल्लास के साथ महाशिवरात्रि का पर्व मनाया गया। लोगों ने पूजा पाठ कर घर-परिवार, समाज की कल्याण की कामना की। इस दौरान खास बात यह रही कि इस दिन रामाबूटी स्थित भगवान शिव मंदिर परिसर लोेगों के आकर्षण का केंद्र रहा।

जगदलपुर. शिव झंडा लहराकर उसमें शिव संदेश छोड़ा गया।

दंतेवाड़ा | महाशिवरात्रि पर दूसरे दिन भी शिवालयों में भक्त उमड़े। कस्बाई इलाकों से लेकर वन-पहाड़ में स्थित शिव मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहा। तिथि के अनुसार दो दिन महाशिवरात्रि पड़ने और बुधवार को दफ्तरों और शिक्षण संस्थाओं में छुट्टी होने से काफी भीड़ रही। दंतेवाड़ा के भैरमबाबा मंदिर, दन्तेश्वरी मंदिर मार्ग स्थित शिवालय, दिव्य जीवन संघ आश्रम टेकनार, गुमरगुंडा, बारसूर, समलूर, बचेली, किरंदुल, कटेकल्याण समेत सभी जगह शिवालयों में दर्शन पूजन के लिए भक्त पहुंचे। समलूर स्थित करली महादेव मंदिर के पास वार्षिक जात्रा में देवी-देवताओं ने परिक्रमा की। तुलार गुफा भी गए श्रद्धालु इंद्रावती नदी पार माड़ इलाके में स्थित तुलार गुफा तक भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे।

महाशिवरात्रि पर दूसरे दिन शिवालयों में उमड़े भक्त

सुकमा | जिला मुख्यालय के तेलावर्ती, महादेव डोंगरी समेत नगर के सभी शिवालयों में महाशिवरात्रि पर्व पर होने वाले विशेष अभिषेक-पूजन के लिए बड़ी संख्या में भक्त पहुंचे पर महाशिवरात्रि को लेकर भक्तों में भ्रम की स्थिति होने की वज़ह से अभिषेक-पूजन के लिए भक्तों को शिवालय में लंबी कतार नहीं लगानी पड़ी। डोंगरी से लेकर तेलावर्ती तक हर-हर महादेव गूंजा। जिला मुख्यालय से लगभग पांच किमी दूर गोंगला पंचायत के तेलावर्ती गांव से सटे शबरी नदी के बीचोबीच स्थित शिवलिंग का दुग्धाभिषेक व पूजन के लिए भी कई बाधाओं को पार कर भक्त पहुंचे। इस बार बीते साल की अपेक्षा महादेव डोंगरी में लगभग बीस फीसदी ही श्रद्धालु पहुंचे। बुधवार को शासकीय अवकाश भी घोषित होने की वज़ह से भी श्रद्धालु भ्रमित रहे। इस साल दो दिन महाशिवरात्रि की विशेष पूजा-अर्चना होने की बात उन्‍होंने कही। नगर के राजवाड़ा, मेन रोड, लाइन पारा समेत सभी शिवालयों में भक्त शाम तक विशेष पूजा-अर्चना के लिए पहुंचते रहे।

महाशिवरात्रि को लेकर भ्रम में रहे भक्त, शिवालयों में अभिषेक-पूजन के लिए नहीं उमड़े श्रद्धालु

X
द्वादश ज्योतिर्लिंग की झांकी सजाई, आकाश 
 में छोड़ा गया भगवान शिव के संदेश का गुब्बारा
Click to listen..