--Advertisement--

मृत बताकर रोकी पेंशन, आत्मदाह की धमकी दी

Dainik Bhaskar

Apr 15, 2018, 02:00 AM IST

Bacheli News - काेंडागांव | स्टेट बैंक के कर्मचारियों द्वारा मृत बताकर पेंशन रोकने पर बैंक के रिटायर कर्मचारी ने बैंक के अफसरों...

मृत बताकर रोकी पेंशन, आत्मदाह की धमकी दी
काेंडागांव | स्टेट बैंक के कर्मचारियों द्वारा मृत बताकर पेंशन रोकने पर बैंक के रिटायर कर्मचारी ने बैंक के अफसरों को आत्मदाह की धमकी दी है। धमकी और शिकायत के बाद स्टेट बैंक के अधिकारी इस मामले की जांच में जुट गए हैं।

बचेली की स्टेट बैंक शाखा से सेवानिवृत्ति के बाद अनिल पात्र अपने परिवार के साथ कोंडागांव में रह रहे थे। पेंशन पाने के लिए उन्होंने समय पर जरूरी दस्तावेज बैंक में जमा किए। इसके बावजूद बैंक के कर्मचारियों ने उन्हें मृत घोषित कर उनकी पेंशन रोक दी। समय पर पेंशन नहीं मिलने से नाराज अनिल पात्र जब इस मामले को लेकर बैंक के अधिकारी से मिले तो बैंक मैनेजर आशीष मिश्रा ने उन्हें ही जिम्मेदार ठहराते हुए उन्हें चेंबर से बाहर निकाल दिया। पात्र ने बताया कि बैंक के नियमानुसार उन्होंने अपना जीवित प्रमाणपत्र और पेंशन के सभी दस्तावेज नियमानुसार जमा किया, लेकिन बैंक स्टाफ ने पेंशन डिपार्टमेंट भोपाल को मुझे मृत बताकर मेरी पेंशन रोक दी। आर्थिक तंगी का सामना नहीं कर पाने के चलते ही मैंने बैंक के अफसरों को आत्मदाह की धमकी दी है। इस मामले में बैंक मैनेजर ने कहा कि ऐसा कुछ नहीं हुआ है। जो बैंक के नियम हैं उसे हमें फालो करना पड़ता है। इनकी जानकारी गलत है या नहीं, वह देखने पर पता चलेगा। चूक अगर बैंक से हुई है तो जल्द ही सुधार किया जाएगा।

विधायक ने अफसरों को दोषी बताया : विधायक मोहन मरकाम ने इस मामले में बैंक के अधिकारियों को दोषी करार दिया है। उन्होंने कहा कि अगर पेंशनर कोंडागांव में ही है और वह बैंक में आ पाने की स्थिति में नहीं है, तो भी बैंक की जवाबदेही बनती है कि वे अपने कर्मचारियों को भेजकर देख लें कि व्यक्ति जीवित है या नहीं। मगर यहां अनिल पात्र बीमार हाेने के बाद भी स्टेट बैंक जाते हैं। इसके बावजूद बैंक कर्मी उसे मृत बताकर उसकी गलत जानकारी भोपाल भेज रहे हैं। इस मामले में जिम्मेदार कर्मचारियों के खिलाफ बैंक को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

अनिल पात्र

X
मृत बताकर रोकी पेंशन, आत्मदाह की धमकी दी
Astrology

Recommended

Click to listen..