Hindi News »Chhatisgarh »Baikunthpur» Mohini Murder Case Chhattisgarh

शादी के 6 महीने बाद ही महिला को करने लगे थे परेशान, हत्या के बाद कुए में फेंक दी थी लाश

विवाह के कुछ दिनों बाद से ही मोहिनी को ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा प्रताडि़त किया जाने लगा।

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 09:40 AM IST

शादी के 6 महीने बाद ही महिला को करने लगे थे परेशान, हत्या के बाद कुए में फेंक दी थी लाश

कोरिया (छत्तीसगढ़)।विवाह के छह महीने के भीतर ही नवविवाहिता को प्रताडि़त कर हत्या के मामले में पुलिस एक माह बाद भी आरोपियों काे गिरफ्तार करने में नाकाम रही है। जबकि पीएम रिपोर्ट अाने के बाद पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर लिया था। इसके बाद से पुलिस आरोपियों की तलाश में है।

- मनेन्द्रगढ़ के दिनेश कुमार वर्मन की बेटी मोहिनी का विवाह 17 नवंबर 2017 को संवर्त कुमार रूप के साथ हुआ था।

- विवाह के कुछ दिनों बाद से ही मोहिनी को ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा प्रताडि़त किया जाने लगा।

- मृतका के परिजनों को 8 अप्रैल को सूचना मिली थी कि मोहिनी कुएं में गिर गई है। परिजन माैके पर पहुंचे थे। शव कुएं के बगल में ही पड़ा हुआ है।

महिला के हाथ में मिले थे कांटा चम्मच के गड़ाए गए निशान

- दिनेश कुमार वर्मन एवं उनके परिजनों का कहना है कि यदि किसी प्रकार की घटना हुई थी तो उन्हें इसकी सूचना क्यों नही दी गई।

- तब संवर्त कुमार रूप रात्रि में ही बीपी लो होने का बहाना बनाकर अस्पताल में भर्ती हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया था।

- रिपोर्ट में मृतका के शरीर में 8 से 10 स्थानों पर चोट के निशान व दोनों हाथों में कांटा चमच से गड़ाए गए निशान मिले थे।

- इसके बाद से आरोपी फरार हो गए थे। इसका एक माह हो गया है। मृतका के परिजन आरोपियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी के लिए पुलिस विभाग के आलाधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं।

- इंद्रावती वर्मन ने पुलिस अधीक्षक कोरिया को 24 अप्रैल को ज्ञापन सौंपकर अपनी बेटी मोहनी की संदिग्ध परिस्थिति में हत्या कर उसके शव को कुएं में फेंक देने के मामले में आरोपियों की गिरफ्तरी की मांग को लेकर आवेदन दिया था लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

- बताया था कि उसका दामाद प्रभावशाली व्यक्ति है। इसलिए उसकी शासन प्रशासन में अच्छी पहुंच है। वह लगातार अपराधिक मामले में दबाव बना रहा है जिससे मामले के कमजोर होने का अंदेशा बना हुआ है।

- थाना प्रभारी रविन्द्र कुमार आनंद ने बताया आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस हरसंभव प्रयास कर रही है। उनका बैंक ट्रांजेक्शन देखा जा रहा है।

- इसके अलावा उनके सभी मोबाइल नंबरों की कॉल डिटेल भी देखी जा रही है। उनका लोकेशन भी ट्रेस किया जा रहा है। जल्द ही सभी आरोपी पुलिस हिरासत में होंगे।





दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Baikunthpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×