बचेली

  • Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Bacheli News
  • बाहरी भर्ती बंद हो के नारे लगा आदिवासी महासभा ने बचेली में प्लांट बंद कराया
--Advertisement--

बाहरी भर्ती बंद हो के नारे लगा आदिवासी महासभा ने बचेली में प्लांट बंद कराया

भास्कर न्यूज|बचेली/नकुलनार/किरंदुल एनएमडीसी में होने वाली नई भर्ती में स्थानीय बेरोजगारों को नौकरी देने की...

Dainik Bhaskar

Apr 20, 2018, 02:00 AM IST
बाहरी भर्ती बंद हो के नारे लगा आदिवासी महासभा ने बचेली में प्लांट बंद कराया
भास्कर न्यूज|बचेली/नकुलनार/किरंदुल

एनएमडीसी में होने वाली नई भर्ती में स्थानीय बेरोजगारों को नौकरी देने की मांग के साथ ही अन्य तीन मांंगों को लेकर अदिवासी महासभा और सीपीआई के कार्यकर्ताओं ने गुरूवार को बचेली और किरंदुल में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन किया। एनएमडीसी की कार्यप्रणाली से नाराज आदिवासी महासभा और सीपीआई के कार्यकर्ता किरंदुल, बचेली चेक पोस्ट के सामने सुबह से ही धरने पर बैठ गए। किरंदुल में जहां एनएमडीसी के कर्मचारी मजदूरों को अपने साथ में ले जाने में सफल रहे और काम सुचारू रूप से हुआ तो वहीं दूसरी ओर बचेली में मजदूर काम को लेकर प्लांट के अंदर नहीं जा पाए जिसके चलते शाम तक चलने वाली दो शिफ्टों में काम नहीं हो सका।

एनएमडीसी प्लांट में काम नहीं मिलने से नाराज चाेलनार के ग्रामीण किरंदुल में प्लांट तक जाने वाली सड़क पर लेट गए और मजदूरों को काम पर नहीं जाने की बात कहते रहे लेकिन उनकी बातों को दरकिनार कर मजदूर एनएमडीसी के अधिकारियों के साथ प्लांट में जाने में सफल रहे। इस दौरान धरना प्रदर्शन कर रहे लोगों को एनएमडीसी के गेट पर रोकते हुए सीआईएसफ के जवानों ने उन्हें धरना स्थल से हटाया। धरना में शामिल सीपीआई नेता सुदरू, के साजी, कांग्रेस के पंजामी, कामो कुंजाम सहित आदिवासी नेताओं ने कहा कि कंपनी कुछ दिनों के बाद नए कर्मचारियों की नियुक्ति करने वाली है। नियुक्ति के लिए किसी बाहरी कंपनी को इसकी जिम्मेदारी गई है। इस भर्ती में स्थानीय लोगों को नहीं लिए जाने की बात सामने आ रही है। चेक पोस्ट में कड़मपाल, दुगेली, भांसी , पडापुर, भुसारास जैसे गांव से आए ग्रामीणों के साथ धरने पर बैठे रहे। बचेली और किरंदुल के प्लांट के सामने धरना प्रदर्शन किया जा रहा है।

इसकी जानकारी मिलते ही बचेली एनमडीसी के ईडी अरुण शुक्ला भी धरना स्थल पर पहुंचे जहां उन्होंने धरना प्रदर्शन कर रहे नेताओं से बातचीत की लेकिन इसमें उन्हें सफलता नहीं मिली। इधर दूसरी ओर किरंदुल के एनएमडीसी के ईडी टीएस चेरियन से मिलकर कोई नतीजा निकालने के लिए वे बचेली चले गए जहां सीपीआई और आदिवासी महासभा के नेताओं के साथ देर शाम तक बातचीत चलती रही। इस दौरान उनके साथ एसडीएम सुभाष राज भी मौजूद थे। गौरतलब है कि धरना प्रदर्शन के दौरान ग्रामीणों ने कई बार एनएमडीसी के अधिकारियों से बहस भी हुई।

मामले को तूल पकड़ता देख एसडीएम धरना प्रदर्शन कर रहे नेताओं को समझाइश देते हुए मामले को शांत किया। इधर दूसरी ओर आदिवासी नेता कामो कुंजाम ने कहा कि किरंदुल में हमारे साथियों के साथ जबरदस्ती कर एनएमडीसी के कर्मचारी काम पर ले गए हैं जो गलत है। एसडीएम सुभासराज ने कहा कि कानून व्यवस्था न बिगड़े इसके पूरे प्रबंध किए गए हैं।

नकुलनार। बचेली में गुरुवार को चेक पोस्ट के सामने बैठे आदिवासी महासभा के नेता और कार्यकर्ता।

ये हैं चार मांगें


X
बाहरी भर्ती बंद हो के नारे लगा आदिवासी महासभा ने बचेली में प्लांट बंद कराया
Click to listen..