• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Baikunthpur
  • तबादला न होने से निरंकुश हो रहे अधिकारी और कर्मचारी, कलेक्टर भी हुए लाचार
--Advertisement--

तबादला न होने से निरंकुश हो रहे अधिकारी और कर्मचारी, कलेक्टर भी हुए लाचार

Dainik Bhaskar

Apr 22, 2018, 02:00 AM IST

Baikunthpur News - जिले में मेें कई ऐसे विभाग हैं जहां लंबे समय से अधिकारी कर्मचारी जमे बैठे हैं। अधिकारी व कर्मचारियों के एक ही जगह...

तबादला न होने से निरंकुश हो रहे अधिकारी और कर्मचारी, कलेक्टर भी हुए लाचार
जिले में मेें कई ऐसे विभाग हैं जहां लंबे समय से अधिकारी कर्मचारी जमे बैठे हैं। अधिकारी व कर्मचारियों के एक ही जगह जमा रहने के कारण विभागीय कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। हैरत वाली बात तो यह है कि कई ऐसे अधिकारी कर्मचारी ऐसे हैं जो 10 वर्षों से एक ही टेबल पर जमे हैं। जिससे शासन के योजनाओं के क्रियान्वयन पर भी गंभीर लापरवाही साफ देखी जा सकती है। खासकर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, रेशम उद्योग, वन विभाग, महिला बाल विकास विभाग, शिक्षा स्वास्थ्य विभाग जैसे कई संवेदनशील विभाग हैं जहां ऐसे भी कई कर्मचारी हैं जो शुरू से ही यहीं जमे हुए हैं। कर्मचारियों को एक स्थान से हटाने में कलेक्टर नरेंद्र दुग्गा भी खुद को लाचार बता रहे हैं। उनका कहना है कि स्थानांतरण शासन स्तर रायपुर से होता है। वे इसमें कुछ भी नहीं कर सकते हैं। जबकि शासन के नियमानुसार किसी शासकीय अधिकारी कर्मचारी को तीन वर्षों से ज्यादा एक ही स्थान पर पदस्थ नहीं किया जा सकता, लेकिन ऐसा लगता है कि राज्य सरकार अपनी ही बनाई नीतियों का पालन नहीं करती। राज्य सरकार ने नई स्थानांतरण नीति तय कर दी है। स्थानांतरण 15 जून से 15 जुलाई तक होंगे। तबादले से व्यथित कर्मचारी द्वारा अपने स्थानांतरण के विरुद्ध प्रमाणों के साथ 15 दिन के भीतर शासन स्तर पर गठित वरिष्ठ सचिव समिति को आवेदन दे सकते हैं।

X
तबादला न होने से निरंकुश हो रहे अधिकारी और कर्मचारी, कलेक्टर भी हुए लाचार
Astrology

Recommended

Click to listen..