• Home
  • Chhattisgarh News
  • Baikunthpur
  • आरबीआई से नहीं मिले पर्याप्त नोट, चौथे दिन भी एटीएम ड्राई, बैंकों में लंबी लाइन में लगे लोग
--Advertisement--

आरबीआई से नहीं मिले पर्याप्त नोट, चौथे दिन भी एटीएम ड्राई, बैंकों में लंबी लाइन में लगे लोग

तीन दिन की छुटटी के बाद जब बैंकों में अन्य दिनों की तरह काम शुरू हुआ,तो लोगों को लगा की अब एटीएम से रुपए निकलेंगे,...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:00 AM IST
तीन दिन की छुटटी के बाद जब बैंकों में अन्य दिनों की तरह काम शुरू हुआ,तो लोगों को लगा की अब एटीएम से रुपए निकलेंगे, लेकिन चौथे दिन एेसा नहीं हुआ है। जिले के सभी एटीएम बंद रहे। लोग एक के बाद एक एटीएम तक चक्कर लगाते रहे। जबकि जिले में निजी और सरकारी मिलाकर 70 एटीएम है। सभी कैशलेस रहे।

नोट बंदी के बाद पिछले साल 2017-18 में अप्रैल व मई के महीने में इसी तरह के हालात बने थे। जब एटीएम से लोेगों को रुपए नहीं मिल रहे थे। जिला करेंसी क्राइसेस के दौर से गुजर रहा था। अब नोट बंदी के दूसरे साल वहीं बनी है। एेसे हालात कब तक रहेंंगे। इस सवाल का जवाब किसी भी बैंक अधिकारी के पास नहीं है। आश्वासन देते हंै कि कुछ दिनों में स्थिति सामान्य हो जाएगी, लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि लोग जरूरी काम के लिए परेशान हो रहे हंै। अब लोगों की सोच यह बन रही है कि बैंक में रुपए रखने से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो क्यों ना जरूरत के हिसाब से कैश घर में रखा जाए। जिले की चेस्ट ब्रांचों को भी आरबीआई से कैश नहीं मिल रहा है। इससे परेशानी बढ़ गई।

बैंकों के अफसर नहीं दे पा रहे वाजिब जानकारी, ग्राहकों को नोट नहीं केवल मिल रहा आश्वासन

जिस एटीएम में गिने-चुने लोग पहंुचते थे आज वहां भी भीड़ दिखी।

गृहणियांे ने कहा- कैश नहीं होने के कारण बाजार से खरीदी भी बंद

बैंकों के अफसरों का कहना है कि करेंसी शार्टेज होने के कारण इस तरह की दिक्कत आ रही है। 1 मई से एसईसीएल व सरकारी अधिकारी व कर्मचारियों की सेलरी भी खाते में आ गई है। गृहणियों का कहना है रोजमर्रा की जरूरतों के लिए बाजार से कैश में ही खरीदी करती हैं। पर कैश नहीं होने से परेशानी है।

जिले के सभी 70 एटीएम चार दिन से खाली, बैंकों के बाहर लंबी लाइनें

जिले में सरकारी और निजी बैंकोें के 70 एटीएम संचालित हैं 100 फीसदी एटीएम बीते 4 दिनों ड्राय पड़े है। सोमवार को भी लोग परेशान रहे लेकिन इस बीच बैंकों से रुपए लेने लाइन लगी रही। बता दें कि बीते तीन महीने से लगातार करंेसी शार्टेज होने के कारण परेशानी बनी हुई है। इससे उपभोक्ता परेशान हो रहे हैं।

तीन दिन की छुट्‌टी के बाद सोमवार को भी राहत नहीं

1 मई को अधिकांश बैंकों में मंथली वेतन जमा हो जाता है। कोरिया जिला काॅलरी क्षेत्र होने के कारण यहां 1 तारीख से वेतन श्रमिकों के खाते में जमा होने लगते हंै। एेसे में वे जरूरी काम के लिए एटीएम के माध्यम से रुपए निकालते हैं। गौरतलब है कि तीन दिन की छुटटी होने के कारण बैंकों के पास कैश की कमी रही है। क्लोजिंग वाले दिन जितनी रकम बैंकों में जमा हुई थी उसी रकम से बैंक सोमवार को ओपन हुआ है। मतबल सोमवार को जिले के एक भी एटीएम में कैश डिपोजिट नहीं किया जा सका है। कैश निकालने के लिए लोग एक से दूसरे एटीएम में भटकते रहते हैं।

एसईसीएल में मंथली पेमेंट होना इस लिए मिली है थोड़ी करेंसी

एसबीआई बैंक मैनेजर मेहता ने बताया कि एसईसीएल में मंथली पेमेंट को देखते हुए आरबीआई ने कुछ करेंसी अभी भेजा है लेकिन अभी भी कमी बना हुआ है और एटीएम में करेंसी डिपोजिट करने का काम शुरू कर दिया गया है। वहीं पर्याप्त करेंसी के बिना परेशानी कम नहीं होगी।