--Advertisement--

आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन न कराने वाले 29 स्कूलों को नोटिस

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 02:00 AM IST

Baikunthpur News - 31 दिन बाद भी आरटीई के तहत निजी स्कूलों बच्चों का एडमिशन कराने अभिभावक परेशान रहे, जबकि 30 अप्रैल आरटीई के तहत एडमिशन...

आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन न कराने वाले 29 स्कूलों को नोटिस
31 दिन बाद भी आरटीई के तहत निजी स्कूलों बच्चों का एडमिशन कराने अभिभावक परेशान रहे, जबकि 30 अप्रैल आरटीई के तहत एडमिशन कराने की आखिरी तारीख रही है लेकिन अप्रैल माह में 187 निजी स्कूलों का रजिस्ट्रेशन ही हो सका है। शिक्षा विभाग ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन न कराने वाले 29 निजी स्कूलों को नोटिस दिया है।

अप्रैल माह के बाद अब 1 मई से स्कूलों में गर्मी की छुटि्टयों शुरू हो गई हैं। हालांकि सरकारी स्कूलों में मध्यान्ह भोजन बच्चों को दिया जाएगा। शिक्षा विभाग के अधिकारी भी यह बताने में असमर्थ है कि पोर्टल कब से ओपन होगा। लेकिन बच्चों के अभिभावक हर रोज कंप्यूटर सेंटर पहुंचकर जानकारी लेते हैं कि पोर्टल ओपन हो रहा है या नहीं। अप्रैल महीने में शिक्षा विभाग ने यह कहकर बात को टाल दिया था कि पहले जिले के सभी निजी स्कूलों का आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन होगा। इसके बाद बच्चों के एडमिशन की प्रक्रिया शुरू होगी। अब अप्रैल महीना खत्म हो गया है और अधिकांश बच्चे गर्मी की छुटि्टयों में बाहर जाने ही तैयारी में हैं। इस स्थिति में अभिभावकों को परेशानी और बढ़ने वाली है। डेट कब से कब तक निर्धारित की जाएगी। इसकी आधिकारिक जानकारी लोगों को नहीं दी गई है। जिससे उम्मीद है कि एडमिशन की तारीख हर हाल में बढ़ाई जाएगी।

एक महीने में 216 में से 187 स्कूलों का आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन होने के बाद भी पोर्टल ओपन नहीं हो रहा है। जिले में करीब 1148 बच्चों को आरटीई के तहत प्रवेश दिया जाना है। इसके लिए 47 नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। इनका भी आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन कर दिया गया है। वर्तमान में जिले के 187 आॅनलाइन रजिस्टर्ड निजी स्कूलों में आरटीई के तहत 1148 बच्चों को प्रवेश देना है लेकिन पोर्टल नहीं खुलने के कारण प्रवेश प्रक्रिया शुरू नहीं हो सकी। अब एडमिशन कब से शुरू होंगे ये भी बता पा रहे हैं कि एडमिशन कब से शुरू होंगे।

आरटीई के तहत 31 दिन बाद भी आॅनलाइन एडमिशन लेने वेब पोर्टल नहीं खुला, लोग कंप्यूटर सेंटरों के लगा रहे चक्कर

अप्रैल के महीने में होना था आरटीई के एडमिशन

छोटे स्कूलों की रुचि ज्यादा

आटीई के तहत एडमिशन देने के पक्ष में जिले के बड़े निजी स्कूलों के प्रबंधन नहीं होते है। दूसरी ओर अप्रैल माह खत्म होने के बाद वेब पोर्टल नहीं खुलने से उन्हें फायदा ही है। वे सीटों को लम्बे समय तक खाली रखना नहीं चाहते है। दूसरी ओर छोटे निजी स्कूल सीटें भरने के लालच में एडमिशन दे देते हैं।

नोटिस जारी करके रजिस्ट्रेशन कराने का कहा

डीईओ राकेश पांडेय ने बताया कि जिले के 187 निजी स्कूलों का आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन हुआ है। बचे हुए 29 निजी स्कूलों को नोटिस जारी कर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने के निर्देश दिए गए हैं। यदि नहीं कराते कार्रवाई की जाएगी।

रोज होती हैं कंप्यूटर की जांच

आरटीई के तहत अबतक वेब पोर्टल जनरेट नहीं हो सका है। हर दिन कार्य दिवस पर कंप्यूटर में जांच की जा रही है लेकिन राज्य शासन से ही पोर्टल अपडेट नहीं हो रहा है। अप्रैल महीने में 187 निजी स्कूलों ने आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन करा लिया है। बचे हुए जिन स्कूलों ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है उन्हें नोटिस जारी कर दिया गया है।

X
आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन न कराने वाले 29 स्कूलों को नोटिस
Astrology

Recommended

Click to listen..